राष्ट्रीय

hindi news portal lucknow

'बीजेपी से कोई नाराज नहीं', उत्तर प्रदेश में बोले राजनाथ सिंह , कांग्रेस और एसपी से पूरा प्रदेश नाखुश है

10 Apr 2024 ayushi tripathi

राजनाथ सिंह ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान सपा और कांग्रेस ने यह कहानी फैलाई कि पिछड़ा वर्ग बीजेपी से नाखुश है। 2019 में उन्होंने फिर से यह कहानी फैलाई कि ब्राह्मण (बीजेपी से) नाखुश हैं। 2024 में उन्होंने यह कहानी फैलाई कि राजपूत (बीजेपी से) नाखुश हैं। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि पूरा यूपी कांग्रेस और एसपी से नाखुश है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि भाजपा ने राजनेताओं और राजनीति के प्रति जनता की धारणा बदल दी है। वह उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले ऐसी धारणा थी कि नेता वोट मांगने के लिए झूठ बोलते हैं और चले जाते हैं। उन्हें जनता या देश की कोई परवाह नहीं है। राजनेताओं और राजनीतिक दलों के प्रति यही आम धारणा थी। लेकिन हमने यह धारणा बदल दी। उन्होंने कहा कि हमने इस धारणा को बदल दिया है। यह हमारा चरित्र है कि हम जो कहते हैं वह करते हैं। पहले यह सोचा जाता था कि कोई राजनेता झूठ बोलेगा, लेकिन हमने इस धारणा को बदल दिया।

राजनाथ सिंह ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान सपा और कांग्रेस ने यह कहानी फैलाई कि पिछड़ा वर्ग बीजेपी से नाखुश है। 2019 में उन्होंने फिर से यह कहानी फैलाई कि ब्राह्मण (बीजेपी से) नाखुश हैं। 2024 में उन्होंने यह कहानी फैलाई कि राजपूत (बीजेपी से) नाखुश हैं। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि पूरा यूपी कांग्रेस और एसपी से नाखुश है। उन्होंने कहा कि हमने राजनीति में विश्वास के संकट पर काबू पा लिया है।' हमने अनुच्छेद 370 को हटाने का वादा किया था और सत्ता संभालने के बाद हमने यह किया। हमने तीन तलाक खत्म करने का वादा किया था और संसद में बहुमत मिलने के बाद हमने यह किया।'

वहीं संभल में सभा को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि पहले किसान खाद और बीज नही खरीद पाते थे जिसके कारण उतनी फसल पैदा नही हो पाती थी जितनी होनी चाहिए। मोदी सरकार ने फैसला किया कि हम किसान सम्मान निधि के अन्तर्गत हर किसान को 6 हजार रू. प्रतिवर्ष मुहैया करायेंगे जिससे वो अपनी छोटी-मोटी आवश्यकताओं को पूरा कर सकें। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की हालत यह हो गई है कि सोमवार से लेकर रविवार तक रोज उम्मीदवार ही बदलते रहते है और कांग्रेस की हालत यह हो गई है कि उनको उम्मीवार ही नही मिल रहे हैं। 2024 के बाद मुझे लगता है कि लोग पूछेंगे कि सपा कौन? सपा का मतलब 'समाप्त पार्टी। रक्षा मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत का सिर ऊंचा हुआ है। पहले जब हम अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपनी बात रखते थे तो हमारी बातों को उतनी गंभीरता से नहीं लिया जाता था।' लेकिन आज जब हम बोलते हैं तो दुनिया सुनती है।



hindi news portal lucknow

'आज दुनिया में बनी भारत की नई पहचान', उत्तराखंड में बोले जेपी नड्डा , कांग्रेस ने तीनों लोक में किया है भ्रष्टाचार

04 Apr 2024 ayushi tripathi

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को उत्तराखंड के लोगों से राज्य की सभी पांच लोकसभा सीटें फिर से भाजपा को देने के लिए कहा, ताकि नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधान मंत्री के रूप में लौटने में मदद मिल सके और भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाया जा सके। नड्‌डा ने उत्तराखंड में अल्मोडा लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार अजय टम्टा के समर्थन में अपनी पहली चुनावी सभा में कहा, ''यह आपकी राष्ट्रीय जिम्मेदारी है।'' उन्होंने कहा कि आज जब हम चुनाव की बेला में जा रहे हैं, तो हमें ये याद रखना चाहिए कि वीरों को न्याय दिलाने और 40 साल से कांग्रेस द्वारा दिये जा रहे धोखे से न्याय दिलाने यानी OROP का काम प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा किया गया।

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने कहा कि इस शताब्दी का तीसरा दशक, उत्तराखंड के विकास का दशक होगा। मुझे खुशी है कि आज प्रधानमंत्री द्वारा कही गई ये बातें धरती पर दिख रही हैं और विकास की नई गंगा बह रही है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में एक तरफ वो लोग हैं, जिन्होंने उत्तराखंड के दर्द को समझा है, जिन्होंने उत्तराखंड को आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी, जिन्होंने उत्तराखंड के युवाओं की आकांक्षाओं को पंख लगाने का काम किया, जिन्होंने महिलाओं को ताकत देकर उनका सशक्तिकरण किया है, जिन्होंने उत्तराखंड को मुख्यधारा में लाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। दूसरी तरफ वो लोग हैं, जिन्होंने दशकों तक आपको धोखा दिया है, जिन्होंने घोटाले किए, जिन्होंने आपके विकास में रोड़ा अटकाकर आपको विनाश की तरफ धकेला है।

