राष्ट्रीय

hindi news portal lucknow

दिल्ली हिंसा: PM मोदी ने की स्थिति की समीक्षा, शांति एवं भाईचारा बनाये रखने की अपील की

26 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। दिल्ली में हिंसा की घटनाओं के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को लोगों से शांति एवं भाईचारा बनाये रखने की अपील की। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में वर्तमान स्थिति की गहन समीक्षा की है। मोदी ने यह भी कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि जल्दी शांति एवं सामान्य स्थिति बहाल हो।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में वर्तमान हालात की गहन समीक्षा की। पुलिस एवं अन्य एजेंसियां सामान्य स्थिति सुनिश्चित करने के लिये काम कर रही हैं।’’ मोदी ने कहा, ‘‘हमारे संस्कार के मूल में शांति, सौहार्द है। मैं दिल्ली के बहनों, भाइयों से शांति और भाईचारा बनाये रखने की अपील करता हूं।’’गौरतलब है कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया था। उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया। इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 20 लोगों की जान चली गई और करीब 200 लोग घायल हो गए।



hindi news portal lucknow

1984 जैसे हालात पैदा नहीं होने देंगे, भड़काऊ भाषण देने वालों के खिलाफ दर्ज हो FIR: HC

26 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में हुई हिंसा मामले में हाई कोर्ट ने बुधवार को सख्त टिप्पणी की। कोर्ट ने कहा कि देश में एक बार फिर 1984 जैसे हालात नहीं होने देंगे। इस न्यायालय की निगरानी में तो बिल्कुल भी नहीं। इस दौरान कोर्ट में कपिल मिश्रा द्वारा दिए गए बयान का वीडियो भी चलाया गया। जिसके बाद कोर्ट ने वीडियो में दिख रहे पुलिस अधिकारी का नाम पूछा है।वहीं हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में सेना की तैनाती की दलील पर होई कोर्ट सवाल नहीं खड़ा करना चाहता है। कोर्ट ने कहा कि अभी एफआईआर दर्ज करने पर ध्यान देना की जरूरत है। फिलहाल मामले को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने पुलिस को प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर विवेकपूर्ण फैसला करने और इस बारे में बृहस्पतिवार को अदालत को अवगत कराने को कहा।

दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि वह सिर्फ तीन वीडियो क्लिप के आधार पर कार्यवाही आगे नहीं बढ़ा रही है और पुलिसऐसी अन्य क्लिप पर भी प्राथमिकी दर्ज करे।

प्राथमिकी दर्ज करें (तीनों भाजपा नेताओं द्वारा दिए गए भाषणों पर), दिल्ली हाई कोर्ट ने विशेष पुलिस आयुक्त से यह बात पुलिस आयुक्त को बताने के लिए कहा।

दिल्ली हाई कोर्ट ने विशेष पुलिस आयुक्त से उसके आक्रोश से पुलिस आयुक्त को अवगत कराने को कहा।

सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि पुलिस पिकनिक नहीं मना रही, उनपर तेजाब से हमले हो रहे हैं।

याचिकाकर्ता के वकील कोलिन गोन्जाल्विस ने कहा कि पुलिस को बिना किसी डर या दबाव के कानून की रक्षा करनी चाहिए।

हाई कोर्टने पूछा कि क्या तीन में से किसी नेता ने कथित आपत्तिजनक बयान से इनकार किया है; याचिकाकर्ता के वकील ने कहा नहीं, वे इसमें गर्व महसूस करते हैं।

राहुल मेहरा ने हाई कोर्टमें कहा कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा में शामिल प्रत्येक व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए।



hindi news portal lucknow

शाहीन बाग केस: SC ने हिंसा की घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण बताया, अगली सुनवाई 23 मार्च को

26 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में हिंसा की घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण बताया लेकिन उनसे संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई से इनकार किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह हिंसा पर याचिकाओं पर विचार करके शाहीन बाग प्रदर्शनों के संबंध में दायर की गई याचिकाओं के दायरे में विस्तार नहीं करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई 23 मार्च के लिए तय कर दी। कोर्ट दिल्ली के शाहीन बाग इलाके से नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों को हटाने की याचिका पर सुनवाई कर रहा है।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट को बताया कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने हिंसा के संबंध में याचिकाओं पर सुनवाई की है। उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली हिंसा से संबंधित याचिकाओं का निस्तारण करते हुए कहा कि उच्च न्यायालय इस मामले पर विचार करेगा। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि यह सुनिश्चित करना कानून लागू करने वाले प्रशासन का काम है कि माहौल शांतिपूर्ण रहे। सॉलिसिटर जनरल ने उच्चतम न्यायालय से दिल्ली हिंसा से संबंधित प्रतिकूल टिप्पणियां न करने का अनुरोध किया क्योंकि इससे पुलिस बल हतोत्साहित होगा। उच्चतम न्यायालय के न्यायमूर्ति के. एम. जोसेफ ने कहा कि पुलिस ने पेशेवर रवैया नहीं अपनाया।शाहीन बाग में पिछले 70 दिनों से प्रदर्शन जारी है जिसकी वजह से कालिंदी कुंज रोड बंद है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सार्वजनिक सड़क प्रदर्शन के लिए नहीं है। इसके साथ कोर्ट ने यह भी कहा कि अभी माहौल इस केस की सुनवाई के लिए ठीक नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थों की दी रिपोर्ट भी देखी।



hindi news portal lucknow

ट्रंप ने PM मोदी को बताया अद्भुत नेता, कहा- भारत के लिए दिन-रात काम करते हैं

24 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, सीएम विजय रूपाणी और राज्यपाल आचार्य देवव्रत भी उपस्थित थे। जहां पर अमेरिक और भारत के राष्ट्रगान से कार्यक्रम की शुरुआत हुई।

