पंजाब

hindi news portal lucknow

पंजाब आप में भूचाल ; भगवंत मान व अरोड़ा का इस्‍तीफा, 15 MLA ने की बगावत

16 Mar 2018 [ स.ऊ.संवाददाता ]

चंडीगढ़। दिल्ली के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा ड्रग्स तस्‍करी के आरोप लगाए जाने के बाद पूर्व मंत्री विक्रम मजीठिया से लिखित माफी मांगने से आम आदमी पार्टी में में भूचाल आ गया है। पार्टी की पंजाब इकाई ने खुली बगावत कर दी है। अाप के 15 विधायकों ने केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी के प्रदेश प्रधान भगवंत मान ने अपने पद से इस्तीफे का ऐलान किया, ताे उसके बाद उपप्रधान अमन अरोड़ा ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है।

दूसरी ओर, आप विधायकों ने अगल रास्‍ता अख्तियार करने के संकेत दिए हैं। बताया जाता है कि अाप विधायक दल की बैठक में आप की राष्‍ट्रीय इकाई से नाता तोड़ने की बात उठी है। उधर, बैंस ब्रदर्स ने भी अपनी पार्टी का आप से नाता तोड़ लिया है। अाप के 15 विधायकों ने केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। विधायकों का यह गुट सांसद धर्मवीर गांधी व पूर्व संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर को साथ पंजाब में आम आदमी पार्टी के 20 विधायक हैं और आज आप विधायक दल की बैठक चंडीगढ़ में हो रही है। पहले दौर की बैठक में केजरीवाल के माफी मांगने की निंदा की गई। सूत्रों का कहना है कि बैठक में राष्‍ट्रीय इकाई से पूरी तरह नाता तोड़ने और अलग राह पर चलने की बात थी उठी। इस पर अब शाम में होनेवाली दूसरे चरण की बैठक में चर्चा होगी और कोई फैसला‍ किया जा सकता है। बैठक में आप विधायक दल के नेता सुखपाल सिंह खैहरा के तेवर सबसे अधिक तीखे थे।

भगवंत मान ने पंजाब आप के प्रधान पद से इस्‍तीफा दिया

आप नेताओं ने दिए संकेत, अब पंजाब में केजरीवाल की नहीं चलेगी

यह भी पढ़ें

पंजाब आप के प्रधान भगवंत मान ने आज पार्टी के अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा देने का ऐलान किया। उन्‍होंने इस सबंध मेें ट्वीट किया। उन्‍होंने ट्वीट किया में लिखा है, ' मैं पंजाब आप के अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा दे रहा हूं। ...लेकिन ड्रग माफिया और सभी तरह के भ्रष्‍टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी। मेरी यह लड़ाई पंजाब के 'आम आदमी' के तौर पर जारी रहेगी। ' खुद को पंजाब का आम आदमी बताकर उन्‍होंने एक तरह से आम आदमी पार्टी छाेड़ने का भी संकेत दे दिया। पार्टी के उपप्रधान व सुनाम के विधायक अमन अरोड़ा ने भी पद से इस्तीफा दे दिया है। अरोड़ा ने ट्विटर के जरिये यह जानकारी सांझा की है।

इससे पहले आप के नेताओं सुखपाल खैहरा, प्रदेश उपाध्यक्ष अमन अरोड़ा व वरिष्ठ नेता कंवर संधू ने कहा कि केजरीवाल ने उनसे सलाह-मशविरा किए बिना ही यह मदम उठाया है। इससे न केवल पार्टी की प्रतिष्ठा को धक्का लगा है बल्कि नशे के खिलाफ लड़ी जा रही लड़ाई को भी आघात पहुंचेगा। खैहरा व संधू ने ट्वीट किया है कि अरविंद केजरीवाल द्वारा मांगी गई माफी से हम बहुत हैरान हैं और हमें यह कबूल करने में भी कोई हिचक नहीं है कि केजरीवाल ने इस मामले में माफी मांग ली है।