जेपी नड्डा ने कहा कि आप लगातार तीसरी बार उत्तराखंड से 5 के 5 सांसद भाजपा के जीताकर भेजेंगे और मोदी जी के नेतृत्व में भारत 2028 तक विश्व की तीसरी बड़ी आर्थिक ताकत बन जाएगा। मुझे खुशी है कि उत्तराखंड UCC यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड में भी सबसे आगे खड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने जल जीवन मिशन के अंतर्गत 11.30 करोड़ घरों तक नल से जल पहुंचा दिया है। जिनमें से उत्तराखंड में 12 लाख घरों तक और अकेले पिथौरागढ़ में ही 2.40 लाख घरों तक हर घर नल, हर घर जल पहुंचाया गया है।एक अन्य सभा में उन्होंने कहा कि पहले राजनीति होती थी- भाई को भाई से लड़ाओ, जातिवाद के आधार पर वोट मांगो, वोट बैंक की राजनीति करो, अलगाववाद को बढ़ावा देते हुए तुष्टिकरण की राजनीति करो और सत्ता हथियाओ। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कांग्रेस ने तीनों लोक में भ्रष्टाचार किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 70 साल तक यही राजनीति की, लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने राजनीति की परिभाषा बदल डाली है। अब कोई व्यक्ति जातिवाद, अलगाववाद और तुष्टिकरण करके जीत नहीं सकता. अब सिर्फ विकास की राजनीति ही चलेगी। उन्होंने कहा कि मोदी जी GYAN को आगे बढ़ा रहे हैं. G- गरीब, Y- युवा, A- अन्नदाता, N- नारी शक्ति, यानी जब गरीब, युवा, अन्नदाता और नारी शक्ति का सशक्तिकरण होगा. तो पूरा देश आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि पहले पानी के लिए लोगों को 3-3 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था। आज जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल, हर घर जल पहुंचाने का काम मोदी जी ने साकार किया है। आज से 10 साल पहले, हमारी माताओं-बहनों को शौच के लिए खुले में बाहर जाना पड़ता था, सूर्यास्त का इंतजार करना पड़ता था। मोदी जी ने घर-घर इज्जत घर बनवाकर महिलाओं को सम्मान दिया है। उन्होंने कहा कि पहले हमारी माताएं-बहने जंगल जाकर लकड़ी काटकर लाती थीं, फिर धुएं से जूझ कर खाना बनाती थीं। आज पीएम उज्ज्वला योजना के तहत 10 करोड़ से अधिक महिलाओं को मुफ्त गैस सिलेंडर मिला है। जिससे उन्हें धुएं से मुक्त मिली है। जो भारत पहले पिछलग्गू कहलाता था, आज मोदी जी के नेतृत्व में दुनिया के अग्रणी देशों में खड़ा है। आज दुनिया में हमारी नई पहचान बनी है।



hindi news portal lucknow

उत्तर प्रदेश में अपराधी अब जेल जाने से डरते हैं: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

03 Apr 2024 ayushi tripathi

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधी अब जेल जाने से डरते हैं। जन चौपाल को संबोधित करते मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर माफिया में डर नहीं होगा तो इससे गरीबों का जीना मुश्किल हो जायेगा। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले ज्यादातर इलाकों में सूर्यास्त के बाद पुलिस स्टेशनों पर भी ताले लगा दिए जाते थे। अपराधियों को लगा कि यह सरकार भी पिछली सरकारों की तरह होगी, लेकिन हमने जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई। उन्होंने कहा कि आप अपराध रोकें या इसकी कीमत चुकाने के लिए तैयार रहें।' अधिकांश अपराधी जमानत लेकर जेल चले गये। अब वे कह रहे हैं कि हमें जेल मत भेजो, हम वहां जाने से डरते हैं। योगी ने दावा किया कि अधिकांश अपराधी हाथों में तख्तियां लेकर सड़कों पर घूम रहे हैं कि वे जीवन भर काम करके अपना जीवन यापन करेंगे, लेकिन कानून नहीं तोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि यदि माफियाओं और अपराधियों में कानून का डर नहीं होगा तो वे गरीबों, व्यापारियों और आम नागरिकों का जीना मुश्किल कर देंगे। यूपी में आए दिन दंगे होते रहते थे। यह राज्य अब अशांति बर्दाश्त नहीं करेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक तरफ बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए गठबंधन है और दूसरी तरफ वो लोग हैं जो पार्टियों का विलय कराना चाहते हैं। इंडिया गठबंधन पर मुख्यमंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं, लेकिन कांग्रेस के लिए एक भी सीट नहीं छोड़ी, फिर भी वे इंडिया गठबंधन का हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि केरल में कम्युनिस्टों ने कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं किया लेकिन गठबंधन का हिस्सा हैं। यही स्थिति महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों की भी है. उन्हें कोई उम्मीदवार नहीं मिल रहा है. कांग्रेस प्रत्याशी सपा में और सपा प्रत्याशी कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं

योगी ने कहा कि कश्मीर में धारा 370 का हटना, पूर्वोत्तर में नक्सलवाद और उग्रवाद का ख़त्म होना दिखाता है कि देश में आंतरिक सुरक्षा कितनी बढ़ी है। एक्सप्रेसवे, हाईवे, रेलवे, चार-लेन और छह-लेन सड़कों की कनेक्टिविटी, मेट्रो और हवाई कनेक्टिविटी, मेडिकल कॉलेज, आईआईटी, आईआईएम और एम्स बताते हैं कि किसी देश में बुनियादी ढांचा कैसा होना चाहिए। नए इंफ्रास्ट्रक्चर के माध्यम से हम सभी नए भारत की सुरम्य तस्वीर देख रहे हैं।



hindi news portal lucknow

'अपने स्वार्थ के लिए चुनाव लड़ रहे INDI गठबंधन के नेता', PM Modi बोले- देश को धमकी दे रहे कांग्रेस के नेता

