खेल

hindi news portal lucknow

राजस्थान रॉयल्स में मामूली हिस्सेदारी पर शेन वार्न ने कहा, मुनाफा अच्छा होगा

08 Dec 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलियाई महान स्पिनर शेन वार्न को 2008 में आईपीएल के शुरूआती चरण में इसकी फ्रेंचाइजी राजस्थान रायल्स में मामूली सी हिस्सेदारी दी गयी थी जो आगामी दिनों में उन्हें अच्छा मुनाफा करा सकती है। ‘हेराल्ड सन’ की रिपोर्ट के अनुसार वार्न को 667,000 डालर भुगतान के अलावा 2008 में संन्यास से वापसी करने के बाद हर साल के लिये 0.75 प्रतिशत की हिस्सेदारी दी गयी। लेकिन अब यह हिस्सेदारी उनके ‘बैंक बैलेंस’ में इजाफा कर सकती है। ऑस्ट्रेलियाई अखबार ‘हेराल्ड सन’ ने वार्न के हवाले से लिखा, ‘‘यह मेरे करार का हिस्सा था क्योंकि मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुका था और मैंने संन्यास से वापसी की थी, उन्होंने मुझे कप्तान और कोच बनने के लिये कहा। साथ ही मुझे कहा कि क्रिकेट टीम को वैसे चलाओ जैसे तुम चलाना चाहते हो। मैं सर्वेसर्वा था। ’’वार्न टीम के कोच कम मेंटोर और ब्रांड दूत रहे हैं। उन्होंने शानदार तरीके से टीम की अगुआई की और 2008 के शुरूआती आईपीएल चरण में राजस्थान रायल्स को खिताब दिलाया। बल्कि मौजूदा भारतीय स्टार रविंद्र जडेजा उस समय प्रतिभाशाली ‘अनकैप’ खिलाड़ी थे जिन्हें वार्न ने पूरा समर्थन किया और उन्हें ‘रॉकस्टार’ करार किया था। उन्होंने कहा कि हमें कोई भी खिताबी दौड़ में नहीं मान रहा था, हम सबसे कम दावेदार में शामिल थे, किसी ने भी हमें खिताब जीतने वाली टीम नहीं बताया था। यह आईपीएल में फ्रेंचाइजी क्रिकेट का पहला साल था जिसमें मालिकों ने खिलाड़ियों को खरीदा और खिलाड़ियों की नीलामी लगी थी। ’’राजस्थान रायल्स फ्रेंचाइजी की कीमत इस समय 20 करोड़ डालर अमेरिकी डालर है और रिपोर्ट के अनुसार वार्न मानते हैं कि अगले दो वर्षों मे इसका मूल्य दोगुना हो जायेगा। उन्होंने कहा कि 40 करोड़ डालर का तीन प्रतिशत अच्छा है। इसका मतलब है कि वह 1.2 करोड़ डालर की कमाई कर सकते हैं।



hindi news portal lucknow

डॉ. तृप्ति सिंह ने मलेशिया में 100 मीटर बाधा दौड़ में गोल्ड मेडल जीता

04 Dec 2019 dinesh tripathi

डॉ. तृप्ति सिंह ने 21वी एशियन मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली लखनऊ की उड़न परी कहीं जाने वाली डॉ. तृप्ति सिंह ने मलेशिया के कोचिंग शहर में 100 मीटर बाधा दौड़ में अपने देश का झंडा फहराने के साथ गोल्ड मेडल जीता , मलेशिया के कोचिंग शहर में भारत का नाम रोशन करने वाली डॉक्टर तृप्ति सिंह का चयन गोवा में राष्ट्रीय मास्टर मीट में कई पदक जीतने के बाद हुआ था, जिन्होंने देशवासियों का विश्वास कायम करते हुए 100 मीटर बाधा दौड़ की कई हीट को जीतती हुई फाइनल में प्रवेश की, हिट में भाग लेने वाले देश चाइना की एथलीट एथलीट ची जॉनीसा ,मलेशिया की एथलीट कैटरीना बेसिन ,श्रीलंका की athlete असली नारो पाकिस्तान की एथलीट रजा बानो को हराते हुए फाइनल में प्रवेश किया और फाइनल में डॉ तृप्ति सिंह को गोल्ड, और मलेशिया की अथिलीट कैटरीना विंटर सिल्वर मेडल तथा श्रीलंका की असली आगम पोर डीजे ने कांस्य पदक जीता, और इंडिया की ही हरप्रीत कौर चौथे नंबर पर रही , भारत के लिए डॉ तृप्ति सिंह ने गोल्ड जीतकर मलेशिया की धरती के कोचिंग शहर में भारत का झंडा बुलंद करने का काम किया अभी डॉक्टर तृप्ति सिंह का 400 मीटर बाधा दौड़ होना बाकी जो 5 दिसम्बर को होगा