कंवर संधू ने आगे कहा कि वह अब भी इस मामले की जांच सीबीआई से जांच करवाने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ भी केबल माफिया ने केस किया हुआ है लेकिन वह अंत तक इस लड़ाई को पहुंचाएंगे, इसमें डरने की कोई जरूरत नहीं है।

विधानसभा में आप के उपनेता व प्रदेश उपाध्यक्ष अमन अरोड़ा ने भी कहा है कि इस मामले में उनसे कोई सलाह-मशविरा नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि विधानसभा में आज सभी विधायकों की मीटिंग सरकार के एक साल के कार्यकाल को लेकर बुलाई गई है। इसमें निश्चित रूप से केजरीवाल द्वारा मांगी गई माफी के बाद पैदा हुए हालात पर भी चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि केजरीवाल द्वारा माफी मांगने से पहले पंजाब की टीम से सलाह मशविरा किया जाना चाहिए था।

पत्रकारों से बात करते सिमरजीत सिंह बैंंस और बल‍विंदर सिंह बैंस।

शाम में लोक इंसाफ पार्टी ने आम आदमी पार्टी से नाता तोड़ने की घोषणा कर दी। सिमरजीत सिंह बैंस और बलविंदर सिंह बैंस ने यहां कहा कि अरविंद केजरीवाल ने पूरे पंजाब के साथ धोखा किया है। ऐसे में वह उनकी आम आदमी पार्टी के साथ कोई नाता नहीं रख सकते।

उल्लेखनीय है कि अरविंद केजरीवाल ने बिक्रम मजीठिया को ड्रग तस्कर बताते हुए चुनाव के दौरान उनके खिलाफ बड़ा मोर्चा खोले रखा था। यही नहीं उन्होंने अपने पार्टी के वर्करों से तो यहां तक कह दिया कि वह गांव-गांव और गली-गली में मजीठिया तस्कर है के पोस्टर लगा कर रखें।

अरविंद केजरीवाल के इस फैसले से आम आदमी पार्टी को बहुत बड़ा धक्का पहुंचा है। अब जबकि अगले हफ्ते बजट सेशन शुरू होने वाला है और आप के नेता ड्रग्स और रेत खनन के मामले को लेकर सरकार और अकाली दल को घेरने की तैयारियां कर रहे हैं। ऐसे में उनके शीर्ष नेता द्वारा माफी मांगने से पार्टी नेता बुरी तरह से पस्त हो गए हैं। खैहरा, संधू के ट्वीट से साफ है कि वे केजरीवाल के इस कदम से कतई सहमत नहीं हैं। हालांकि पार्टी नेता पहले भी यह आरोप लगाते रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल कोई भी कदम उठाने से पहले किसी से भी सलाह-मशवरा नहीं करते और इस मामले में भी उन्होंने ऐसा ही किया है।