02 Apr 2024 ayushi tripathi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उसके नेता भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोकसभा चुनाव जीतने पर आगजनी की धमकी दे रहे हैं। मोदी ने राजस्थान के कोटपूतली में एक रैली में कहा कि यह चुनाव 'आत्मनिर्भर भारत' के सपने को पूरा करने के लिए है। मोदी कहते हैं भ्रष्टाचार हटाओ। कांग्रेस और INDI गठबंधन यह चुनाव देश के लिए नहीं बल्कि अपने स्वार्थ के लिए लड़ रहे हैं...वे कहते हैं भ्रष्टाचारियों को बचाओ, मोदी कहते हैं भ्रष्टाचार हटाओ। अपना वार जारी रखते हुए मोदी ने कहा कि यह पहला चुनाव है जिसमें कांग्रेस पार्टी के नेता खुद चुनाव जीतने की बात नहीं कर रहे बल्कि देश को धमकी दे रहे हैं कि अगर बीजेपी जीती तो देश में आग लग जाएगी।

मोदी ने कहा कि 2024 के इस चुनाव में देश की सियासत फिर 2 खेमों में बंटी नजर आ रही है। एक तरफ राष्ट्र प्रथम का संकल्प लेकर चलने वाली भाजपा है, तो दूसरी तरफ देश को लूटने के मौके तलाशने वाली कांग्रेस पार्टी है। उन्होंने कहा कि आज एक ओर देश को परिवार मानने वाली भाजपा है, तो दूसरी ओर अपने परिवार को देश से बड़ा मानने वाली कांग्रेस है। उन्होंने कहा कि आज एक ओर दुनिया में भारत का गौरव बढ़ाने वाली भाजपा है, तो दूसरी ओर विदेश में जाकर भारत को गाली देने वाली कांग्रेस है। ऐसी देशविरोधी, परिवारवादी ताकतों के खिलाफ राजस्थान हमेशा खड़ा रहा है। 2014 में राजस्थान ने BJP को 25 की 25 सीटें दी थी। राजस्थान ने 2019 में भी NDA को 25 की 25 सीटें दी थी। अब 2024 में भी राजस्थान 25 की 25 सीटें देने का फैसला कर चुका है।प्रधानमंत्री ने कहा कि 2024 का ये चुनाव कोई सामान्य चुनाव नहीं है। ये चुनाव, विकसित राजस्थान और विकसित भारत के संकल्प का चुनाव है। पूरा राजस्थान कह रहा है 4 जून - 400 पार! उन्होंने कहा कि ये चुनाव - भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए है। भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए है। आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए है। किसानों की समृद्धि के संकल्प का चुनाव है। घर-घर नल से जल पहुंचाने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसका इंडी गठबंधन, देश के लिए नहीं बल्कि अपने स्वार्थ के लिए चुनाव लड़ रहा है। ये पहला ऐसा चुनाव है, जिसमें परिवारवादी पार्टियां अपने परिवार को बचाने के लिए रैली कर रही हैं। ये पहला ऐसा चुनाव है, जिसमें सारे भ्रष्टाचारी मिलकर भ्रष्टाचार पर कार्रवाई रोकने के लिए रैली कर रहे हैं।नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये पहला ऐसा चुनाव है, जिसमें कांग्रेस के बड़े नेता खुद के चुनाव जीतने की बात पर मौन हैं। लेकिन वो देश को धमकी दे रहे हैं कि अगर BJP जीती तो देश में आग लग जाएगी। मोदी 10 साल से इनकी लगाई हुई आग को बुझा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोगों ने अपने खतरनाक इरादे जताना शुरू कर दिए हैं। इसलिए देश को बचाने के लिए, देश का भविष्य बनाने के लिए, आपकी आने वाली पीढ़ी की जिंदगी के सुख और समृद्धि के लिए ये चुनाव बहुत अहम है। आज देश में BJP की मजबूत और निर्णायक सरकार की जरूरत और ज्यादा बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि आज देश में BJP का मतलब है - विकास और समाधान! लेकिन कांग्रेस का मतलब है - देश की हर बीमारी की जड़! आप देश की कोई भी बड़ी समस्या देखेंगे, तो उसकी जड़ में कांग्रेस पार्टी ही नजर आएगी।



hindi news portal lucknow

गन्ना बेल्ट को बनाया जाएगा ऊर्जा बेल्ट, ऐलान कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीता दिसानों का दिल