hindi news portal lucknow

ऐतिहासिक मुकाबले में भारत की शानदार जीत, सीरीज में बांग्लादेश को 2-0 से हराया

24 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

कोलकाता। कोलकाता में खेले गए ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट मैच में भारत ने जीत हासिल कर ली है। भारत ने बांगलादेश को एक पारी और 46 रनों से हराया है। विराट कोहली की टीम ने बागंलादेश को 2-0 से श्रृंखला में मात दी है। इंदौर टेस्ट में भारत ने बांग्लादेश को एक पारी और 130 रनों से मात दी थी तो वहीं अब कोलकाता में भी भारत ने बांगलादेश को हराया है।

विराट कोहली ने गुलाबी गेंद की परीक्षा में खरा उतरते हुए बेहतरीन शतक जमाया जबकि इशांत शर्मा और उमेश यादव की शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत ने बंग्लादेश को मात दी। अनुभवी मुशफिकुर रहीम की प्रतिबद्ध पारी ने यहां भारत का बांग्लादेश पर गुलाबी गेंद से खेल जा रहे दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में जीत का इंतजार तीसरे दिन तक बढ़ा दिया। कोहली ने 194 गेंदों पर 136 रन बनाये और वह दिन रात्रि टेस्ट मैच में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गये हैं। भारत ने अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 347 रन बनाकर घोषित की और इस तरह से 241 रन की बढ़त हासिल की।

पहली पारी में केवल 106 रन बनाने वाले बांग्लादेश की शुरुआत फिर से खराब रही और उसने चार विकेट 13 रन पर गंवा दिये। इसके बाद मुशफिकुर (नाबाद 59) ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली जिससे बांग्लादेश ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने छह विकेट पर 152 रन बनाये। मुशफिकुर को छोड़कर केवल महमुदुल्लाह (रिटायर्ड हर्ट 39) ही भारतीय गेंदबाजों का सामना कर पाये। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले इशांत ने फिर से कातिलाना गेंदबाजी की। उमेश यादव ने भी दो विकेट लिये हैं।

भारतीय तेज गेंदबाजों का बांग्लादेश के बल्लेबाजों में आतंक का यह आलम था कि मोहम्मद मिथुन सिर पर चोट खाने वाले उसके तीसरे बल्लेबाज बने। वह इशांत के बाउंसर को झुककर नहीं खेल पाये। इससे पहले मोहम्मद शमी के बाउसंर पर उसके दो बल्लेबाज (लिटन दास और नईम हसन) चोटिल हो चुके हैं और उनकी जगह स्थानापन्न खिलाड़ियों को लेना पड़ा।भारत ने दूसरी पारी की शुरुआत में स्लिप में चार क्षेत्ररक्षकों को रखकर अपने इरादे जतला दिये थे। इशांत ने शादमान इस्लाम को पगबाधा करके भारत को पहली सफलता दिलायी। तब बांग्लादेश का खाता भी नहीं खुला था। इस तेज गेंदबाज ने कप्तान मोमिनुल हक को खाता भी नहीं खोलने दिया।