hindi news portal lucknow

हाईकोर्ट का फैसला, हरियाणा में जाट समेत 6 जातियों के आरक्षण पर जारी रहेगी रोक

01 Sep 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा में जाटों सहित छह जातियों को पिछड़े वर्ग के तहत दिए गए आरक्षण के लाभ पर अपना फैसला सुना दिया है। हाईकोर्ट ने हरियाणा में जाट समेत 6 जातियों के आरक्षण पर लगी रोक को जारी रखा है। साथ ही हाईकोर्ट ने नेशनल बैकवर्ड कमीशन को 2018 तक रिपोर्ट देने को कहा है। यानि अब अब जाटों सहित छह जातियों को आरक्षण देने या नहीं देने का फैसला पिछड़ा वर्ग आयोग करेगा। जस्टिस एसएस सारों, जस्टिस लीजा गिल की खंडपीठ ने यह फ़ैसला सुनाया है।हरियाणा सरकार को 30 नवंबर तक बैकवर्ड कमीशन को क्वांटिफेबल डाटा उपलब्ध करवाना होगा। 31 दिसंबर तक इस डाटा को लेकर आपत्तियां दर्ज की जा सकती है तथा 31 मार्च से पहले बैकवर्ड कमीशन को जाट आरक्षण पर निर्णय लेना होगा। हाईकोर्ट में इन आदेशों के साथ ही जाटों को आरक्षण देने या ना देने का फैसला बैकवर्ड कमीशन पर छोड़ दिया है।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की गिरफ़्तारी के बाद पंचकूला में हुई हिंसा को लेकर अभी भी हरियाणा के सीएम मनोहर लाल की जमकर आलोचना हो रही है। ऐसे में खट्टर के लिए एक बार फिर इम्तहान की घड़ी आ गई है। ऐसा इसलिए भी कहा जा रहा है क्योंकि पिछले साल जाट आंदोलन के दौरान प्रदेश में भयंकर हिंसा हुई थी। इस आंदोलन में 30 लोगों की मौत हो गई थी। इतना ही नहीं जाटों की तरफ से विरोध-प्रदर्शनों के दौरान कई जगहों पर आगजनी की गई थी जिसमें अरबों रुपए की संपत्ति को बड़ा नुकसान पहुंचा था।



hindi news portal lucknow

पठानकोट के मामून में मिलिट्री स्टेशन के पास संदिग्ध बैग मिला, सर्च ऑपरेशन जारी

29 May 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पंजाब के पठानकोट के मामून में मिलिट्री स्टेशन के पास संदिग्ध बैग मिला है। इस बैग में सेना की 3 वर्दियां मिली हैं। जिसके बाद पूरे इलाके में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं सेना और स्वात टीम पूरे इलाके की तलाशी ले रही है। बता दें कि जनवरी 2016 में में पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले में 7 जवान शहीद हो गए थे।

इसी साल मार्च में इंटेलिजेंस एजेंसियों की सूचना के आधार पर पठानकोट एयरबेस पर हाई अलर्ट किया गया था और सुरक्षा भी बढ़ाई गई थी। उस दौरान एजेंसियों को आतंकियों के पठानकोट में घुसने की सिक्रेट जानकारी हाथ लगी थी। बताया गया था कि एयरबेस और मामून छावनी पर आतंकी हमले का खतरा है। इसके बाद आर्मी, एयरफोर्स, पंजाब पुलिस और हिमाचल प्रदेश पुलिस के 500 जवानों का ज्वाइंट सर्च ऑपरेशन चलाया गया था।

पिछले साल पठानकोट एयरबेस पर हुआ था हमला

बता दें कि 2 जनवरी, 2016 को 6 पाकिस्तानी आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला किया था। इसमें 7 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद 36 घंटे तक आतंकियों से मुठभेड़ होती रही थी और तीन दिन तक कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया गया था। हमले में जैश-ए-मोहम्मद का चीफ मौलाना मसूद अजहर को मास्टरमाइंड बताय गया था। उसे 1999 में कंधार प्लेन हाईजैक केस में यात्रियों की रिहाई के लिए के बदले छोड़ा गया था।



hindi news portal lucknow

नाकाम कोशिश: BSF ने गुरदासपुर में महिला पाक घुसपैठिए को मार गिराया

15 May 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

सोमवार सुबह पंजाब के गुरदासपुर मे बीएसएफ ने पाक घुसपैठिया को मार गिराया है। वो घुसपैठिया एक 60 साल की महिला थी। हालांकि आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन बताया जा रहा है कि आज सुबह तीन बजे जवान ने महिला घुसपैठियों की कोशिश नाकाम की।

गुरुदासपुर के भरियाल में जब वो महिला आईबी से 60 मीटर अंदर आ गई और आवाज देने पर नहीं रुकी तब उसपर गोली चलाई गई। इतना ही नहीं वह फेंसिंग के 20 मीटर अंदर आ गई तो हालात को देखते हुए बीएसएफ ने उसे गोली मार दी।