01 Apr 2024 ayushi tripathi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में किसानों पर निशाना साधा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश के किसानों को हजारों करोड़ रुपये की मदद मुहैया करवाई है। मेरठ के किसानों को किसान सम्मान निधि के जरिए 500 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गन्ने की खेती करने वाले किसानों के लिए ऐसा ऐलान किया है जिससे किसानों के चेहरे खिल गए है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया है कि गन्ने की खेती अब सिर्फ चीनी और गुड़ तक ही सीमित नहीं रहने वाली है। गन्ना का उपयोग अब ऊर्जा के लिए भी किया जा सकेगा।आने वाले समय में देश में गन्ना बेल्ट का विकास ऊर्जा बेल्ट के तौर पर भी किया जाएगा। ये घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरठ से अपनी चुनावी यात्रा का आगाज करते हुए कही है। उन्होंने ये भी कहा कि गन्ने से एथेनॉल का निर्माण होता है। इस एथेनॉल से गाड़ियों को चलाया जा सके, इस दिशा में भी काम किया जा रहा है।बता दें कि 10 वर्ष पहले महज 40 करोड़ लीटर एथेनॉल का निर्माण किया जाता था। मगर आज के समय में 500 करोड़ लीटर एथेनॉल का निर्माण हो रहा है। एथेनॉल के निर्माण के लिए किसानों को 70,000 करोड़ रुपये मिले है। एक समय था जब किसानों की चीनी मिलें बंद हो रही थी। इन मिलों को बेहद कम दाम पर बेचा जा रहा था।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में किसानों पर निशाना साधा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश के किसानों को हजारों करोड़ रुपये की मदद मुहैया करवाई है। मेरठ के किसानों को किसान सम्मान निधि के जरिए 500 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। उन्होंने कहा कि यूरिया की बोरी अन्य देशों में 3000 रुपये में मिलती है जबकि भारत में ये 90 प्रतिशत कम दाम में यानी महज 300 रुपये में किसानों को उपलब्ध कराई जा रही है। किसानों के भंडारण की समस्या को दूर करने के लिए भी योजना लाई गई है। भंडारण की समस्या को दूर करने के लिए देश भर में दो लाख से अधिक गोदाम का निर्माण किया जा रहा है। कम बिजली और अधिक रोशनी देने वाली एलईडी बल्ब भी किसानों को वितरित किए जाएंगे। उन्होंने अपी की कि पीएम सूर्यघर बिजली योजना का लाभ अधिक से अधिक लोग ले सकेंगे। सरकार के प्रयासों की बदौलत अब किसानों को मुफ्त बिजली दी जा सकेगी। बता दें कि इस दौरान प्रधानमंत्री ने मुजफ्फरनगर, बागपत, कैराना, मेरठ और बिजनौर के प्रत्याशियों का नाम लेते हुए कहा कि मैं आपसे प्रार्थना करने आया हूं कि हमारे साथियों को 19 व 26 अप्रैल को चाहे जितनी गर्मी हो वोट डालकर विजयी बनाएं।प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने कागजों से 10 करोड़ फर्जी लाभार्थी हटाए है। पहले ऐसी सरकार चलती थी, जिसमें जन्म नहीं लेने वाले लोगों के नाम पर भी पैरे भेजे जाते थे। ऐसे फर्जी नामों को मोदी सरकार ने हटाया है। इसके जरिए तीन लाख करोड़ रुपये बचाए गए है, जिनका लाभ फर्जी लोग ले सकते थे।उन्होंने कहा कि बीते वर्ष पहले लाल किले से मैंने कहा था कि यही समय है, सही समय है। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ रहा है और तेजी से निवेश हो रहा है। हर सेक्टर में विकास हो रहा है। युवाओं के लिए कई नए अवसर निकल रहे है। नारी शक्ति नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ रही है।



hindi news portal lucknow

मुख्तार अंसारी की मौत पर तेजस्वी ने उठाए सवाल, नित्यानंद राय का पलटवार, बोले- ये तुष्टीकरण की राजनीति

29 Mar 2024 ayushi tripathi

राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजद) नेता तेजस्वी यादव ने गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी की मौत की घटनाओं पर चिंता जताई और संवैधानिक संस्थानों से "ऐसे अजीब मामलों" पर स्वत: संज्ञान लेने का आह्वान किया। मुख्तार अंसारी की उत्तर प्रदेश के बांदा के एक अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई। इससे कुछ दिनों पहले उनके भाई और गाज़ीपुर के सांसद अफ़ज़ल अंसारी ने आरोप लगाया था कि उन्हें जेल में "धीमी गति से जहर" दिया जा रहा था। हालांकि, अधिकारियों ने इस आरोप से इनकार किया था। 63 वर्षीय अंसारी, मऊ सदर से पांच बार विधायक थे और 2005 से उत्तर प्रदेश और पंजाब में सलाखों के पीछे थे। उनके खिलाफ 60 से अधिक आपराधिक मामले लंबित थे।



hindi news portal lucknow

अरविंद केजरीवाल अब 1 अप्रैल तक ईडी की कस्टडी में रहेंगे

28 Mar 2024 ayushi tripathi

केजरीवाल ने कहा कि मेरे घर पर कई मंत्री आते हैं। बातचीत करते हैं। क्या ये बयान एक पद पर बैठे मुख्यमंत्री को गिरफ्तार करने के लिए पर्याप्त है? एसजी राजू ने बीच में केजरीवाल को टोका। लेकिन केजरीवाल ने कहा कि मैं आपका आशीर्वाद चाहता हूं। मुझे पांच मिनट तक बोलने दीजिए।अरविंद केजरीवाल अब 1 अप्रैल तक ईडी की कस्टडी में रहेंगे। दिल्ली की एक अदालत ने आबकारी नीति मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ईडी की हिरासत एक अप्रैल तक बढ़ा दी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख केजरीवाल की सात दिन की हिरासत का अनुरोध किया, लेकिन अदालत ने कहा कि उन्हें एक अप्रैल को दिन में 11 बजे अदालत में पेश करना होगा। ईडी ने केजरीवाल को राउज एवेन्यू अदालत की विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा के समक्ष पेश किया क्योंकि उनकी छह दिन की वर्तमान हिरासत बृहस्पतिवार को समाप्त हो रही थी। ईडी ने हिरासत के लिए नयी अर्जी में कहा कि हिरासत में पूछताछ के दौरान पांच दिन तक मुख्यमंत्री के बयान दर्ज किए गए और वह जवाब देने में टालमटोल कर रहे थे। ईडी ने कहा कि हिरासत अवधि के दौरान मामले से संबंधित तीन अन्य व्यक्तियों के बयान भी दर्ज किए गए। 28 मार्च को उनकी ईडी की कस्टडी खत्म हो रही थी। इसी दौरान दिल्ली के राउथ एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई भी चल रही थी। सुनवाई के दौरान आज केजरीवाल खुद ही अपने वकील बन गए। उन्होंने खुद कोर्ट रूम में जिरह की। पीएमएलए की स्पेशल कोर्ट में जस्टिस कावेरी बावेजा ने सुनवाई की शुरुआत की। ईडी की तरफ से एसजी राजू ने अपना तर्क रखा कि हमें और लोगों से इनका आमना-सामना करवाना है। इसलिए हमें और कस्टडी चाहिए। फिर दिल्ली सीएम के वकील गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल खुद अपनी बात कोर्ट के समक्ष रखना चाहते हैं। केजरीवाल ने अपना पहला प्वाइंट रखते हुए कहा कि ये केस 2 साल से चल रहा है। अगस्त 2022 को सीबीआई का केस फाइल हुआ था। फिर ईसीआईआर फाइल हुई थी। मुझे गिरफ्तार किया गया है। न तो मुझे किसी कोर्ट ने दोषी करार दिया है। न ही आरोप तय हुए है। ईडी लगभग 25 हजार पेज की केस फाइल कर चुकी है और बहुत सारे गवाह को ला चुकी है।



hindi news portal lucknow

ED के समन के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचे अरविंद केजरीवाल, दायर की याचिका

