दिल्ली

hindi news portal lucknow

Sidhu Moose Wala Murder: एक दिन पहले ही सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा कम की गई थी वापस, विपक्ष ने भगवंत मान सरकार पर साधा निशाना

29 May 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

चंडीगढ़। कांग्रेस नेता और मशहूर गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्‍या के बाद पंजाब की भगवंत मान सरकार सवालों के घेरे में गई है। पंजाब सरकार ने कल ही सिद्धू मूसेवाला सुरक्षा में कमी कर दी थी। कांंग्रेस , भाजपा और शिरोमणि अकाली दल के नेताओं ने सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा कमी किए जाने और इसके बाद उनकी हत्‍या को लेकर भगवंत मान सरकार पर हमला किया है। विपक्षी नेताओं ने कहा है कि सिद्धू मूसेवाला को पहले से काफी खतरा था। ऐसे में उनकी सुरक्षा क्‍यों हटाई गई। भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा व अन्‍य नेताओंं ने कहा कि पंंजाब की भगवंत मान सरकार ने राजनीतिक वाह-वाही लेने के लिए सुरक्षा हटाकर इसकी जानकारी सार्वजनिक कर दी। उन्‍होंंने हत्‍या के लिए पंजाब सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया। बता दें कि पंजाब सरकार ने वीआइपी सुरक्षा में कटौती करते हुए शनिवार को कई धर्मगुरुओं, विधायकों व पुलिस अधिकारियों समेत 424 लोगों की सुरक्षा में कमी कर दी। इनमें श्री अकाल तख्त साहिब के कार्यवाहक जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह, डेरा राधा स्वामी सत्संग ब्यास के प्रमुख गुरिंदर सिंह ढिल्लों व पंजाब के शाही इमाम मौलाना मोहम्मद उस्मान रहमानी व गायक सिद्धू मुसेवाला भी शामिल थे।वहीं, कुछ सिख संगठनों की आलोचना के बाद सरकार ने ज्ञानी हरप्रीत सिंह की सुरक्षा बहाल कर दी। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने दावा किया कि जत्थेदार ने इसे वापस लेने से इन्कार कर दिया। इसके बाद एसजीपीसी के अध्यक्ष के आदेश पर एसजीपीसी की टास्क फोर्स के कर्मचारियों का एक हथियारबंद दस्ता जत्थेदार की सुरक्षा में तैनात कर दिया गया।उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने बयान दिया था कि सिखों को सुरक्षा के लिए लाइसेंसी हथियार रखने चाहिए। इस बयान की मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आलोचना की थी।

जिन अन्य धर्मगुरुओं की सुरक्षा वापस ली गई है, उनमें डेरा रुमीवाला भुच्चो मंडी (बठिंडा) के प्रमुख बाबा सुखदेव सिंह, डेरा सचखंड बल्लां के प्रमुख संत निरंजन दास, लुधियाना स्थित भैणी साहिब के प्रमुख सतगुरु उदय सिंह, श्री दरबार साहिब के हेड ग्रंथी ज्ञानी जगतार सिंह भी शामिल हैं।



hindi news portal lucknow

अमित शाह बोले- कांग्रेस ने गुजरात में दंगे कराए, मोदी के सीएम बनने से पहले आए दिन लगा रहता था कर्फ्यू