इन दिनों सीमा पर पाक की ओर से लगातार सीजफायर का उल्लघंन हो रहा है और घुसपैठिए लगातार सीमा पर घुसने की कोशिश कर रहे हैं। बीएसएफ की ओर से बयान आया है कि अब किसी भी तरह का कोई रिस्क लेना ठीक नहीं है। आतंकी अपनी फिराक में रहते हैं। ऐसे में हमें सतर्क रहने होते हैं।



hindi news portal lucknow

सिद्धू को ग्रीन सिग्नल: कपिल शर्मा के कॉमेडी शो में करते रहेंगे काम

24 Mar 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पंजाब के महाधिवक्ता अतुल नन्दा के अनुसार राज्य सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू लोकप्रिय टीवी कॉमेडी शो में काम करना जारी रख सकते हैं। इसमें हितों का टकराव नहीं है। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने बताया, मुख्यमंत्री ने पुष्टि की है कि इस मुद्दे पर उनको महाधिवक्ता की रिपोर्ट मिल गयी है। अब सिद्धू के टीवी शो जारी रखने को लेकर कोई बाधा नहीं है और ना ही उनके संस्कृति विभाग में परिवर्तन की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा, महाधिवक्ता की राय में इस मामले में भारतीय संविधान, लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 या आचार संहिता का कोई उल्लंघन नहीं हो रहा है। महाधिवक्ता के अनुसार सिद्धू के शो जारी रखने में किसी प्रकार की वैधानिक समस्या नहीं है।

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को कहा कि उनकी कैबिनेट के सहकर्मी नवजोत सिंह सिद्धू को टीवी कार्यक्रम करने की इजाजत मिलनी चाहिए, बशर्ते यह उनकी आय का मुख्य स्रोत हो।

मुख्यमंत्री के हवाले से एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया, उन्हें व्यक्तिगत रूप से लगता है कि सिद्धू को टीवी कार्यक्रम के जरिए कमाई जारी रख अपनी आजीविका चलाने की इजाजत मिलनी चाहिए। बशर्ते यह उनकी आय का मुख्य स्रोत हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से नहीं जानते कि हितों का कोई टकराव है जैसा कि भारत के अटॉर्नी जनरल ने कहा है। इससे पहले अमरिंदर ने कहा था कि सिद्धू के टीवी पर आते रहने से उन्हें कोई ऐतराज नहीं है। लेकिन यदि यह उनके शो से हितों का टकराव हो रहा है तो वह उनका मंत्रालय बदल देंगे। बता दें कि सिद्धू पंजाब सरकार में संस्कृति मंत्री हैं।



hindi news portal lucknow

राजभवन पहुंचे सिद्धू, अमरिंदर थोड़ी देर में लेंगे शपथ

16 Mar 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पंजाब में दस साल बाद कांग्रेस को अपने नेतृत्व में जीत दिलाने वाले अमरिंदर सिंह आज मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हुए। 11 मार्च को राज्य विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के दिन अपना 75वां जन्मदिन मनाने वाले सिंह राज्य के 26वें मुख्यमंत्री के तौर पर नौ मंत्रियों के साथ शपथ लेंगे।

शपथ ग्रहण समारोह सुबह दस बजे होगा और पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बदनौर राजभवन में सिंह और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को शपथ दिलाएंगे। राज्य में अधिकतम 18 मंत्री बनाये जा सकते हैं। विधानसभा में कांग्रेस के 77 विधायक हैं।

शपथ-ग्रहण समारोह में ये नेता होंगे शामिल

कांग्रेस ने यहां एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा, मनमोहन सिंह और राहुल गांधी के अलावा हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला तथा उनके पुत्र उमर अब्दुल्ला और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेंगे। पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदम्बरम, आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, अश्वनी कुमार, राजीव शुक्ला, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुडा, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी समारोह में मौजूद रहेंगे।

अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव अहमद पटेल और अंबिका सोनी के अलावा पंजाब मामलों की प्रभारी सचिव आशा कुमारी के भी समारोह में शामिल होने की संभावना है।