19 Mar 2024 [ स.ऊ.संवाददाता ]

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामले से संबंधित प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सभी समन को दिल्ली उच्च न्यायालय में चुनौती देकर अपना कानूनी बचाव बढ़ा दिया है। यह कदम केंद्रीय एजेंसी द्वारा उत्पाद शुल्क नीति से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में केजरीवाल को कई समन जारी करने की लगातार कोशिशों के जवाब में उठाया गया है। आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल की याचिका पर सुनवाई के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय की खंडपीठ बुधवार को बैठने वाली है। केजरीवाल की याचिका में ईडी द्वारा जारी समन की श्रृंखला को संबोधित करने के लिए न्यायिक हस्तक्षेप की मांग की गई है, जो चल रही कानूनी गाथा में एक महत्वपूर्ण विकास है।ईडी ने हाल ही में केजरीवाल को अपना नौवां समन जारी किया, जिससे उन्हें उत्पाद शुल्क नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 21 मार्च को पूछताछ के लिए उपस्थित होने के लिए मजबूर किया गया। यह समन दिल्ली की एक अदालत द्वारा केजरीवाल को दी गई जमानत के बाद जारी किया गया था, जो पिछले आठ समन में से छह का पालन न करने पर ईडी द्वारा दायर शिकायतों के जवाब में जारी किया गया था। केजरीवाल की उपस्थिति को मजबूर करने के लिए, ईडी ने पहले मामले में जारी समन का पालन करने में विफल रहने के लिए उनके खिलाफ मुकदमा चलाने की मांग की थी, जो केंद्रीय एजेंसी और दिल्ली के सीएम के बीच बढ़ते कानूनी गतिरोध को उजागर करता हैदिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने मंगलवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पर ‘राजनीतिक हथियार’ बनने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि उच्चतम न्यायालय ने एजेंसी के इस आरोप को खारिज कर दिया था कि बीआरएस नेता के. कविता अब समाप्त हो चुकी आबकारी नीति में लाभ के लिए आम आदमी पार्टी के नेताओं को 100 करोड़ रुपये का भुगतान करने में शामिल थीं। आतिशी ने संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि ईडी का मकसद दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार करने से रोकना है। तेलंगाना के पूर्व मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की बेटी और विधान परिषद सदस्य कविता को ईडी ने पिछले सप्ताह उनके हैदराबाद स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया था और वह 23 मार्च तक एजेंसी की हिरासत में हैं।



hindi news portal lucknow

भारत निर्वाचन आयोग ने लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया है

16 Mar 2024 ayushi tripathi

भारत निर्वाचन आयोग ने लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि पहला चरण 19 अप्रैल, दूसरा चरण 26 अप्रैल, तीसरा चरण 7 मई, चौथा चरण 13 मई, पांचवां चरण 20 मई, छठा चरण 25 मई और सातवां चरण 1 जून को होगा। जबकि चार जून को नतीजे घोषित होंगे। इसके अलावा चुनाव आयोग ने अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और सिक्किम में विधासभा चुनाव होने हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को देश के मतदाताओं से लोकतंत्र के महापर्व में भागीदार बनने और ऐसे नेतृत्व को वोट देने की अपील की। गृह मंत्री ने हैशटैग फिर एक बार मोदी सरकार के साथ एक्स पर पोस्ट किया, चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की घोषणा की है। विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के लिए चुनाव एक महापर्व है।

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि लोकसभा का चुनाव सात चरणों में होगा। हालांकि, इसको तीन या चार चरणों में किया जा सकता था।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सात चरणों का मतलब है कि लगभग सभी विकास कार्य रुक जाएंगे और लगभग 70-80 दिनों तक रुकने का मतलब है कि आप कल्पना कर सकते हैं कि देश कैसे प्रगति करेगा। उन्होंने चुनाव आचार संहिता का हवाला देते हुए कहा कि सामग्री की आपूर्ति नहीं की जाएगी, बजट खर्च नहीं होगा। इसलिए मेरे हिसाब से ये ठीक नहीं है। चुनाव तीन या चार चरणों के भीतर पूरे हो सकते थे।

लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा पर राजद सांसद मनोज कुमार झा ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि मुख्य चुनाव आयुक्त ने तारीखों का एलान कर दिया है। पिछली बार की तुलना में इस बार चुनाव की अवधि जून तक बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों में हमने चुनाव आयोग को कई शिकायतें दी थीं, लेकिन कभी कोई चर्चा नहीं हुई। लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा धन-बल है, जिसे हमने चुनावी बांड और घृणास्पद भाषण में देखा है। चुनाव आयोग को पक्षपात नहीं करना चाहिए, चाहे वह पार्टी का सामान्य कार्यकर्ता हो या प्रधानमंत्री, वरिष्ठ विपक्षी नेता या गृह मंत्री।

चुनाव की तारीखों के एलाने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP)- NDA आम चुनाव में उतरने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के सबसे बड़े महापर्व का शुभारंभ हो गया है। चुनाव आयोग ने 2024 के लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है। BJP-NDA इन चुनावों में उतरने के लिए पूरी तरह से तैयार है। सुशासन और जनसेवा के अपने ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर हम जनता-जनार्दन के बीच जाएंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि 140 करोड़ परिवारजनों और 96 करोड़ से अधिक मतदाताओं का भरपूर स्नेह और आशीर्वाद हमें लगातार तीसरी बार मिलेगा।