हम शानदार व्यापार समझौता करेंगे, प्रधानमंत्री मोदी सख्त वार्ताकार हैं: ट्रंप

भारत-अमेरिका आतंकवाद और उसकी विचाराधारा से लड़ने को प्रतिबद्ध हैं, इसीलिए मेरी सरकार आतंकवादी समूहों से निपटने के लिए पाकिस्तान के साथ काम कर रही है : ट्रंप

भारत और अमेरिका अपने लोगों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से बचाने को प्रतिबद्ध हैं: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप

भारत ने व्यक्तिगत स्वतंत्रता, कानून के शासन, हर इंसान की गरिमा को अपनाया है, जहां लोग साथ में सौहार्द के साथ अपने धर्म का पालन कर सकते हैं: ट्रंप।

डीडीएलजे जैसी बेहतरीन रोमांटिक फिल्मों सहित भारत में हर साल 2000 फिल्में बनाई जाती हैं: ट्रंप

लोगों को नियंत्रण में रखकर विकास करने वाले और उन्हें स्वतंत्रता देकर भारत की तरह विकास करने वाले देशों में अंतर है: ट्रंप

भारत और अमेरिका के बीच स्वाभाविक और स्थायी मित्रता है : ट्रंप

अगले 10 साल में आपके देश से अत्यधिक गरीबी दूर हो जाएगी : अमेरिकी राष्ट्रपति ने ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में कहा

मोदी ने एक विनम्र चायवाले के तौर पर शुरुआत की, उन्होंने चाय की एक दुकान में काम किया, वह इस बात का बेहतरीन उदाहरण हैं कि भारतीय किसी भी मुकाम पर पहुंच सकते हैं: ट्रंप

अमेरिका हमेशा भारत का एक वफादार ओर निष्ठावान मित्र रहेगा, भव्य स्वागत के लिए शुक्रिया: ट्रंप

मोदी एक अद्भुत नेता हैं, भारत के लिए दिन-रात काम करते हैं: ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मोटेरा स्टेडियम में कहा :नमस्ते, यहां होना मेरे लिए बेहद सम्मान की बात है।

मैं खुश हूं कि इवांका ट्रंप दो साल बाद फिर से भारत आईं हैं, हमारे देश में स्वागत है : प्रधानमंत्री मोदी ने ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में कहा

भारत और अमेरिका के संबंध राष्ट्रपति ट्रंप के कार्यकाल में गहरे हुए हैं और उनका यहां आना द्विपक्षीय संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत को दर्शाता है: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने स्वागत करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम का जो नाम है- नमस्ते, उसका मतलब बहुत गहरा है, ये दुनिया की प्राचीनतम भाषाओं में से एक, संस्कृत भाषा का शब्द है। इसका भाव है- सिर्फ व्यक्ति को ही नहीं, उसके भीतर व्याप्त देवत्व को भी नमन।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की ये यात्रा, भारत और अमेरिका के संबंधों का नया अध्याय है। एक ऐसा अध्याय जो अमेरिका और भारत के लोगों की प्रगति और समृद्धि का नया दस्तावेज बनेगा।

ये धरती गुजरात की है लेकिन आपके स्वागत के लिए जोश पूर हिन्दुस्तान का है। राष्ट्रप​ति ट्रंप का अपने परिवार के साथ यहां आना भारत-अमेरिका रिश्तों को एक परिवार जैसी मिठास और घनिष्ठता की पहचान दे रहा है।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमस्ते ट्रंप का जिक्र किया। नरेंद्र मोदी ने कहा कि पांच महीने पहले हाउडी मोदी कार्यक्रम के जरिए अपनी यात्रा की शुरुआत की थी और आज पोटस ट्रंप ने नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम के जरिए अपनी यात्रा की शुरुआत की।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में पहुंचे। जल्द ही यहां ट्रम्प का आयोजन होने वाला है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प और पीएम मोदी ने अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम के लिए रवाना।



hindi news portal lucknow

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत के लिए भारत तैयार

24 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

अहमदाबाद में अमरीकी राष्ट्रपति के ऐतिहासिक स्वागत की तैयारियां पूरी हो चुकी है। एयरपोर्ट से लेकर मोटेरा स्टेडियम तक पूरा रास्ता स्वागत संदेशों से पटा पड़ा है। पूरे शहर में सफाई से लेकर आपातकालीन स्वास्थ्य और सुरक्षा की अभूतपूर्व व्यवस्था की गई है... 22 किलोमीटर के रोड शो में प्रेसीडेंट ट्रम्प उनकी पत्नी मिलेनिया का स्वागत करने लोग सड़कों पर उतरेंगे। सड़को पर खड़े लोगो को कोई दिक्कत न हो इसके लिए जगह पर पानी का इंतजाम किया गया है। सुरक्षा के लिए व्यापक तौर पर पुलिस बल तैनात है।