कांग्रेस ने सीएम और विधायकों से की है अपील

प्रेस रिलीज में कहा गया है कि अमरिंदर सिंह ने राज्य की खराब वित्तीय स्थिति को देखते हुये समारोह में ज्यादा खर्च नहीं करने का निर्णय लिया है जिसके चलते शपथ ग्रहण समारोह सादा होगा। मनोनीत मुख्यमंत्री ने सभी पार्टी विधायकों और अन्यों से अपील की है कि वह जश्न पर ज्यादा खर्च ना करें ताकि कर्ज से दबे राज्य के कोष पर और बोक्ष न पड़े।

सिंह ने कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता होगी कि हर संभावित कदम के जरिये राज्य की अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाया जाए। शिअद—भाजपा के शासन के दौरान राज्य की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बर्बाद हो गयी। उन्होंने कहा, जब पंजाब के लोग वित्तीय और अन्य समस्याओं से जूक्ष रहे है तो हम जश्न नहीं मनाना चाहते। उन्होंने कहा कि जब उनकी सरकार राज्य को वद्धि और विकास के रास्ते पर ले आएगी तो जश्न मनाने का पयार्प्त समय होगा।

इन नेताओं को मंत्रिमंडल में किया जा सकता है शामिल

पार्टी सूत्रों ने बताया कि नवजोत सिंह सिद्धू, मनप्रीत सिंह बादल, ब्रहम मोहिंद्र, तप्त रजिंदर सिंह बाजवा, राणा गुरजीत सिंह, परगट सिंह, रजिया सुल्ताना, ओपी सोनी समेत कई नए विधायक मंत्री बनने की दौड़ में हैं। पंजाब में दस वर्ष बाद जीत का स्वाद चखने वाली कांग्रेस विभिन्न वगोर्ं के प्रतिनिधियों और साथ ही अनुभवी तथा युवा नेताओं को भी मंत्रिमंडल में शामिल करना चाहेगी। यह देखना होगा कि इनमें से किसे कल मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा।

सत्ता विरोधी लहर पर सवार होकर कांग्रेस दस साल के अंतराल के बाद पंजाब में सत्ता में आयी है। उसने विधानसभा की 117 सीटों में से 77 सीटों पर कब्जा जमाया। सत्तारूढ़ शिअद-भाजपा को 18 सीटें मिली, राज्य में पहली बार विधानसभा चुनाव में उतरी आप ने 20 सीटें जीतीं जबकि दो सीटें नयी पार्टी और आप की सहयोगी लोक इंसाफ पार्टी को मिली। यह दूसरी बार है जब अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इससे पहले वह 2002 से 2007 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे थे।



hindi news portal lucknow

केजरीवाल ने EVM पर उठाए सवाल, कहा-आप के वोट BJP-अकाली को ट्रांसफर हुए

15 Mar 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ईवीएम पर सवाल उठाये हैं। केजरीवाल ने कहा कि पंजाब चुनाव के जो नतीजे आये वह नतीजे हमारी पार्टी के लिए और सभी के लिए चौकाने वाले थे। उन नतीजो की जिम्मेदारी मैं लेता हूं। वह बोले कि कांग्रेस को लगभग 38 प्रतिशत, एसएडी को 30.6 प्रतिशत और आप को 24.9 प्रतिशत मत मिले। सब मानते थे की यह पूरा चुनाव अकाली दल को हराने के लिए था लेकिन फिर भी उन्हें 30 प्रतिशत वोट मिला।

वहीं मायावती ने भी प्रेस कांफ्रेस करके ईवीएम मशीन टेपरिंग को लेकर कहा कि बसपा ईवीएम धोखाधड़ी के खिलाफ अदालत जाएगी और देशव्यापी आंदोलन भी शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव में जीत के बाद भाजपा नेता बनावटी मुस्कान लिए हुए हैं क्योंकि वे ईमानदार तरीकों से नहीं जीते हैं। भाजपा की उत्तर-प्रदेश में जीत बेईमानी एवं धोखाधड़ी है। यह लोकतंत्र की हत्या है।