29 May 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नांदियाड़, पीटीआइ। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि यह पार्टी जब गुजरात में सत्तारूढ़ थी तब उसने हमेशा राज्य में दंगा फैलाने का काम किया है। इस पार्टी ने लोगों को आपस में लड़वाया और कानून व्यवस्था की स्थिति को बिगाड़ा है। उन्होंने कहा कि गुजरात में भाजपा के सत्ता में आने और नरेन्द्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने से पहले गुजरात में आए दिन सांप्रदायिक दंगे होते थे और कर्फ्यू लगा रहता था। साथ ही अंतरराष्ट्रीय सीमा से नशीली दवाओं, हथियारों और आरडीएक्स की तस्करी होती थी।शाह ने खेड़ा जिले के नांदियाड़ में पुलिस आवास परियोजनाओं का उद्घाटन करते हुए कहा कि बहुत सालों तक कांग्रेस कई समुदायों को आपस में लड़ाने का काम करती रही। सांप्रदायिक दंगे फैलाकर कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाईं।केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान साल भर राज्य के अधिकांश हिस्सों में कर्फ्यू लगा रहता था। सुबह आदमी काम के लिए घर से बाहर निकले तो इस बात की कोई गारंटी नहीं थी कि वह शाम को घर लौटेगा या नहीं। बैंकों, बाजारों और फैक्टि्रयों के बंद होने से प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर भी असर पड़ा था।उन्होंने बताया कि जगन्नाथ रथ यात्रा के दौरान सांप्रदायिक झगड़े आम बात थी। लेकिन जब भाजपा सत्ता में आई तो क्या किसी की रथयात्रा पर हमला करने की हिम्मत हुई? जिन्होंने ऐसे कोशिश करनी चाही वह सभी अब जेल की सलाखों के पीछे हैं। बतौर सीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने गुजरात को सुरक्षित करना सुनिश्चित किया।उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में पोरबंदर तस्करों और माफियों के लिए खेल का मैदान बन चुका था। कच्छ की सीमा से नशीले पदार्थो, हथियारों, नकली करेंसी और आरडीएक्स की तस्करी की जाती थी। आज किसी की हिम्मत नहीं है कि कच्छ की सीमा में एक इंच भी अंदर घुसे। सीमावर्ती राज्य होने के बावजूद अब गुजरात में शांति बहाली है। मुझे खुशी है कि अब गुजरात की चौकस पुलिस अपराधियों से भी दो कदम आगे रहकर उनकी धरपकड़ कर लेती है।शाह ने गोधरा में गुजरात के सहकारी आंदोलन को गौरव बताया। उन्होंने कहा कि कई देशों के मंत्री इस बात से चकित हैं कि अमूल डेयरी कोआपरेटिव ब्रांड का इतना टर्नओवर कैसे आ रहा है। आस्ट्रेलिया और नीदरलैंड्स के मंत्रियों ने उससे संपर्क करके पूछा था कि अमूल की ओर से मिले आंकड़ों की उन्होंने पड़ताल की है। उन्होंने एक वेबसाइट के जरिये इसका पता लगाया है। यह सहकारिता आंदोलन बहुत ही बड़ा था तब इसके जरिये 60 हजार करोड़ रुपये के टर्नओवर की किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। उल्लेखनीय है कि इसी साल के अंत में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं।



hindi news portal lucknow

Uttarakhand Congress: करन माहरा को उत्‍तराखंड कांग्रेस की कमान, यशपाल आर्य बने नेता प्रतिपक्ष

10 Apr 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

राज्‍य ब्‍यूरो, प्रतिपक्ष यशपाल आर्य होंगे। उपनेता प्रतिपक्ष की जिम्‍मेदारी भुवन चंद्र कापड़ी को सौंपी गई है। रविवार देर शाम को कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष, नेता विधायक दल औऱ उप नेता विधायक दल की नियुक्ति की। वहीं नवनियुक्‍त प्रदेश अध्‍यक्ष करन माहरा ने केंद्रीय नेतृत्व का आभार जताया। कहा कि पार्टी ने उनपर भरोसा जताया है। अब लोगों में विश्‍वास जगाना है और पार्टी को आगे बढ़ाना है।विश्व होम्योपैथी दिवस पर रविवार को विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए।2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पूरे दमखम से उतरी थी। लेकिन मोदी मैजिक और भाजपा के मुकाबले कमजोर संगठन का खामियाजा उठाना पड़ा। यही वजह है कि बीजेपी ने सत्ता में रहते हुए वापसी का मिथक तोड़ दिया। 47 सीट जीत पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को दोबारा मौका भी मिला।कांग्रेस के सामने 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में प्रदर्शन को सुधारने की चुनौती है। पांचवीं विधानसभा के चुनाव में पार्टी प्रदेश की सत्ता में आने के बजाय दोबारा विपक्ष में पहुंच गई है। इससे पहले कांग्रेस हाईकमान इस हार के लिए प्रदेश अध्यक्ष पद से गणेश गोदियाल का इस्तीफा ले चुका है।ता



hindi news portal lucknow

पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के बीच कल होगी वर्चुअल बैठक, जानिए किन मुद्दों पर होगी बात