मोहम्मद मिथुन (छह) और सलामी बल्लेबाज इमुरूल कायेस (पांच) भी चाय के विश्राम के तुरंत बाद पवेलियन लौट गये। इसके बाद मुशफिकुर और महमुदुल्लाह ने जिम्मेदारी संभाली और दोनों स्कोर 82 रन तक ले गये। ऐसे समय में जबकि बांग्लादेश को इन दोनों से लंबी साझेदारी की उम्मीद थी तब आत्मविश्वास के साथ खेल रहे महमुदुल्लाह को मांसपेशियों में खिंचाव के कारण मैदान छोड़ना पड़ा। रविचंद्रन अश्विन को आखिर में दूसरी पारी के 23वें ओवर में गुलाबी गेंद से पहला ओवर करने का मौका मिला। वह इस ओवर में विकेट ले लेते लेकिन अजिंक्य रहाणे ने मेहदी हसन का स्लिप में आसान कैच छोड़ दिया। मुशफिकुर ने इसके बाद इशांत की गेंद पर चौका लगाकर अपना 21वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया। इशांत ने मेहदी हसन (15) को इसी ओवर में स्लिप में कैच कराकर अपना चौथा विकेट लिया। उमेश ने दिन के आखिरी ओवर में ताईजुल इस्लाम (11) को रहाणे के हाथों कैच कराया। इससे पहले कोहली ने 59 रन से अपनी पारी आगे बढ़ायी। वह शानदार लय में दिखे। उन्होंने अपना 27वां टेस्ट शतक पूरा किया।

कोहली ने ताइजुल इस्लाम पर स्क्वेयर लेग में शॉट लगाकर अपना शतक पूरा किया। उपकप्तान रहाणे ने भी 51 रन की पारी खेली जो उनका लगातार चौथा अर्धशतक है। वह इस्लाम की गेंद पर प्वाइंट में कैच देकर आउट हुए। वहीं टेस्ट क्रिकेट में बतौर कप्तान 5000 रन पूरे करने वाले पहले भारतीय बने कोहली ने अपने करियर का 70वां अंतरराष्ट्रीय शतक बनाया। उन्होंने शतक पूरा करने के बाद तेजी दिखायी और अबू जायेद पर लगातार चार चौके लगाये। ताईजुल ने सीमा रेखा पर बेहतरीन कैच लेकर उनकी पारी का अंत किया जिसमें 18 चौके शामिल हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तीनों प्रारूपों को मिलाकर बतौर कप्तान सबसे ज्यादा 41 शतक के ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग के रिकार्ड की बराबरी कर ली। कोहली ने हालांकि उनसे आधी पारियों (188) में यह रिकॉर्ड बनाया।

कोहली उस समय क्रीज पर आये जब भारत का स्कोर दो विकेट पर 43 रन था। कप्तान ने संभलकर खेलते हुए ईडन गार्डन्स पर लगातार दूसरा शतक लगाया। उन्होंने नवंबर 2017 में यहां श्रीलंका के खिलाफ भी शतक बनाया था। कोहली के आउट होने के बाद भारत के पुछल्ले बल्लेबाज ज्यादा देर तक नहीं टिके जिसके बाद कप्तान ने पारी समाप्त घोषित करने का फैसला किया। बांग्लादेश की तरफ से इबादत हुसैन और अल अमीन हुसैन ने तीन-तीन जबकि अबू जायेद ने दो विकेट लिये। इससे पहले पूर्व विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद और मौजूदा चैम्पियन मैग्नस कार्लसन ने ईडन की घंटी बजाकर दूसरे दिन का खेल शुरू किया।



hindi news portal lucknow

India vs Ban 2nd test live update: बांग्लादेश को पहला झटका, इशांत ने दिलाई सफलता

22 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। भारत और बांग्लादेश के बीच खेले जाने वाले पहले डे नाइट टेस्ट मैच में बांग्लादेश के कप्तान मोमिनुल हक ने टॉस जीता है। बांग्लादेश की टीम पहले बल्लेबाजी करने उतरेगी। इस मुकाबले के लिए भारतीय टीम ने प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया है। बांग्लादेश की टीम में दूसरे टेस्ट के लिए दो बदलाव किया गया है। अल अमीन और नईम को प्लेइंग इलेवन में जगह दी गई है। ताइजुल और मेहदी हसन को बाहर किया गया है। इशांत शर्मा ने भारत को पहली कामयाबी दिलाई। ओवर की पहली गेंद पर रिव्यू लेकर बचने वाले ओपनर इमरूल कायेस को इशांत ने ओवर की तीसरी गेंद पर LBW आउट किया। कायेस महज चार रन बनाकर आउट हुए। इशांत शर्मा पारी का सातवां ओवर लेकर आए और पहली ही गेंद पर इमरूल कायेस के खिलाफ कैच की अपील हुई। अंपायर ने आउट करार दिया। कायेस ने रिव्यू लिया और थर्ड अंपायर ने पाया कि गेंद थाई पैड से टकराते हुए विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के पास पहुंची थी। कायेस को नॉट आउट करार दिया गया।

बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच में भारतीय टीम जीत हासिल कर ऐतिहासिक डे नाइट टेस्ट को यादगार बनाना चाहेगी। भारतीय टीम कोलकाता में पहली बार पिंक बॉल टेस्ट मैच खेलने उतरेगी। भारत ने दो मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला बांग्लादेश से पारी और 130 रन से जीता था।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मैच से पहले बेल बजाकर मैच के आगाज का ऐलान किया। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली भी इन दोनों के साथ यहां मौजूद थे।

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रविंद्र जडेजा, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), आर अश्विन, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव।

बांग्लादेश: इमरुल कायेस, शादमान इस्लाम, मोहम्मद मिथुन, मोमिनुल हक (कप्तान), मुशफिकुर रहीम, महमूदुल्लाह, लिटन दास (विकेटकीपर), नईम, मुस्ताफिजुर रहमान, अबू जयाद, अल-अमीन हुसैन।



hindi news portal lucknow

क्रिकेट के मैदान से दूर रहेंगे बुमराह और हार्दिक, टीम से जुड़े कुलकर्णी और बोल्ट

18 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

मुंबई। पूर्व तेज गेंदबाज और मुंबई इंडियंस के क्रिकेट निदेशक जहीर खान ने सोमवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पंड्या की फिटनेस से जुड़ी चिंता ने टीम को दिल्ली कैपिटल्स और राजस्थान रायल्स से क्रमश: ट्रेंट बोल्ट और धवल कुलकर्णी को ट्रेड करने के लिए प्रेरित किया। हार्दिक को पीठ दर्द की शिकायत के बाद सर्जरी करनी पड़ी जबकि बुमराह भी पीठ में दर्द के कारण पिछले कुछ समय से मैदान से दूर है।जहीर ने एक वीडियो संदेश में कहा कि चोट की समस्या के कारण हमारे लिए आईपीएल का आगामी सत्र काफी चुनौतीपूर्ण होने वाला है। हार्दिक को पीठ की सर्जरी करनी पड़ी जबकि बुमराह भी पीठ दर्द की समस्या से परेशान है। जेसन बेहरेनडार्फ भी ऐसी समस्या से जूझ रहे है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों के ट्रेड के समय यह हमारे लिए चिंता की एक बात थी। हमें लगा कि गेंदाबाजी विभाग को मजबूत करने की जरूरत है इसी को देखते हुए हमने कैपिटल्स और रायल्स के साथ ट्रेड किया। आईपीएल के 2020 सत्र के लिए 19 दिसंबर को कोलकाता में खिलाड़ियों की नीलामी का आयोजन होगा।



hindi news portal lucknow

भारत के दो पैरा एथलीटों ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, देश को दिलाया ओलंपिक का टिकट

09 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

दुबई। भारत के संदीप चौधरी और सुमित ने शुक्रवार को यहां विश्व पैरा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप की एफ 64 भाला फेंक स्पर्धा में विश्व रिकार्ड बनाते हुए क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक अपने नाम किये। संदीप ने 66.18 मीटर दूर भाला फेंककर एफ 44 वर्ग में 65.80 मीटर के अपने विश्व रिकार्ड को बेहतर करते हुए स्वर्ण पदक जीता। वहीं सुमित ने 60.45 मीटर के अपने एफ 64 विश्व रिकार्ड से अच्छा प्रदर्शन किया और 62.88 मीटर की दूरी से रजत पदक हासिल किया। इस विश्व चैम्पियनशिप में एफ 44 और एफ 64 को एक संयुक्त स्पर्धा बनाया गया है। विश्व रिकार्ड हालांकि खिलाड़ियों के क्लासिफिकेशन के आधार पर ही दर्ज होंगे।यूक्रेन के रोमन नोवाक (एफ 44 एथलीट) ने 57.36 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो से कांस्य पदक हासिल किया।



hindi news portal lucknow

2019 में T20 क्रिकेट में भारत की तरफ से श्रेयस अय्यर ने लगाए हैं सबसे ज्यादा छक्के, रिषभ दूसरे नंबर पर