उन्होंने आगे कहा कि मालवा में माना जा रहा था कि हमारी पार्टी स्वीप कर रही थी। किसी ने नहीं कहा कि कांग्रेस की स्वीप है, लेकिन उनको दो तिहाई बहुमत मिला सुजानपुर विधानसभा के एक बूथ पर हमें 7 वोट मिले है। बूथ नंबर 103 में हमे दो वोट मिले। 5 वालंटियर है जिनके 27 परिवार वाले है श्री हरगोबिन्दपुर में 1 वोट मिले है। खेमकरण में 5 वोट मिले, 9 वालंटियर है। मन में यह शक पैदा हो रहा है कि कहीं ईवीएम के जरिये अकाली दल और बीजेपी गठबंधन को ट्रांसफर तो नही कर दिया है।

ईवीएम से विश्वास डगमगाया

प्रेस कांफ्रेस करते हुए केजरीवाल ने कहा कि ईवीएम मशीन से लोगों का विश्वास डगमगा गया है कि कुछ गड़बड़ है। चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है कि वह विश्वास बनाये रखें। ईवीएम में गड़बड़ कर रहे है तो चुनाव का कोई मतलब नहीं। पंजाब के अंदर 32 विधानसभा में वीवीपीएटी मशीन लगी थी, चुनाव आयोग इन वीवीपीएटी की स्लिप की काउंटिंग करवा ले। उनके नतीजे मिला ले। हम चिठ्ठी लिखेंगे। अगर ईवीएम टैम्पर हो सकती है तो संविधान ख़त्म है।

उन्होंने आगे कहा कि मेरे मुद्दे तथ्यों के आधार पर है। 2014 के पहले तक बीजेपी खुद ईवीएम का विरोध करती थी, आडवाणी भी करते थे। दिल्ली में 67 सीट आयी थी, बिहार का चुनाव लालू और नितीश का गठबंधन जीता था। हम तो टेंपरिंग करते नहीं, जो लोग टेंपरिंग करते है वही जवाब दे सकते हैं। दिल्ली और बिहार में वह लोग पूरे आश्वस्त थे की वह जीत रहे थे, इसलिए उन्होंने टेंपरिंग नहीं की। अगर ईवीएम टेम्पर हो सकता है तो यह भी हो सकता है कि वह अपने आधार पर चुनकर कर रहे हो।

सीएम केजरीवाल ने यह भी कहा कि पंजाब में हमारी शंका है कि 20 से 25 प्रतिशत वोट हमारा अकाली दल को ट्रांसफर किया गया। उनका पूरा मकसद था आप को बाहर रखने का। अगर ईवीएम टेम्पर हो सकती है तो किसी भी चुनाव का कोई मकसद नहीं रह जाता।



hindi news portal lucknow

पंजाब की 117 सीटों पर मतदान जारी, गोवा में 9 बजे तक 15% वोटिंग

04 Feb 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान शनिवार को गोवा में सुबह सात बजे से शुरू हो गया, जो शाम पांच बजे तक चलेगा। गोवा में 40 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। वहीं पंजाब में 117 सीटों पर मतदान सुबह आठ बजे से शुरू हुआ। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा के कडे़ बंदोबस्त किए गए हैं।

गोवा में सुबह नौ बजे तक 15 फीसदी मतदान होने की खबर है। उत्तरी गोवा में 16 फीसदी और दक्षिणी गोवा 14 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है।

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने पणजी में मतदान किया। उसके बाद उन्होंने कहा कि गोवा में इस बार पिछले बार की तुलना में इस बार अधिक मतदान होने की उम्मीद है। पिछली बार 84 फीसदी मतदान हुआ था।