महिला पुलिस को भी बड़ी तादात में लगाया गया है। रोड शो में आने वाले लोगो की जांच के लिए पूरे रुट में जांच पॉइंट बनाये गए हैं। ट्रम्प और पीएम मोदी के मोटेरा में होने वाले कार्यक्रम में 1.20 लाख मेहमानों को आमंत्रित किया गया है। सभी को 2200 बसों में ले जाया जाएगा। गाड़ियों की पार्किंग के लिए 28 स्थान बनाए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के एक ट्वीट को साझा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आगमन पर उत्सुकता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक कार्यक्रम की शुरूआत अहमदाबाद से हो रही है। वे दो दिन हमारे साथ होंगे, यह सम्मान की बात है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ उनकी बेटी इवांका भी अपने पति के साथ भारत आ रही हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के साथ अपनी मुलाकात को स्नेहपूर्वक याद किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है- हैदराबाद में वैश्विक उद्यमशीलता शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के दो साल बाद मेरे लिए दोबारा भारत जाना सम्मान की बात। दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच मैत्री इससे अधिक मजबूत कभी नहीं रही.



hindi news portal lucknow

अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए उत्साहित है भारत: मोदी

23 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का स्वागत करने के लिए भारत उत्साहित है। अमेरिकी राष्ट्रपति 24 और 25 फरवरी को भारत की यात्रा पर होंगे। मोदी ने टि्वटर पर कहा, ‘‘भारत डोनाल्ड ट्रम्प का स्वागत करने के लिए उत्साहित है। यह सम्मान की बात होगी कि वह कल हमारे साथ होंगे, जिसकी शुरुआत अहमदाबाद में ऐतिहासिक कार्यक्रम से होगी।’’प्रधानमंत्री गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के उस ट्वीट पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें उन्होंने कहा, ‘‘पूरा गुजरात एक आवाज में कहता है -नमस्ते ट्रम्प।’’



hindi news portal lucknow

आईजेसी का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, कहा- न्यायपालिका पर हर भारतीय की आस्था

22 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विकास और पारिस्थितिक सुरक्षा के बीच संतुलन बनाने के लिए पर्यावरण न्यायशास्त्र को पुनर्परिभाषित करने में भारतीय न्यायपालिका की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने उच्चतम न्यायालय में न्यायपालिका और बदलती दुनिया विषय पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय न्यायपालिका सम्मेलन 2020 के उद्घाटन समारोह में लैंगिक न्याय का उल्लेख करते हुए कहा कि दुनिया का कोई भी देश या समाज इसके बिना समग्र विकास को प्राप्त करने का दावा नहीं कर सकता है। उन्होंने समलैंगिकों के कानून, तीन तलाक और दिव्यांगों के अधिकारों का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने सैन्य सेवाओं में महिलाओं को अधिकार देने और महिलाओं को 26 सप्ताह तक मातृत्व अवकाश प्रदान करने के लिए भी कदम उठाए हैं।

उन्होंने कहा, इसके अलावा, बदलते समय के साथ डेटा संरक्षण, साइबर-अपराध न्यायपालिका के सामने नयी चुनौतियां पेश कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने भारतीय न्यायालयों द्वारा हाल के न्यायिक फैसलों का उल्लेख करते हुए कहा कि 1.3 अरब भारतीयों ने उन फैसलों के परिणामों के बारे में कई आशंकाएं व्यक्त किए जाने के बावजूद उन्हें खुले दिल से स्वीकार किया है। इस मौके पर भारत के प्रधान न्यायाधीश शरद एस बोबडे ने कहा कि भारत विभिन्न संस्कृतियों का समागम है, जिसमें मुगलों, डच, पुर्तगालियों और अंग्रेजों की संस्कृतियां समाहित हैं। बोबडे ने कहा, संविधान ने एक मजबूत तथा स्वतंत्र न्यायपालिका का सृजन किया है और हमने इस मूलभूत विशेषता को अक्षुण्ण रखने के लिये प्रयासरत हैं। इससे पहले केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उच्चतम न्यायालय के फैसलों का जिक्र करते हुए कहा कि आतंकवादियों और भ्रष्ट लोगों को निजता का कोई अधिकार नहीं है और ऐसे लोगों को व्यवस्था का दुरुपयोग नहीं करने देना चाहिये। प्रसाद ने कहा कि शासन की जिम्मेदारी निर्वाचित प्रतिनिधियों और निर्णय सुनाने का काम न्यायाधीशों पर पर छोड़ देना चाहिये। कानून मंत्री ने उच्चतम न्यायालय में न्यायपालिका और बदलती दुनिया विषय पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय न्यायिक सम्मेलन 2020 में कहा कि लोकलुभावनवाद को कानून के तय सिद्धांतों से ऊपर नहीं होना चाहिये।



hindi news portal lucknow

पीएम मोदी ने 'हुनर हाट' का किया दौरा, लिट्टी-चोखा और कुल्हड़ चाय का लिया स्वाद

19 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ओर से आयोजित ‘हुनर हाट’ का बुधवार को दौरा किया और देश के कोने-कोने से आए कारीगरों, शिल्पकारों एवं दस्तकारों के उत्पादों की तारीफ करते हुए कहा कि मंत्रालय के इस प्रयास से बहुत सारे लोगों को बाजार उपलब्ध हुआ है।इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहारी व्यंजन लिट्टी-चोखा स्टॉल पर भी गए। यहां पर उन्होंने लिट्टी- चोखा और कुल्हड़ चाय का स्वाद लिया। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री ने ‘हुनर हाट’ में मौजूद इस स्टॉल पर रुककर लिट्टी-चोखा खाया, जिसका उन्होंने भुगतान भी किया। इसके साथ ही उन्होंने दो कुल्हड़ चाय भी ली जिसमें से एक उन्होंने स्वयं ली और दूसरी चाय नकवी को दी। मोदी ने चाय के लिए भी भुगतान किया।