10 Apr 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ वर्चुअल बैठक में हिस्सा लेंगे। दोनों शीर्ष नेता भारत और अमेरिका के बीच चल रहे द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा करेंगे और दक्षिण एशिया, हिंद-प्रशांत क्षेत्र और आपसी हित के वैश्विक मुद्दों पर हाल के घटनाक्रमों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे। यह जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी है।मंत्रालय ने कहा कि वर्चुअल बैठक दोनों पक्षों को द्विपक्षीय व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने के उद्देश्य से अपने नियमित और उच्च-स्तरीय जुड़ाव को जारी रखने में सक्षम बनाएगी।

दोनों देशों के शीर्ष नेताओं की यह वर्चुअल बातचीत भारत-अमेरिका के बीच होने वाली चौथी 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता से पहले होगी। टू प्लस टू वार्ता में हिस्सा लेने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर अमेरिका पहुंचे हुए हैं। टू प्लस टू वार्ता का नेतृत्व भारतीय पक्ष में राजनाथ सिंह और एस जयशंकर और उनके अमेरिकी समकक्ष रक्षा सचिव लायड आस्टिन और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन करेंगे। भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार टू प्लस टू वार्ता में दोनों देशों को विदेश नीति, रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग से जुड़े तमाम मुद्दों पर विमर्श करने का मौका देगा। भारत और अमेरिका रणनीतिक साझेदार हैं और इस बैठक में क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी विमर्श होगा। अमेरिका ने इस साल की बैठक को इस लिहाज से महत्वपूर्ण बताया कि इस वर्ष दोनों देश कूटनीतिक रिश्तों के स्थापित होने की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं।



hindi news portal lucknow

Russia Ukraine Crisis: उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे पीएम मोदी, कई शीर्ष अधिकारी हैं मौजूद

01 Mar 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यूक्रेन-रूस संकट पर एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं। यूक्रेन पर जारी हमलों के बीच करीब 18 हजार भारतीय छात्र वहां फंसे हुए हैं। इन्हीं भारतीय छात्रों को स्वदेश वापसी को लेकर मोदी सरकार हर एक प्रयास कर रही है। इसी को लेकर पीएम मोदी आज एक बार फिर उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं। विदेश मंत्री एस जयशंरकर समेत कई शीर्ष अधिकारी इस बैठक में हिस्सा ले रहे हैं।

यूक्रेन संकट को लेकर पीएम मोदी की यह चौथी बैठक है। युद्धग्रस्त देश में खार्किव में गोलाबारी के दौरान एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है।

यूक्रेन में भारतीय छात्र की मौत को लेकर विदेश मंत्रालय ने ट्वीट करते हुए लिखा कि गंभीर दुख के साथ हम पुष्टि करते हैं कि आज सुबह खार्किव में गोलाबारी में एक भारतीय छात्र की जान चली गई। मंत्रालय उनके परिवार के संपर्क में है। हम परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।'आपरेशन गंगा' के तहत चल रहे निकासी प्रयासों को बढ़ाने के लिए पीएम मोदी ने मंगलवार को भारतीय वायु सेना को निकासी प्रयासों में शामिल होने के लिए कहा है।सूत्रों ने कहा कि वायु सेना की क्षमताओं का लाभ उठाने से यह सुनिश्चित होगा कि कम समय में अधिक लोगों को निकाला जा सके। साथ ही कहा कि यह मानवीय सहायता को अधिक कुशलता से वितरित करने में भी मदद करेगा। भारतीय वायु सेना आज से 'आपरेशन गंगा' के तहत कई सी-17 विमान तैनात कर सकती है।बता दें कि केंद्र सरकार ने युद्धग्रस्त यूक्रेन से फंसे छात्रों और भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए आपरेशन गंगा शुरू किया है। ऑपरेशन गंगा मिशन के तहत एयर इंडिया द्वारा विशेष उड़ानें संचालित की जा रही हैं।



hindi news portal lucknow

राहुल गांधी आज करेंगे पंजाब में सीएम फेस का एलान, लुधियाना में होगी वर्चुअल रैली, राज्‍य कांग्रेस प्रभारी ने की पुष्टि