उन्होंने कहा कि भाजपा को दो तिहाई बहुमत मिलेगा और वह जीतकर फिर सत्ता में आएगी।



hindi news portal lucknow

पंजाब में बादल ने फैलाया अंधेरा, अमरिंदर बनेंगे अगले CM: राहुल गांधी

27 Jan 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी पंजाब के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। दौरे के पहले दिन राहुल ने मजीठा में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा पंजाब सरकार और आम आदमी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पंजाब के हर उद्योग पर बादल परिवार का कब्जा है। उन्होंने कहा कि पंजाब में पांच नदियों का पानी पूरे देश को शक्ति देता था। बादल किसान को खुशी देते हैं, लेकिन पंजाब के बादलों ने जनता को कुछ नहीं दिया। राहुल गांधी ने साफ किया कि कांग्रेस की ओर से अमरिंदर सिंह ही मुख्यमंत्री के उम्मीदवार होंगे।

'बादल ने फैलाया अंधेरा'

मजीठा से चुनावी शंखनाद करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बादल सरकार को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा पंजाब में बादलों ने अंधेरा फैलाया है। पंजाब में नौकरी चाहिए तो बादलों को कर दो। यहां तक की कहीं जाना भी हो तो बादलों की बस में आपको जाना होगा। कहीं भी चले जाओ बादल टैक्स देना ही पड़ेगा। इसके कारण उद्योगपति पलायन कर रहे हैं। बादल परिवार ने पंजाब का भविष्य तबाह कर दिया है।

ड्रग्स के खिलाफ लड़ेंगे लड़ाई

कांग्रेस के युवराज ने कहा कि वे जिन्होंने पंजाब को चोट पहुंचाई है, उनको हम जेल में डाल के दिखाएंगे। हम पंजाब की लड़ाई लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब में कांग्रेस ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई लड़ेगी। पंजाब का 70 फीसदी युवा ड्रग्स लेता है, हम ड्रग्स के खिलाफ कानून बनाएंगे। उन्होंने कहा, 'गुरु नानक देव ने कहा था कि सब का सब तेरा, लेकिन अकाली दल वाले कहते हैं- सब का सब मेरा।'

आप पर राहुल का वार

आम आदमी पार्टी पर हमला बोलते हुए राहुल ने कहा कि दिल्ली में अब तक सिर्फ कांग्रेस सरकार ने काम किया है। हमने जो वादे किए उसे पूरा भी किया। आप वाले सिर्फ बयानबाजी करते हैं। उन्होंने यमुना के जल साझेदारी के मामले में आप के दोहरे रवैए पर हमला किया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल हर राज्य में लोगों से अलग-अलग बात करते हैं। एक आदमी पूरी पार्टी, सरकार चलाता है। उन्होंने कहा कि केवल एक 'पंजाबी' ही पंजाब का मुख्यमंत्री बन सकता है। यहां बाहरी मुख्यमंत्री नहीं बन सकता।

अमरिंदर बनेंगे सीएम

राहुल गांधी ने अपने रैली के दौरान एलान किया कि कांग्रेस की ओर से अमरिंदर सिंह मुख्यंत्री पद के उम्मीदवार होंगे। अमरिंदर सिंह की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि अमरिंदर सिंह ने लोकसभा चुनाव में अरुण जेटली को हराया था। वे पटियाला के राजघराने से आते हैं।

राहुल गांधी 27 जनवरी से 29 जनवरी तक पंजाब में रहेंगे। इस दौरान वह बादल परिवार के गढ़ में चुनाव प्रचार करने अलावा अन्य विधानसभा क्षेत्रों में भी प्रचार करेंगे। राहुल आज को मजीठा में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। मजीठा विधानसभा क्षेत्र को अकालियों का गढ़ माना जाता है। यहां पर त्रिकोणीय मुकाबले में कांग्रेस के लाली मजीठिया का मुकाबला अकाली दल के दमदार नेता बिक्रम सिंह मजीठिया और आम आदमी पार्टी के हिम्मत सिंह शेरगिल के साथ है।