पीएम मोदी इंडिया गेट के निकट राजपथ पर लगे ‘हुनर हाट’ में पहुंचे और वहां के विभिन्न स्टॉल में मौजूद उत्पादों को देखा। उनके साथ अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी मौजूद थे। इस दौरान पीएम मोदी कुछ संगीत वाद्य यंत्रों पर हाथ भी आजमाए। प्रधानमंत्री के वहां पहुंचने के साथ भारी भीड़ जमा हो गई। लोगों ने ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगाए और कई ने तो उनके साथ सेल्फी भी खिंचवाई।

गौरतलब है कि 'कौशल को काम' थीम पर आधारित यह 'हुनर हाट' 13 फरवरी से 23 फरवरी 2020 तक आयोजित किया गया है जहां देश भर के 'हुनर के उस्ताद' दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं । इनमे 50 प्रतिशत से अधिक महिला दस्तकार शामिल हैं।

इस दौरान केंद्रीय मंत्री नकवी ने कहा कि पिछले लगभग तीन वर्षों में हुनर हाट के माध्यम से लगभग तीन लाख दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों को रोजगार और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गए हैं। इनमे बड़ी संख्या में देश भर की महिला दस्तकार भी शामिल हैं। इससे पहले दिल्ली, मुंबई, प्रयागराज, लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, हैदराबाद, पुडुचेरी, इंदौर आदि स्थानों पर हुनर हाट आयोजित किए जा चुके हैं। अगले हुनर हाट का आयोजन रांची में 29 फरवरी से 8 मार्च, 2020 तक और फिर चंडीगढ़ में 13 मार्च से 22 मार्च, 2020 तक किया जाएगा।

आने वाले दिनों में हुनर हाट का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुवनेश्वर, अजमेर आदि में किया जायेगा।



hindi news portal lucknow

UP Budget 2020: योगी सरकार का चौथा बजट पेश, 5.25 लाख करोड़ रुपये को मंजूरी; स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था पर फोकस

18 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ। UP Government Buget 2020 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश की सरकार आज यानि मंगलवार को विधानमंडल के दोनों सदनों में वित्तीय वर्ष 2020-21 का बजट पेश किया। मंत्री परिषद ने कैबिनेट की बैठक में लगभग 5.25 लाख करोड़ रुपए के बजट को मंजूरी दी है। सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ वित्त मंत्री सुरेश खन्ना लाल सूटकेस के साथ विधानसभा पहुंचे।वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट पेश करते हुये योगी सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान किए गए विकास कार्यों की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने अपनी सरकार की प्राथमिकताओं का जिक्र भी किया। विकास के प्रति योगी सरकार की प्रतिबद्धता का जिक्र करते हुए सुरेश खन्ना ने ये पंक्तियां पढ़ीं...'गैर परों से उड़ सकते हैं, हद से हद की दीवारों तक, अंबर तक तो वही उडे़ंगे, जिनके अपने पर होंगे।' इस बार के बजट में 10 हजार 967 करोड़ 87 लाख की नई योजनाएं शामिल की गई। बता दें, बजट आकार का अनुमान पहले ही लगा लिया गया था।

लखनऊ सिविल अस्पताल के लिए 20 करोड़

ट्रामा सेंटर के लिए 12.50 करोड़

केजीएमयू के लिए 919 करोड़

एसजीपीजीआइ के लिए 820 करोड़

कैंसर संस्थान लखनऊ के लिए 187 करोड़

राम मनोहर लोहिया के लिए 477 करोड़

जिला अस्‍पतालों के लिए 70 करोड़

ग्रामीण सीएचसी बेहतरी के लिए 50 करोड़

सीएचसी केंद्रों के लिए 65 करोड़

मेडिकल कॉलेज आजमगढ़ के लिए 97 करोड़

अस्‍पताल स्‍थापना के लिए 30 करोड़

इटावा स्थित मेडिकल कॉलेज के लिए 309 करोड़

गोरखपुर और भदोही में पशु चिकित्सा महाविद्यालयों की स्थापना के लिए 40 करोड़

नव नवसृजित जिलों में अस्‍पताल बनेगा

100 बेड संयुक्‍त चिकित्‍सालय बनेगा

सीएम शिक्षुता प्रोत्‍साहन योजना जा रहे

हरदोई में मेडिकल कालेज प्रस्तावित

पुलिस विभाग की अनावासीय भवनों के लिये 650 करोड़,

पुलिस कॉलोनियों के लिये 600 करोड़

नवसृजित जनपदों में पुलिस विभाग के लिये 300 करोड़

पुलिस अपग्रेडेशन के लिये 122 करोड़

सेफ सिटी लखनऊ योजना के लिये 97 करोड़

यूपी पुलिस फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी के लिये 20 करोड़ की व्यवस्था।