08 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोहित शर्मा ने बेशक इस वर्ष सबसे ज्यादा छक्के लगाए हैं, लेकिन घरेलू टी 20 मैचों में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) हैं। श्रेयस अय्यर के बाद इस मामले में दूसरे स्थान पर रिषभ पंत (Rishabh Pant) हैं जबकि तीसरे नंबर पर नीतिश राणा मौजूद हैं। इस वर्ष यानी 2019 में भारत के घरेलू टी 20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज श्रेयस अय्यर हैं जिनके नाम पर कुल 53 छक्के हैं जबकि रिषभ पंत इसमें दूसरे नंबर पर हैं और उनके नाम पर 36 छक्के हैं। वहीं तीसरे नंबर पर मौजूद नीतिश राणा ने अब तक कुल 32 छक्के जड़े हैं।

श्रेयस अय्यर इस वक्त बांग्लादेश के खिलाफ खेले जा रहे तीन मैचों की टी 20 सीरीज के लिए भारतीय टीम का हिस्सा हैं। श्रेयस ने दूसरे टी 20 मैच में बांग्लादेश के खिलाफ 13 गेंदों पर 24 रन की नाबाद पारी खेली थी और टीम इंडिया को 8 विकेट से बड़ी जीत मिली थी। श्रेयस उभरते हुए युवा बल्लेबाज हैं और घरेलू स्तर पर शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें टीम इंडिया में जगह मिली है। वो आइपीएल में दिल्ली कैपिटल्स टीम के कप्तान भी हैं। इस वर्ष फरवरी में श्रेयस अय्यर ने सैयद मुश्ताक अली टी 20 टूर्नामेंट में 55 गेंदों पर 147 रन की पारी खेली थी और अपनी इस इनिंग में 15 छक्के व 7 चौके लगाए थे। उन्होंने सिक्किम के खिलाफ ये पारी खेली थी। उनका स्ट्राइक रेट 267.00 का था। श्रेयस टी 20 क्रिकेट में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे।

श्रेयस के टी 20 करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक खेले 10 मैचों में 21.42 की औसत से कुल 150 रन बनाए हैं। उनका बेस्ट स्कोर 30 रन है। टी 20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दस मैचों में श्रेयस के नाम पर सिर्फ चार छक्के ही है।



hindi news portal lucknow

MS Dhoni शुरू कर सकते हैं क्रिकेट में ये नई पारी, बस BCCI से चाहिए अनुमति

06 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी क्रिकेट में एक नई शुरुआत कर सकते हैं। हालांकि, इसके लिए उन्हें भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(BCCI) से इजाजत लेनी होगी। एमएस धौनी इसी महीने बतौर क्रिकेट कॉमेंटेटर अपना डेब्यू कर सकते हैं, जिसकी अनुमति बीसीसीआइ देनी है। दरअसल, भारत और बांग्लादेश के बीच कोलकाता में 22 नवंबर से ऐतिहासिक टेस्ट मैच शुरू होना है जो डे-नाइट टेस्ट होगा और गुलाबी गेंद से ईडन गार्डेंस स्टेडियम में खेला जाएगा। इसी मैच के प्रसारणकर्ताओं ने धौनी और भारतीय क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीसीआइ को एक प्रपोजल भेजा है, जिसमें धौनी के कॉमेंट्री करने की बात कही है।

ब्रॉडकास्टर्स को बीसीसीआइ से अभी अनुमति धौनी के इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच में कॉमेंट्री करने को लेकर नहीं दी है। बीसीसीआइ से जुड़े सूत्र ने न्यूज एजेंसी एएनआइ को बताया है, "हां, प्रसारणकर्ताओं ने हमें प्रपोजल भेजा है, लेकिन अभी तक इस पर फैसला नहीं हुआ है। अगर BCCI अनुमति देती है तो धौनी Day-night test में कॉमेंट्री करते दिखाई देंगे।"