इसके अलावा राहुल 29 जनवरी को मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के विधानसभा क्षेत्र लांबी में शुक्रवार को एक सभा को संबोधित करेंगे। बादल को इस सीट पर पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह चुनौती दे रहे हैं।



hindi news portal lucknow

कैप्टन अमरिंदर का गठबंधन से इंकार, कहा-बादलों का करेंगे सफाया

17 Jan 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विधानसभा चुनावों में गठबंधन से इंकार करते हुये कहा है कि आगामी चुनाव में कांग्रेस दो-तिहाई बहुमत हासिल करेगी।

कैप्टन का जवाब

कैप्टन सिंह ने आज यहां कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उन पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। वह लंबी विधानसभा क्षेत्र से बादलों के सफाये का शंखनाद करेंगे। वह मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की सहायता के लिये लंबी नहीं जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लंबी 1930 तक पटियाला रियासत का हिस्सा था। इसीलिये उन्होंने लंबी से चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।

कांग्रेस-अकाली में गठजोड़ हास्यास्पद

आप नेता बिना सोचे-समझे कुछ भी बोल रहे हैं। पहले वो कहते थे कि मुझे बादल के खिलाफ लड़ना चाहिए और अब केजरीवाल मुझ पर बादल की मदद करने का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कांग्रेस अकालियों के सफाये के लिये चुनाव लड़ रही है। ऐसे में कांग्रेस तथा अकाली दल के बीच गठजोड़ की बात हास्यास्पद है। बादल राज से लोगों को मुक्ति दिलाने के लिये कांग्रेस ने बादलों के खिलाफ लड़ने की कमर कसी है।

पटियाला के विकास को बताया एजेंडा

पटियाला हलके से नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले उन्होंने पत्रकारों से कहा कि उनके लिए पटियाला तथा लंबी दोनों महत्वपूर्ण विधानसभा क्षेत्र हैं और किस सीट को वह छोड़ेंगे इस बारे में फैसला उचित समय पर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पटियाला का विकास उनके एजेंडे में रहेगा और उनकी सरकार फंड जारी करेगी तथा क्षेत्र के विकास के लिए दोबारा से पटियाला विकास प्राधिकरण बनाएगी। कैप्टन सिंह ने अपने प्रतिद्वंदी अकाली दल प्रत्याशी जनरल जे.जे सिंह से किसी तरह की चुनौती से इन्कार करते हुये कहा कि वह झूठे तथा धोखेबाज हैं।

सिद्धू होंगे कांग्रेस के स्टार प्रचारक

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह और नवजोत सिंह सिद्धू 19 जनवरी को अमृतसर में मिलकर रोड शो के जरिए चुनाव प्रचार करेंगे। सिद्धू पंजाब चुनावों में कांग्रेस के स्टार प्रचारक होंगे। कैप्टन सिंह के अनुसार राज्य की कुछ सुरक्षित सीटों को छोड़कर किसी भी सीट पर कोई उम्मीदवार नहीं बदला गया है और पार्टी एक परिवार के एक सदस्य को टिकट देने तथा जीतने योग्य लोगों को ही टिकट देने की बात पर कायम है।

एसवाईएल नहर के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि पंजाब के पानी पर उसका ही अधिकार है तथा कांग्रेस उसके हितों की रक्षा के लिये नया कानून लाएगी और सुनिश्चित करेगी कि एक बंद पानी भी राज्य से बाहर न जाए।

कांग्रेस प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी

कांग्रेस ने मंगलवार को पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी कर दी। कांग्रेस ने अंतिम सूची में दक्षिणी अमृतसर से इंदरबीर सिंह बोलारिया, बंसा से मंजू बंसल और पूवीर् लुधियाना से संजीव तलवार को उतारने की घोषणा की है।

कांग्रेस ने चार फरवरी को होने जा रहे पंजाब विधानसभा चुनाव में सभी 117 सीटों पर उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है।



12345678910...