धार्मिक स्थलों पर फोकस

विधानसभा में गूंजा मंगटा गांव का प्रकरण, सीएम योगी ने कहा-आग में घी डालने का काम बंद करे विपक्ष

विधानसभा में गूंजा मंगटा गांव का प्रकरण, सीएम योगी ने कहा-आग में घी डालने का काम बंद करे विपक्ष

यह भी पढ़ें

अयोध्या में पर्यटन के लिहाज से हाई लेवल सुविधाओं के विकास के लिए 85 करोड़

अयोध्या एयरपोर्ट के लिए 500 करोड़

तुलसी स्मारक भवन के लिए 10 करोड़

वाराणसी में संस्कृति केंद्र की स्थापना के लिए 180 करोड़

पर्यटन इकाई के प्रोत्साहन के लिए 50 करोड़ की व्यवस्था

गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वाटर स्पोर्ट्स के लिए 25 करोड़ रुपये की व्यवस्था

काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़ रुपये दिए गए

मेरठ, गाजियाबाद, फिरोजाबाद, अयोध्या, गोरखपुर, मथुरा-वृंदावन और शाहजहांपुर को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जायेगा।

बजट में युवाओं पर फोकस

बरोजगारों के लिए खुलेंगे नए प्रशिक्षण

प्रयागराज में लॉ यूनिवर्सिटी खुलेगी

ऑफ डूइंग बिजनेस में सुधार

तीन साल में दो इंवेस्‍टर समिट

वाराणसी में संस्‍कृति केंद्र की स्‍थापना के लिए 180 करोड़

विधि विज्ञान प्रयोगशाला के लिए निर्माण हेतु 60 करोड़

सीएम शिक्षता प्रोत्साहन योजना लाएंगे।

अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए 20 करोड़

प्रयागराज में विधि विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए 20 करोड़

प्रयागराज में लॉ यूनिवर्सिटी, गोरखपुर में आयुष विश्वविद्यालय, सहारनपुर, अलीगढ़, आजमगढ़ में तीन नए राज्य विश्वविद्यालय और प्रदेश में पुलिस फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी की स्थापना प्रस्तावित है।

अन्‍य बजट

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अखिलेश को डरा हुआ व ओवैसी को बताया देश के लिए खतरा

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अखिलेश को डरा हुआ व ओवैसी को बताया देश के लिए खतरा

यह भी पढ़ें

अटल आवासीय स्‍कूल को 270 करोड़

पीएम मातृ योजना के 291 करोड़

राज्‍य सड़क निधि को 1500 करोड़

मार्ग अनुरक्षण के लिए 3524 करोड़

कोर रोड नेटवर्क के लिए 830 करोड़

मुख्‍य जिला विकास को 755 करोड़

बुंदेलखंड निधि के लिए 210 करोड़

बुंदेलखंड में पानी के लिए तीन हजार 300 करोड़

केंद्रीय मार्ग योजना को 2080 करोड़

पुलों के निर्माण के लिए 2529 करोड़

अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण के लिए बजट

पीएम जन विकास कार्यक्रम को 78.3 करोड़

मथुरा में कॉलेज ऑफ डेरी साइंस की स्थापना के लिए 10 करोड़

पीएम आवास योजना से 5 लाख घर

घर के लिए 6240 करोड़ की व्‍यवस्‍था

कानपुर मेट्रो के लिए 358 करोड़

एक हजार 483 करोड़ 80 लाख रुपये

3.18 लाख करोड़ से ज्‍यादा राजस्‍व कर

मुख्यमंत्री युवा उद्यमिता विकास अभियान के लिए 50 करोड़

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए 35 करोड़ रुपये

गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के दोनों ओर इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के लिए 200 करोड़ों रुपए

बलिया लिंक एक्सप्रेस वे के लिए 200 करोड़ों रुपए

मनरेगा योजना के लिए 4800 करोड़

यूपी में देश का सबसे लंबा गंगा एक्सप्रेस वे का निर्माण मेरठ से प्रयागराज तक कराया जाएगा।

स्वच्छ भारत मिशन के लिए 5791 करोड़ रुपये

आगरा मेट्रो के लिए 286 करोड़ रुपये।

कानपुर मेट्रो के लिए 358 करोड़ रुपये।

वाराणसी, प्रयागराज, लखनऊ और आगरा इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी।

वार्किंग वुमेन को रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक घर पहुंचाने के लिए 112 नंबर पर सिर्फ कॉल करना पड़ता है। पुलिस इसके बाद उन्हें उनके घर पहुंचाएगी।

गन्ना किसानों के लिए सरकार का तोहफा: शुगर मिलों के लिए बजट का प्रस्ताव। गन्ना की कीमत 325 रुपये प्रति क्विंटल करने का प्रस्ताव।

ओपन जिम के लिए 25 करोड़ रुपये

राष्ट्रीय ग्रामीण स्वराज योजना के लिए 458 करोड़।

प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के लिए 783 करोड़ रुपये

वृद्ध एवं निराश्रित महिलाओं के पुनर्वास एवं जीवनयापन के लिए स्वाधार गृह योजना

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए 1000 करोड़ की व्यवस्था

निराश्रित महिला पेंशन की योजना 500 रुपये की धनराशि प्रतिमा सीधे लाभार्थियों के खाते में। इस योजना के अंतर्गत 1425 करोड़ की व्यवस्था।

बेसिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा को बजट प्रस्तावित

समग्र शिक्षा अभियान के लिए 18363 करोड़ रुपये का बजट

नई योजनाएं के लिए 10 हजार करोड़

सोलर पॉवर प्लांट के लिए 20 करोड़

एक ट्रिलियन इकोनॉमी के लिए प्रयासरत

बुंदेलखंड में 6000 से अधिक तालाबों का निर्माण होगा

11 नए हवाइअड्डों का चल रहा है काम

राज्य नीति आयोग का गठन हुआ

सभी मंडियों को तकनीक से जोड़ा जा रहा है

मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना शुरू होगी। इसके लिए 100 करोड़ों रुपये आवंटित।

पराली प्रबंधन परियोजना के लिए 300 करोड रुपए

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का यह चौथा बजट है, जिसमें युवाओं और महिलाओं पर खास फोकस किया गया है। यह पहला मौका रहा, जब दोनों सदनों में बजट सुबह 11 बजे पेश किया गया। पिछले वर्षों में बजट दोपहर 12.20 बजे पेश किया जाता था। बजट में पूर्वांचल और बुंदेलखंड के पिछडऩेपन को दूर करने के लिए अच्छी खासी धनराशि देने की बातें समाने आ रही है। इस धनराशि से इन दोनों क्षेत्रों की समस्याओं को दूर करने की कोशिश होगी। सड़क, बिजली, पानी से जुड़ी योजनाओं को तेज किया जाएगा। समावेशी विकास के फॉर्मूले के तहत नये बजट के जरिये योगी सरकार युवाओं, महिलाओं और किसानों को साधने की कोशिश करने में लगी है।

बुनियादी ढांचे पर जोर

नए बजट में भी बुनियादी ढांचे पर सरकार का फोकस बरकरार रहेगा। पांच एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं को मूर्त रूप देने में जुटी योगी सरकार इनके लिए खजाना खोलेगी। जेवर एयरपोर्ट के विस्तार समेत सूबे में 11 हवाई अड्डों के निर्माण के लिए भी बजट आवंटन हो सकता है। डिफेंस कॉरीडोर के विकास और सड़कों-सेतुओं के निर्माण व रखरखाव के लिए भी सरकार मोटी रकम देगी।

युवाओं के लिए उम्मीद की रोशनी

युवाओं को दक्ष बनाकर उन्हें स्वरोजगार और नौकरियों के काबिल बनाने के लिए बजट में नई योजनाओं की घोषणा हो सकती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषणा को अमली जामा पहनाने के लिए दसवीं कक्षा से स्नातक तक के विद्यार्थियों के लिए इंटर्नशिप योजना शुरू होगी। रोजगार मुहैया कराने के लिहाज से उपयोगी मानी जा रही एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना को सरकार शिद्दत से आगे बढ़ाएगी।

यूपी भाजपा की टीम से होगी एक तिहाई चेहरों की छुट्टी, जातीय संतुलन के साथ युवाओं को वरीयता

यूपी भाजपा की टीम से होगी एक तिहाई चेहरों की छुट्टी, जातीय संतुलन के साथ युवाओं को वरीयता

यह भी पढ़ें

महिलाओं की फिक्र भी

आधी आबादी का प्रतिनिधित्व करने वाली महिलाओं पर भी सरकार मेहरबान होगी। हिंदू परित्यक्ताओं और तीन तलाक पीड़िता मुस्लिम महिलाओं को सालाना छह हजार रुपये पेंशन देने के मुख्यमंत्री की घोषणा को बजट के जरिये अमली जामा पहनाया जा सकता है। राज्य पुलिस बल में महिलाओं की 20 प्रतिशत हिस्सेदारी सुनिश्चित करने के लिए भी बजट में एलान संभव है।

किसानों को साधने की तैयारी

इसी वर्ष होने जा रहे पंचायत चुनाव को देखते हुए सरकार ग्रामीण सेक्टर को तवज्जो देगी और किसानों को साधने का प्रयास भी। किसानों व उनके आश्रितों और बटाईदारों को सामाजिक सुरक्षा देने के मकसद से मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के लिए सरकार बटुआ ढीला करेगी। जल जीवन मिशन और बुंदेलखंड-विंध्य क्षेत्र में पाइप्ड पेयजल योजना को आगे बढ़ाने के लिए सरकार दरियादिली दिखाएगी। छुट्टा पशुओं की समस्या से किसानों को निजात दिलाने के लिए गोआश्रय स्थलों के निर्माण पर सरकार का फोकस बरकरार रहेगा। सिंचाई क्षमता बढ़ाने और अधूरी परियोजनाओं को पूरी करने के लिए भी सरकार पर्याप्त बजट आवंटन करेगी।

बढ़ेगा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का एजेंडा

योगी आदित्यनाथ सरकार सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के एजेंडे को धार देने से नहीं चूकेगी। अयोध्या, काशी और मथुरा में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भी सरकार उदारता दिखाएगी।