जम्मू-कश्मीर में इस दिन होगा लोकसभा चुनाव

जम्मू-कश्मीर में 19 अप्रैल से 20 मई तक पांच चरणों में मतदान होगा। पिछले लोकसभा चुनाव में भी जम्मू-कश्मीर में पांच चरणों में चुनाव संपन्न हुए थे और उस दौरान यहां छह सीटें थीं।

राजस्थान की सभी 25 सीटों पर चुनाव दो चरणों में होंगे। 12 सीटों के लिए पहला चरण 19 अप्रैल को होगा और 13 सीटों के लिए दूसरा चरण 26 अप्रैल को होगा।

महाराष्ट्र के 48 सीटों पर लोकसभा चुनाव का आयोजन 5 चरणों में किया जाएगा। पहले चरण का चुनाव 19 अप्रैल को 5 सीटों के लिए होगा। दूसरे चरण का चुनाव 26 अप्रैल को 8 सीटों के लिए होना है। इसके अलावा, तीसरे चरण का चुनाव 7 मई 11 सीटों के लिए आयोजित किया जाएगा। वहीं, चौथे चरण का चुनाव 13 मई को 11 सीटों के लिए और पांचवें चरण का चुनाव 20 मई को 13 सीटों के लिए आयोजित किया जाएगा।

18वीं लोकसभा के लिए बिहार में कुल 7 चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। 19 अप्रैल, 26 अप्रैल, 7 मई, 13 मई, 20 मई, 25 मई, 1 जून को बिहार में मतदान होगा।

उत्तर प्रदेश में सात चरणों में चुनाव प्रक्रिया संपन्न होगी। जनसंख्या के आधार पर सबसे बड़े राज्य में 80 लोकसभा सीटें हैं, जोकि देश में किसी भी राज्य में सबसे ज्यादा हैं।

पंजाब में सातवें चरण में एक मई को मतदान होगा। पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर एक ही चरण में वोट डाले जाएंगे।

चुनाव आयोग के मुताबिक, गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों के लिए मतदान सात मई को तीसरे चरण में होगा। वहीं, वोटों की गिनती एक साथ ही चार जून को होगी।

बंगाल में सात चरणों में होगा चुनाव

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगा।

पहला चरण- 19 अप्रैल, 3 सीटों पर

दूसरा चरण- 26 अप्रैल, 3 सीटों पर

तीसरा चरण- सात मई, 4 सीटों पर

चौथा चरण- 13 मई, 8 सीटों पर

पांचवा चरण- 20 मई, 7 सीटों पर

छठा चरण- 25 मई, 8 सीटों पर

सातवां चरण- एक जून, 9 सीटों पर

छत्तीसगढ़ में चुनाव का आयोजन तीन चरणों में होगा। पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल, दूसरे चरण का मतदान 26 अप्रैल और तीसरे चरण का मतदान 7 मई को किया जाएगा।

मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए 19 अप्रैल, 26 अप्रैल, 7 मई और 13 मई को वोटिंग होगी, जबकि चार जून को नतीजे सामने आएंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि दिल्ली में 26 मई को छठे चरण में सभी सीटों पर मतदान होगा।

भारत निर्वाचन आयोग ने लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों का एलान कर दिया है। सात चरणों में लोकसभा चुनाव संपन्न होंगे और चार जून को चुनाव परिणाम सामने आएंगे। मध्य प्रदेश की बात की जाए तो राज्य में शुरुआती चार चरणों में चुनाव होंगे।

आंध्र प्रदेश और ओडिशा में विधानसभा चुनाव 13 मई को होगा। 19 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम में मतदान होगा। वोटों की गिनती 4 जून को होगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया देश में 19 अप्रैल को पहले चरण का चुनाव होगा। इसके बाद 26 अप्रैल को दूसरा चरण, 7 मई को तीसरा चरण, 13 मई को चौथा चरण, 20 मई को पांचवां चरण, 25 मई को छठा चरण और सातवें चरण के लिए 1 जून को मतदान होगा।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि देश में सात चरणों में लोकसभा चुनाव होगा। जबकि 4 जून को नतीजों का एलान होगा।

चार राज्यों में होंगे विधानसभा चुनाव

चार राज्यों में होंगे विधानसभा चुनाव

चार राज्यों में होंगे विधानसभा चुनाव

Lok Sabha Election 2024: 26 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होंगे

26 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि चुनाव में खून-खराबे और हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है। हमें जहां से भी हिंसा की सूचना मिलेगी, हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

16 जून 2024 को समाप्त होगा लोकसभा का कार्यकाल

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा, हम देश को वास्तव में उत्सवपूर्ण, लोकतांत्रिक माहौल देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 17वीं लोकसभा का कार्यकाल 16 जून 2024 को समाप्त होने वाला है। आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम की विधानसभाओं का कार्यकाल भी जून 2024 में समाप्त होने वाला है।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि 12 राज्यों में महिला मतदाताओं का अनुपात पुरुष मतदाताओं से अधिक है।

देश में 19.47 करोड़ मतदाताओं की उम्र 20 से 29 वर्ष

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि हमारे पास 1.8 करोड़ पहली बार मतदाता हैं और 20-29 वर्ष की आयु के बीच 19.47 करोड़ मतदाता हैं।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि 85 वर्ष से अधिक उम्र के जितने भी मतदाता हैं उनके घर जाकर मतदान करवाया जाएगा। इस बार देश में पहली बार ये व्यवस्था एक साथ लागू होगी कि जो 85 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाता हैं और जिन्हें 40% से अधिक की विकलांगता है, उनके पास हम फॉर्म पहुंचाएंगे अगर वो मतदान का ये विकल्प चुनते हैं।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि हमारे पास 1.5 करोड़ मतदान अधिकारी और सुरक्षा कर्मचारी, 55 लाख ईवीएम, 4 लाख वाहन हैं।