06 Feb 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

चंडीगढ़। Punjab Assembly Election 2022: पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का मुख्‍यमंत्री चेहरा कौन होगा, इस पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं। कांंग्रेस इसके लिए फोन पर रायशुमारी करा रही है। पंजाब कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी ने भी अब पुष्टि की है कि पंजाब में कांग्रेस के सीएम फेस का ऐलान 6 फरवरी को हो जाएगा। उन्‍होंंने कहा है कि 6 फरवरी को राहुल गांधी लुधियाना में वर्चुअल रैली को संबोधित करेंगे और यहीं पर मुख्यमंत्री के चेहरा का भी ऐलान किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि राज्य के सभी 117 विधानसभा क्षेत्रों से पार्टी के उम्मीदवार चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए तय संख्या में पार्टी वर्करों और लोगों को वर्चुअल रैली से जुड़ेंगे। कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए एक सवाल के जवाब में चौधरी न कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू और चरणजीत सिंह चन्नी ने राहुल गांधी को भरोसा दिलवाया है कि जिसे भी मुख्यमंत्री का चेहरा बनाया जाएगा, दूसरा उसे स्वीकार करेगा और पूरी तनदेही के साथ काम करेगा। यह भरोसा दोनों ही नेताओं ने पंजाब के लोगों से ही किया है।बता दें कि मुख्यमंत्री का चेहरे को लेकर चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू दोनों ही दावेदार है। कांग्रेस पार्टी द्वारा मोबाइल पर करवाए जा रहे सर्वे में भी इन्हीं दोनों में से किसी एक को मुख्यमंत्री चुनने या न चुनने का विकल्प दिया गया है। हालांकि पार्टी लगातार यह संकेत देती रही है कि चरणजीत सिंह चन्नी ही पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 (Punjan Assembly Election 2022) में कांग्रेस का मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे।

एक सवाल के जवाब में हरीश चौधरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का इतिहास 100 साल पुराना है। उसके पास लोगों की राय जानने व कार्यकर्ताओं की भावनाओं को समझने के कई तरीके है। जब इलेक्ट्रानिक युग नहीं था तब भी पार्टी मुख्यमंत्री की घोषणा करती रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लोगों द्वारा लिए गए राय और उनके फीडबैक को सार्वजनिक नहीं करेगी। कांग्रेस आम आदमी पार्टी की तरह ढकोसला नहीं करने वाली है। आप ने तो मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने में भी पंजाब के लोगों को धोखा दिया। कांग्रेस अपनी प्रक्रिया को उजागर नहीं करेगी।



hindi news portal lucknow

Ind vs WI: ऐतिहासिक 1000वें वनडे मैच में भारत को मिली जीत, रोहित व चहल का दमदार प्रदर्शन

06 Feb 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्ली। India vs West Indies first one day match: भारतीय क्रिकेट टीम और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला अहमदाबाद के नरेन्द्र मोदी स्टेडियम में खेला गया। ये भारतीय क्रिकेट टीम का 1000वां वनडे मुकाबला था और रोहित शर्मा ने बतौर फुल टाइम वनडे कप्तान इस मैच से अपनी शुरुआत भी की। रोहित की शुरुआत शानदार रही और उनकी कप्तानी में भारत ने इस ऐतिहासिक मैच में 6 विकेट से जीत दर्ज की। इस मैच में टीम इंडिया ने टास जीतकर वेस्टइंडीज को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज की टीम के अधिकतर बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने धराशाई हो गए और ये टीम 43.5 ओवर में 176 रन पर सिमट गई। भारत को जीत के लिए 177 रन का लक्ष्य मिला था और इसके जवाब में टीम इंडिया ने 28 ओवर में 4 विकेट पर 178 रन बनाकर मैच 6 विकेट से जीत लिया। इस जीत के बाद भारत को वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त भी मिल गई।