कानून व्यवस्था के मोर्चे पर चौकसी

कानून व्यवस्था में सुधार को लेकर मुख्यमंत्री के रुख को देखते हुए बजट में गृह विभाग के लिए भी पर्याप्त आवंटन होने के आसार हैं।

अटल जी के नाम पर नई योजनाएं

बजट में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से नई योजनाएं लाने की चर्चाएं भी हैं। अटलजी के नाम पर शहरों में पार्क बनाने तथा जनसरोकारों से जुड़ी कुछ योजनाएं चलाने की घोषणा बजट में शामिल किए जा सकते हैं।

राजधानी की योजनाओं को मिलेगी रफ्तार

लखनऊ में गोमती रिवर फ्रंट के काम को आगे बढ़ाने के साथ ही रिवर फ्रंट पार्क में अटलजी की प्रतिमा लगाने की घोषणा की जा सकती है। जाम वाले इलाकों के लिए नये फ्लाईओवर और आरओबी की योजनाएं बजट का हिस्सा हो सकती हैं।

सजेगी काशी, पर्यटन के साथ ही मेट्रो को पर्याप्त बजट

बजट के माध्यम से प्रदेश सरकार वाराणसी, मथुरा और अयोध्या के धार्मिक और पर्यटन विकास की योजनाओं को रफ्तार दे सकती है। वाराणसी के लिए पर्यटन की नई योजनाएं और वहां मेट्रो रेल के लिए पर्याप्त बजट दिए जाने की चर्चा है।

एक्सप्रेस-वे के कामों के लिए 10 हजार करोड़ तक

बजट में पूर्वांचल, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के साथ ही गंगा एक्सप्रेस वे के लिए भरपूर धनराशि दिए जाने की चर्चाएं हैं। एक्सप्रेस वे के कामों को रफ्तार देने के लिए करीब 10 हजार करोड़ रुपये तक आवंटित किए जा सकते हैं। औद्योगिक कारीडोर खासकर डिफेंस कारीडोर के विकास पर भी बजट में खास प्रबंध दिखने के आसार हैं।

महिला कल्याण और सुरक्षा के दावों को मजबूत करेगी सरकार

बजट में सभी धर्मों की परित्यक्त महिलाओं के लिए पेंशन की व्यवस्था किए जाने की सूचनाएं हैं। बताया जाता है कि प्रदेश सरकार ने तीन तलाक व परित्यक्त महिलाओं के लिए 500 करोड़ रुपये से अधिक धनराशि देने की घोषणा बजट में कर सकती है। महिलाओं की सुरक्षा से जुड़ी योजनाओं में इस बार पिछले वर्ष के मुकाबले करीब 40 फीसदी अधिक धनराशि दिए जा सकते हैं।

केंद्र सहायतित योजनाओं को देंगे पर्याप्त धनराशि

केंद्र सरकार की सहायता से जुड़ी जन कल्याण की योजनाओं जैसे आवास, ग्रामीण सड़क, स्वास्थ्य, कृषि-सिंचाई, पेयजल आदि योजनाओं के मद में भी पर्याप्त धनराशि का प्रबंध बजट में दिखेगा। केंद्र सरकार ने अपने बजट में इन योजनाओं के लिए बजट का आकार इस बार बड़ा किया है।

बड़े शहरों में मेट्रो रेल की योजनाओं को देंगे धनराशि

वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, आगरा जैसे शहरों में मेट्रो रेल योजना को गति देने की तैयारी भी बजट में दिख सकती है। इन शहरों में मेट्रो रेल योजना के लिए इन योजनाओं के लिए 500 करोड़ रुपये तक आवंटित किए जा सकते हैं।

मेडिकल कालेजों और स्वास्थ्य सुविधाओं को भी देंगे धन

बजट में प्रदेश में प्रस्तावित और बन रहे नये मेडिकल कालेजों के लिए भी पर्याप्त धनराशि दिए जा सकते हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं को बेहतर करने के लिए भी धनराशि आवंटित किए जाने की चर्चाएं हैं।

इनके लिए भी हो सकता है बजट आवंटन

अलीगढ़, सहारनपुर और आजमगढ़ में राज्य विश्वविद्यालयों की स्थापना।

ग्रेटर नोएडा में पुलिस व फोरेंसिक विश्वविद्यालय की स्थापना।

गोरखपुर में आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना।

अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य।

उत्तर प्रदेश में 10 और मेडिकल कॉलेजों की स्थापना।

हर तहसील में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ) की स्थापना।

पिछले बजट की खासियतें

वर्ष 2019-20 के बजट में 21,912.95 करोड़ रुपये की नई योजनाओं/मदों का एलान।

बालिकाओं के लिए शुरू की गई कन्या सुमंगला योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये।