85 साल से ज्यादा से मतदाताओं को घर बैठे मतदान की सुविधा मिलेगी। नॉमिनेशन से पहले चुनाव आयोग बुजुर्गों के लिए फॉर्म मुहैया कराएगा।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि देश में 49.7 करोड़ पुरुष मतदाता हैं। इसके अलावा 47.1 करोड़ महिला मतदाता हैं, जबकि 19.74 करोड़ युवा मतदाता हैं। साथ ही देश में 82 लाख से अधिक बुजुर्ग वोटर हैं।

राजीव कुमार ने कहा कि लोकसभा चुनाव में 55 लाख ईवीएम का इस्तेमाल होगा।

राजीव कुमार ने बताया कि देश में पहली बार 1.82 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे।

देश में साढ़े 10 लाख पोलिंग बूथ- राजीव कुमार

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि देश में साढ़े 10 लाख पोलिंग बूथ है।

राजीव कुमार बोले- हमारी टीम तैयार

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि हमारी टीम लोकसभा इलेक्शन के लिए तैयार है। भारत में चुनाव लोकतंत्र का पर्व है।

अपने आवास से रवाना हुए मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव

लोकसभा चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा से पहले मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार अपने आवास से रवाना हो गए।वेणुगोपाल बोले- हम चुनाव के लिए तैयार हैं

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि बीजेपी को चुनावी बॉन्ड देने के लिए जिस रास्ते का इस्तेमाल किया गया। वह साफ तौर पर भ्रष्टाचार है। आने वाले दिनों में देश को इसके बारे में और पता चलेगा, हम चुनाव के लिए तैयार हैं।

लोकसभा चुनाव का काउंटडाउन शुरू हो गया है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कुछ ही देर में तारीखों का एलान किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र को अंतिम रूप देने और चुनाव की रणनीति पर चर्चा के लिए 19 मार्च को दिल्ली में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक होगी।

चुनाव आयोग थोड़ी देर में करेगा चुनाव की तारीखों का एलान

भारतीय चुनाव आयोग आज दोपहर 3 बजे दिल्ली में लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान करेगा। चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर तैयारियां पूरी हो गई है।

यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय का कहना है कि हम चुनाव आयोग द्वारा कार्यक्रम की घोषणा का इंतजार कर रहे हैं, हम पूरी ताकत के साथ चुनाव में उतरेंगे।

लोकसभा चुनाव की तारीखों के एलान में कुछ ही देर का समय बाकी है। दोपहर 3 बजे चुनाव आयोग प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तारीखों की घोषणा करेगा।

आज यानी 16 मार्च, 2024 को लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान किया जाएगा। एक बार चुनावी तारीखों की घोषणा होने पर आदर्श चुनाव आचार संहिता (Model Code of Conduct) भी लागू हो जाएगी। आचार संहिता होती क्या है और राजनीतिक दलों को कौन-कौन से नियमों के पालन करने होते है।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों की घोषणा करने से पहले कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आगामी चुनावों के लिए तैयार है। भारत जोड़ो यात्रा ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए कांग्रेस के एजेंडे को उजागर किया है। कांग्रेस गारंटी लेकर आई है, देश की जनता को कांग्रेस की गारंटी पर भरोसा है।

लोकसभा चुनाव की तारीखों के एलान से पहले मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार भारत निर्वाचन आयोग के कार्यालय पहुंचे।

कांग्रेस नेता शशि थरुर ने कहा कि भाजपा सरकार ने पिछले 10 वर्षों में तीन वादे तोड़े हैं। भाजपा ने केरल में एक AIIMS बनाने का वादा किया था, केरल में अभी तक कोई AIIMS नहीं है। उन्होंने केरल में एक राष्ट्रीय आयुर्वेद विश्वविद्यालय बनाने का वादा किया था। उन्होंने उसे गुजरात में स्थापित कर दिया है। किसी को भाजपा के किसी भी वादे पर भरोसा क्यों करना चाहिए जब उसका ट्रैक रिकॉर्ड शून्य है।

12 लाख से अधिक मतदान केंद्रों पर होने वाले आगामी चुनावों के लिए लगभग 97 करोड़ लोग पात्र मतदाता हैं।

चुनाव आयोग आज लोकसभा चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा करेगा। इसके अलावा देश के कुछ राज्यों में चुनाव की तारीखों का भी आज एलान होगा। वर्तमान लोकसभा का कार्यकाल 16 जून को समाप्त हो रहा है। साथ ही आंध्र प्रदेश, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और ओडिशा में विधानसभाओं का कार्यकाल जून में अलग-अलग तारीखों पर समाप्त हो रहा है।

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव पर राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने कहा कि मेरी दो प्राथमिकताएं होंगी कि चुनाव में हिंसा और भ्रष्टाचार खत्म हो। मैं लोगों के लिए मौजूद रहूंगा।

निर्वाचन आयोग द्वारा आज लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा की जाएगी। राजद नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि इस बार देश की जनता बीजेपी के खिलाफ लड़ेगी। हर कोई बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिए प्रतिबद्ध है।

छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम अरुण साव ने बताया कि भाजपा चुनाव के लिए तैयार है। लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा ने 11 उम्मीदवारों के नाम का एलान कर दिया है। कांग्रेस के पास कोई मुद्दा उठाने के लिए नहीं है, उन्हें विकास के मुद्दों के बारे में बात करनी चाहिए, लेकिन वे नेताहीन और दृष्टिहीन हैं और इसलिए कोई भी उनके टिकट पर चुनाव नहीं लड़ना चाहता।

आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दो दिवसीय दौरे पर दिल्ली पहुंचेंगे।

लोकसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र जारी होने से पहले मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि आज महत्वपूर्ण दिन है। देश के लिए आज दोपहर 3 बजे से आम चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की जाएगी।