गौरतलब है कि एमएस धौनी वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी बार भारतीय टीम की जर्सी में नज़र आए थे। कई साल पहले धौनी टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। वहीं, बतौर क्रिकेटर उनकी वापसी कब होगी इस पर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

बता दें कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने 29 अक्टूबर को बीसीसीआइ के इस प्रपोजल को स्वीकार कर लिया है कि उनकी टीम आखिरी टेस्ट मैच को डे-नाइट टेस्ट मैच के तौर पर पिंक बॉल से खेलेगी। ये टेस्ट मैच में 22 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डेंस में शुरू होगा, जो दोपहर को डेढ़ बजे से खेला जाएगा।



hindi news portal lucknow

धोनी के साथ ऋषभ पंत की तुलना पर गिलक्रिस्ट ने कहा- क्रिकेटर पर बढ़ेगा दबाव

05 Nov 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। विकेट के पीछे लचर प्रदर्शन और डीआरएस के मामले में कई बार नाकाम रहे भारतीय खिलाड़ी ऋषभ पंत आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं लेकिन दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने उनका बचाव करते हुए कहा कि महेन्द्र सिंह धोनी का जगह लेने के बारे में सोचना भी बहुत बड़ी बात है। खराब विकेटकीपिंग के कारण दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू टेस्ट श्रृंखला में पंत अंतिम एकादश में जगह बनाने में सफल नहीं रहे और उनकी जगह चोट से वापसी करने वाले ऋद्धिमान साहा ने ली।

पंत इसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ पहले टी 20 में विकेट कुछ खास कमाल नहीं कर सके। उनका डीआरएस भी टीम के खिलाफ गया जिसने मुशफिकुर रहीम को मैच जीताऊ नाबाद अर्धशतकीय पारी खेलने का मौका दे दिया। टूरिज्म वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के कार्यक्रम में पहुंचे गिलक्रिस्ट से जब धोनी की जगह लेने वाले पंत के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं भारतीय प्रशंसकों और पत्रकारों को सुझाव देना चाहुंगा कि महेन्द्र सिंह धोनी से किसी की तुलना करने के बारे में भी ना सोचे क्योंकि आप जितना अधिक ऐसा करेंगे दूसरा खिलाड़ी उतने ही दबाव में आयेगा।

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने इस मामले में अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि यहां मैं अपना निजी अनुभव भी साझा कर सकता हूं क्योंकि मैं टीम में महान विकेटकीपरों में शुमार इयान हीली की जगह आया था। वह ऐसी टीम के विकेटकीपर थे जो लंबे समय तक क्रिकेट में शीर्ष पर थी। मैंने हालांकि कभी हीली बनने की कोशिश नहीं की , हां मैं उनसे सीखता जरूर था लेकिन मैदान में अपने तरीके के ही अपनाता था। ऋषभ को भी मेरी यही सलाह होगी कि वह धोनी से सीख जरूर ले लेकिन धोनी बनने की कोशिश ना करें ऋषभ ही रहे। ’’

गिलक्रिस्ट ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के पिछले दौरे पर पंत की बल्लेबाजी ने उन्हें प्रभावित कियाथा। उन्होंने कहा कि मैंने आस्ट्रेलिया में उनकी बल्लेबाजी देखी है। वह अच्छा खिलाड़ी है। मेरी सलाह यही होगी कि कड़ी से कड़ी मेहनत करें लेकिन धोनी बनने की जगह ऋषभ ही रहे। ’’भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में दिन-रात्रि का टेस्ट मैच खेलेगी और गिलक्रिस्ट को उम्मीद है कि अगले साल आस्ट्रेलिया दौरे पर यह टीम दिन-रात्रि टेस्ट मैच खेलने को तैयार होगी। गिलक्रिस्ट ने कहा कि जहां तक मुझे पता है अगले साल टी20 विश्व कप के बाद भारतीय टीम को आस्ट्रेलिया में टेस्ट और एकदिवसीय श्रृंखला खेलनी है और ऐसे मुझे उम्मीद है कि वे इस दौरे पर कम से कम एक दिन-रात्रि टेस्ट खेलेंगे। ’’ उन्होंने कहा कि जब दिन-रात्रि टेस्ट खेलने की बात शुरू हुई थी तब मैं इसे लेकर थोड़े संकोच में था लेकिन अब मेरे विचार बदल गये है।