बिजली सेक्टर के लिए 35922 करोड़ रुपये।

सड़कों-सेतुओं के निर्माण व रखरखाव के लिए 19841.33 करोड़ रुपये।

एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं के लिए 3194 करोड़ रुपये।

सिंचाई क्षमता बढ़ाने के लिए 12208 करोड़ रुपये।

जेवर एयरपोर्ट के लिए 800 करोड़ रुपये।



hindi news portal lucknow

मैं अरविंद केजरीवाल... रामलीला मैदान से महाजीत का पथ, दिल्ली के बेटे का शपथ

16 Feb 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

रामलीला ग्राउंड में अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वो दिल्ली के तीसरी बार मुख्यमंत्री बन रहे हैं। उनके साथ मनीष सिसोदिया और सतेंद्र जैन ने भी शपथ लिया। दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केजरीवाल को लगभग 12 बजकर 15 मिनट पर पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी। वह 2013 में पहली बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने थे। उनकी सरकार महज 49 दिन तक चल सकी थी। इसके बाद 2015 में हुये विधानसभा चुनाव में आप की ऐतिहासिक जीत के बाद केजरीवाल दूसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने।केजरीवाल ने शपथ लेने के बाद जनता को संबोधित करते हुए कहा कि ये मेरी नहीं, दिल्लीवालों की जीत है। वोट देने वाले, नहीं देने वाले दोनों का मुख्यमंत्री हूं। मैं दिल्लीवालों के जिंदगी में खुशहाली लाने की कोशिश करूंगा। मैं हर किसी को साथ लेकर काम करना चाहता हूं। हम हमने प्रतिद्वंद्वियों को चुनाव प्रचार के दौरान की गई हर टिप्पणी के लिए माफ करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच सालों में हमारी यही कोशिश रही कि दिल्ली का कैसे बेहतर विकास हो। अगले पांच साल भी यही कोशिश रहेगी।’’केजरीवाल ने दिल्ली वालों को देश की राजनीति बदल देने का श्रेय देते हुये कहा कि दिल्ली को विश्वस्तरीय सर्वश्रेष्ठ शहर बनाने के लिये वह केन्द्र सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे और इसके लिये उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आशीर्वाद की भी जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली वालों ने विकास को तरजीह देकर देश की राजनीति को बदलने का काम किया है। केजरीवाल ने कहा, ‘‘मैं दिल्ली को आगे बढ़ाने और इसे दुनिया का सबसे अच्छा शहर बनाने के लिये प्रधानमंत्री का भी आशीर्वाद चाहता हूं।’’ गौरतलब है कि केजरीवाल सरकार के पिछले दो कार्यकाल में केन्द्र सरकार के साथ विभिन्न मुद्दों पर टकराव का मामला उच्चतम न्यायालय तक पहुंच चुका है।केजरीवाल ने खुद को दलगत राजनीति से अलग बताते हुये कहा, ‘‘मैं आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं का भी मुख्यमंत्री हूं और भाजपा कांग्रेस सहित अन्य दलों के समर्थकों का भी मुख्यमंत्री हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच साल में मैंने किसी के साथ भेदभाव नहीं किया। किसी दूसरी पार्टी के समर्थक होने के आधार पर मैंने किसी के साथ भेदभाव नहीं किया। सभी के काम बिना किसी भेदभाव के किये। अब दो करोड़ दिल्ली वाले लोग मेरा परिवार हैं। मैं सभी के काम करूंगा। चाहे कोई किसी भी जाति धर्म का हो, अमीर हो या गरीब हो।’’ केजरीवाल ने चुनाव के दौरान विभिन्न दलों के नेताओं की कड़वी बातें भुलाने की अपील करते हुये कहा, ‘‘मैं सभी के साथ मिल कर काम करना चाहता हूं। अब चुनाव खत्म हो गये हैं। चुनाव में राजनीति होती है और हुयी भी। हमारे लिये चुनाव में जिसने जो कुछ भी कहा, उसके लिये हमने उन्हें माफ कर दिया है।’’ केजरीवाल ने केन्द्र सरकार के साथ मिलकर काम करने की पहल करते हुये कहा, ‘‘मैं केन्द्र के साथ मिलकर दिल्ली को आगे ले जाना चाहता हूं।शपथ ग्रहण समारोह का मैंने प्रधानमंत्री को भी न्योत भेजा था, मगर वह किसी अन्य कार्यक्रम में व्यस्त होने के कारण नहीं आ सके। मैं दिल्ली को आगे बढ़ाने और इसे दुनिया का सबसे अच्छा शहर बनाने के लिये प्रधानमंत्री का भी आशीर्वाद चाहता हूं।’’ संबोधन के दौरान उन्होंने एक कविता के माध्यम से शिक्षा और स्वास्थ्य सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं को दिल्ली सरकार की प्राथमिकता बताते हुये कहा : ‘‘जब भारत मां का हर बच्चा अच्छी शिक्षा पाएगा, तभी अमर तिरंगा आसमान में शान से लहरायेगा। जब भारत के हर बंदे को अच्छा इलाज मिल पाएगा, जब सुरक्षा और सम्मान महिलाओं को आत्मसम्मान दिलाएगा, तभी अमर तिरंगा आसमान में शान से लहरायेगा। हर नौजवान के माथे से बेरोजगार का तमगा हट जाएगा। जब किसान का पसीना उसके घर में खुशहाली लेकर आएगा, जब हर भारतवासी जीवन की मूलभूत सुविधाएं पाएगा, जब धर्म जाति से ऊपर उठकर हर भारतवासी भारत को आगे बढ़ाएगा, तभी अमर तिरंगा आसमान में शान से लहराएगा।’’ संबोधन के अंत में केजरीवाल ने मशहूर गीत ‘हम होंगे कामयाब’ भी गाया। रामलीला मैदान में मौजूद भीड़ ने भी इस गीत को गाने में केजरीवाल का साथ दिया।



12345678910...