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता कौशल किशोर ने कहा कि आदर्श आचार संहिता का पालन करते हुए हम पीएम मोदी का संदेश फैलाने के लिए जनता के बीच जाएंगे। मोहनलालगंज में मुझे जनता का समर्थन मिल रहा है, जिसमें जनता के 10,000 लोग मेरे नामांकन शुल्क के लिए एक-एक रुपये जमा कर रहे हैं। मैं उनके प्रति अपना आभार व्यक्त करता हूं।

साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव सात चरणों में हुए थे, जो 11 अप्रैल से 19 मई तक चले थे। जबकि परिणाम 23 मई को घोषित किए गए थे।

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने घाटलोदिया क्षेत्र कार्यालय में गांधीनगर संसदीय सीट का उद्घाटन किया।

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने को लेकर सितंबर तक समय सीमा तय कर रखी है। 2019 में लोकसभा सहित चार राज्यों के विधानसभा चुनावों की घोषणा 10 मार्च को की गई थी। इसके चलते इन चुनावों की घोषणा 10 मार्च के आसपास ही होने की अटकलें लगाई जा रही थी।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का कहना है कि चुनाव आयोग को निष्पक्ष होना चाहिए। इसे किसी पार्टी का नहीं होना चाहिए। जब आचार संहिता लागू होती है तो सत्ताधारी दल की कोशिश होती है मतदाताओं को लुभाएं। चुनाव आयोग का आचरण सभी के लिए समान और निष्पक्ष होना चाहिए।

चुनावी बॉन्ड पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी का कहना है कि हमने हमेशा सत्ताधारी पार्टी द्वारा लाए गए चुनावी बॉन्ड का विरोध किया है। सुप्रीम कोर्ट ने इसे असंवैधानिक कहा है। सुप्रीम कोर्ट की यह टिप्पणी हमें बताती है कि यह सरकार कितनी असफल है।

चुनाव आयोग द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, हम चाहते हैं कि आचार संहिता लगे और जल्द से जल्द चुनाव हो, हिमाचल की जनता राज्य सरकार के खिलाफ वोट करेगी। लोग पिछले 15 महीनों में किए गए झूठे वादों के लिए राज्य सरकार को करारा जवाब देने का इंतजार कर रहे हैं।

2024 का लोकसभा चुनाव कई मामलों में काफी रोचक रहने वाला है। क्योंकि इस बार राजग गठबंधन जहां चार सौ के पार के लक्ष्य को लेकर मैदान में उतर रहा है, वहीं आइएनडीआइए के सामने अपनी पिछली स्थिति को बरकरार रखते हुए आगे बढ़ने की चुनौती है। 2019 की तरह 2024 के चुनावी अखाड़े में भी एक ओर पीएम मोदी हैं तो दूसरी ओर राहुल गांधी हैं।

ओडिशा, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम विधानसभा चुनाव तो पहले से होने तय है, जबकि इसके साथ जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनाव कराने की भी अटकलें लगाई जा रही हैं। हालांकि इसकी संभावना काफी कम है। सुरक्षा कारणों से यहां बाद में चुनाव कराए जा सकते हैं।

चुनाव आयुक्त के पद पर नियुक्त किए गए ज्ञानेश कुमार और सुखवीर सिंह संधू ने शुक्रवार को अपना कामकाज संभाल लिया। इसके बाद दोनों ने चुनाव से जुड़ी तैयारियों में हिस्सा भी लिया। इसके बाद ही आयोग ने चुनाव कार्यक्रम के भी 16 मार्च को घोषित करने का एलान किया।

माना जा रहा है कि 2019 की तरह 2024 का लोकसभा चुनाव भी सात चरणों में होंगे। इस दौरान पहले चरण में पश्चिम उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना सहित पूर्वोत्तर के राज्यों के चुनाव हो सकते है। दिल्ली में इस बार तीसरे या चौथे चरण में चुनाव हो सकता है। 2019 में दिल्ली में छठे चरण में चुनाव हुए थे।

लोकसभा चुनाव के साथ-साथ चार राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों की भी घोषणा की जाएगी। अरुणाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम में अप्रैल और मई में मतदान होने की संभावना है।



hindi news portal lucknow

ईवीएम के कामकाज से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर 10 से अधिक मामलों की जांच की गई है: न्यायमूर्ति खन्ना

16 Mar 2024 [ स.ऊ.संवाददाता ]

चुनाव आयोग ने बताया कि लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से 1 जून तक 7 चरणों में होंगे । वोटों की गिनती 4 जून को होगी। पहला चरण 19 अप्रैल, दूसरा चरण 26 अप्रैल, तीसरा चरण 7 मई, चौथा चरण 13 मई, पांचवां चरण 20 मई, छठा चरण 25 मई और सातवां चरण 1 जून को होगा। इस बीच, सुप्रीम कोर्ट ने पहले शुक्रवार को दो रिट याचिकाएं खारिज कर दीं, एक 19 लाख से अधिक ईवीएम के गायब होने की आशंका पर और दूसरी याचिका ईवीएम पर अपना विश्वास जताते हुए चुनाव कराने के लिए मतपत्र का उपयोग करने की मांग थी। 19 लाख गायब ईवीएम याचिका पर फैसला सुनाते हुए शीर्ष अदालत ने आशंकाओं और आरोपों को पूरी तरह से निराधार बताया, जिससे मामला भारत के चुनाव आयोग (ईसीआई) के पक्ष में बंद हो गया। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 61ए को अलग करते हुए मतपत्र का उपयोग करके चुनाव कराने के संबंध में एक अन्य याचिका पर भी विचार करने से इनकार करते हुए, न्यायमूर्ति खन्ना ने कहा कि ईवीएम के कामकाज से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर 10 से अधिक मामलों की जांच की गई है।



12345678910...