177 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया की शुरुआत शानदार रही। ओपनर रोहित शर्मा और ईशान किशन ने पहले विकेट के लिए 84 रनों की साझेदारी की। रोहित शर्मा 60 रन बनाकर अल्जारी जोसेफ की गेंद पर आउट हुए। इसके तुरंत बाद विराट कोहली 8 रन बनाकर अल्जारी जोसेफ की गेंद पर आउट हुए। ईशान किशन 28 रन बनाकर अकील हुसैन की गेंद पर आउट हुए। रिषभ पंत 11 रन बनाकर रन आउट हुए। इसके बाद सूर्यकुमार यादव ने नाबाद 34 रन और दीपक हुडा ने नाबाद 26 रन की पारी खेलते हुए भारत को जीत दिला दी।

वेस्टइंडीज की टीम को पहला झटका तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने दिया। शाई होप आठ रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद वाशिंग्टन सुंदर ने ब्रेंडन किंग को 13 रन पर आउट करके दूसरा झटका दिया। इसके तुरंत बाद डेरेन ब्रावो को 18 रन पर सुंदर ने पवेलियन भेज दिया। चहल ने भारत को चौथी सफलता निकोलस पूरन को आउट करके दिलाई। पूरन को उन्होंने 18 रन पर पगबाधा आउट कर दिया तो इसके ठीक बाद चहल ने इंडीज के कप्तान किलोन पोलार्ड को बिना खाता खोले गोल्डन डक पर आउट किया।

चहल ने ब्रुक्स को अपना तीसरा शिकार बनाया और उन्हें 12 रन पर आउट करके भारत को छठी सफलता दिलाई। अकील हुसैन को शून्य पर आउट करके प्रसिद्ध कृष्णा ने भारत को सातवीं सफलता दिलाई। फैबियन एलन 29 रन पर आउट करके सुंदर ने विंडीज को आठवां झटका दिया। जेसन होल्डर को 57 रन पर आउट करके प्रसिद्ध कृष्णा ने विंडीज को नौवां झटका दिया। जोसफ को चहल ने 13 रन पर आउट किया। चहल ने इस मैच में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा चार विकेट लिए तो वहीं सुंदर तो तीन सफलता मिली। प्रसिद्ध कृष्णा ने दो बल्लेबाजों को आउट किया जबकि सिराज को एक विकेट मिला।

रोहित शर्मा (कप्तान), ईशान किशन, विराट कोहली, रिषभ पंत (विकेटकीपर), सूर्यकुमार यादव, दीपक हुडा, वाशिंगटन सुंदर, शार्दुल ठाकुर, मो. सिराज, युजवेंद्रा चहल, प्रसिद्ध कृष्णा।

वेस्टइंडीज की प्लेइंग इलेवन

ब्रैंडन किंग, शाई होप (विकेटकीपर), डेरेन ब्रावो, शामार ब्रुक्स, निकोलस पूरन, किरोन पोलार्ड (कप्तान), जेसन होल्डर, फैबियन एलन, अल्जारी जोसेफ, केमार रोच, अकील हुसैन।

बता दें कि रोहित शर्मा भारतीय वनडे टीम के फुल टाइम कप्तान बनाए जाने के बाद पहली बार टीम की कप्तानी की। वहीं भारत का यह 1000वां वनडे मैच रहा। भारत यह उपलब्धि हासिल करने वाली दुनिया की पहली टीम है। दीपक हुड्डा को टीम इंडिया के लिए डेब्यू का मौका मिला। वहीं दूसरी तरफ स्वर कोकिल लता मंगेशकर के निधन पर टीम इंडिया काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरी और मैच से पहले खिलाड़ियों ने मौन भी रखा।



hindi news portal lucknow

Lata Mangeshkar Death : पंचतत्व में विलीन हुईं भारत रत्न लता मंगेशकर, देशभर ने नम आंखों से दी विदाई