इसका सबसे साकारात्मक पहलू यह है कि इससे टेस्ट क्रिकेट को ज्यादा प्रासंगिक बनाता है। अब इतने सारे दिन-रात्रि एकदिवसीय और टी20 खेलकर खिलाड़ी भी इसके अभ्यस्त हो गये हैं।’’ गिलक्रिस्ट ने कहा कि भारत में हालांकि यह देखना और भी दिलचस्प होगा क्योंकि ओस के कारण शायद स्पिनरों को ज्यादा मदद ना मिले। उन्होंने कहा कि भारत में इसमें कुछ समस्या आ सकती है क्योंकि यहां शाम में काफी ओस होती है ऐसे में श्रृंखला और मैदान का चयन काफी अहम हो जाता है। इसमें थोड़ा समय लगेगा लेकिन अगर लोग जोखिम लेने को तैयार है तो यह सफल होगा। ‘‘क्रिकेट में बदलाव होता रहा है और कभी ऐसा भी समय था जब खिलाड़ी बिना किसी सुरक्षा उपकरण के खेलते थे लेकिन फिर वे ऐसे उपकरणों के अभ्यस्त हो गये। टेस्ट क्रिकेट ही असली क्रिकेट है और इसे प्रासंगिक बनाने के लिए जो भी संभव हो वह करना चाहिये।



hindi news portal lucknow

Ind vs Ban: भारत-बांग्लादेश सीरीज पर छाए संकट के बादल, BCB अध्यक्ष का चौंकाने वाला बयान

28 Oct 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

ढाका, पाटीआई। भारत और बांग्लादेश के बीच खेली जाने वाली सीरीज को लेकर बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नाजमुल हसन बेहद चिंतित हैं। नाजमुल ने आरोप लगाया है कि बांग्लादेश के भारत दौरे को नाकाम करने की लगातार कोशिश की जा रही है। टीम के अहम खिलाड़ियों द्वारा हड़ताल में शामिल होना और 11 मांगों को रखना इसी कड़ी में उठाया गया कदम था।भारत के दौरे पर आने से ठीक पहले बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने बोर्ड के खिलाफ अपनी मांग रखते हुए हड़ताल किया था। इसमें कप्तान शाकिब अल हसन, तमीम इकबाल और मुशफिकुर रहीम से अहम खिलाड़ी भी शामिल थे। बोर्ड ने हड़ताल किए जाने के बाद खिलाड़ियों द्वारा रखी गई लगभग सभी मांगों से मान लिया था।BCB अध्यक्ष ने बांग्लादेश डेली प्रोथोम आलो से बात करते हुए कहा, "आप लोगों ने अब तक भारत दोरे से जुड़ी कोई चीज नहीं देखी है। बस इंतजार कीजिए और देखते जाइए। अगर मैं ऐसा कह रहा हूं कि मेरे पास जरूर पुख्ता जानकारी है कि यह बांग्लादेश के भारत दौरे को नाकाम करने के लिए की गई साजिश थी तब आप मेरी बात माननी चाहिए।"वो ऐसा क्यों कह रहे हैं इस बारे में विस्तार से जानकारी देने को कहे जाने पर उन्होंने बताया कि टीम के ओपनर तमीम इकबाल का दौरे से नाम वापस लेना इसका सबूत माना जा सकता है। तमीम ने पत्नी की डिलिवरी की वजह से भारत दौरे से नाम वापस लिया है। इससे पहले उन्होंने सिर्फ दोनों देशों के बीच खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट मैच में ही ना खेलने का फैसला लिया था। "तमीम ने शुरुआत में मुझे कहा था कि दूसरे बच्चे के जन्म की वजह से वह सिर्फ भारत के खिलाफ खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट मैच में ही नहीं खेल पाएंगे। खिलाड़ियों के साथ हुई मीटिंग के बाद तमीम मेरे पास आए और उन्होंने कहा कि वह पूरे दौरे से नाम वापस लेना चाहते हैं। मैंने उनसे पूछा 'ऐसा क्यों ?' इस पर उन्होंने बस इतना कहा 'नहीं जाना चाहता हूं।"



12345678910...