06 Feb 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्‍ली। लता मंगेशकर के निधन से आज पूरा देश गमगीन है। अपनी आवाज के जरिए गीतों में जान फूंकने वाली लता मंगेशकर के निधन के साथ एक स्‍वर्णीम युग का भी अंत हो गया है। उनकी आवाज का जादू हमेशा देशवासियों पर राज करता रहेगा। उनके निधन पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने दुख व्‍यक्‍त किया है। उनके निधन पर केंद्र सरकार ने दो दिन के राष्‍ट्रीय शोक की घोषणा की है। पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने अपने ट्वीट में उनके निधन को अपूर्णीय क्षति बताया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुंबई के शिवाजी पार्क पहुंचकर पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि दी। यहीं पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। ये इत्‍तफाक ही है कि जिस गीत ए मेरे वतन के लोगों, ने उन्‍हें एक नई पहचान दी थी उसको लिखने वाले कवि प्रदीप का आज जन्‍मदिन भी है। आज ही लता स्‍वर्ग के लिए प्रस्‍थान कर गईं।

लता मंगेशकर के अंतिम विदाई से जुड़े प्रमुख बिंदु

- पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने लता मंगेशकर के निधन पर शोक जताया

- मुंबई के शिवाजी पार्क में भारत रत्न लता मंगेशकर के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार किया गया।

- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और मंत्री आदित्य ठाकरे ने मुंबई के शिवाजी पार्क में महान गायिका लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दी।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिवाजी पार्क पहुंचकर भारत रत्न लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि अर्पित की। कुछ ही देर में उनके पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

- नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने लता मंगेशकर के निधन पर शोक व्यक्त किया

- मुंबई में लता मंगेशकर के अंतिम संस्कार में महाराष्ट्र के केंद्रीय मंत्री रहेंगे मौजूद: सूत्र

- कोविड प्रोटोकाल के साथ लता मंगेशकर के पार्थिव शरीर को शिवाजी पार्क लेकर जाया जा रहा है। शाम साढ़े 6 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. रास्तेभर में लता मंगेशकर के चाहनेवाले उनके अंतिम दर्शन के लिए आ रहे हैं।

- मुंबई में भारी संख्‍या में लोग सुरों की देवी लता मंगेशकर के अंतिम यात्रा में शामिल हुए। उनका पार्थिव शरीर उनके 'प्रभुकुंज' निवास से शिवाजी पार्क की ओर जा रहा है। महान गायि‍का का अंतिम संस्कार आज शाम 6.30 बजे शिवाजी पार्क में किया जाएगा।

- सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर के निधन पर राजस्‍थान और मध्य प्रदेश में दो दिन का राजकीय शोक रहेगा। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।

अक्सर एक सवाल उठता है कि एक मराठी भाषी गायिका ने कैसे उर्दू में अपने लफ्जों को बेहतर बनाया होगा।

- राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि लता जी देश की धरोहर हैं, उनकी कमी हमेशा खलेगी। ऐसी हस्ती सदियों-सदियों तक अमर रहती हैं। उनके गीत सदाबहार हैं।

- नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन पर शोक व्यक्त किया।

- महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री कार्यालय ने कहा कि भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने कल (7 फरवरी) को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।

- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि गायिका लता मंगेशकर के निधन पर राज्‍य सरकार कल (7 फरवरी) आधे दिन का शोक मनाएगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अगले 15 दिनों के लिए हर सार्वजनिक स्थान, सरकारी कार्यालय और ट्रैफिक सिग्नल पर भारत रत्न लता मंगेशकर के गाने बजाने की घोषणा की।

- अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि लता जी खुद अमर हैं और उनकी ही तरह उनके गाने भी अमर हैं। 80 सालों तक लता जी ने अपने गानों से देश की सेवा की है। लता जी को जितने ख़िताब दिए गए, मुझे लगता है कि उन ख़िताबों ने नहीं बल्कि लता जी ने उन्हें लेकर उनख़िताबों की शोभा बढ़ाई है।

- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि जब तक भारतीय गीत संगीत लोगों का मनोरंजन करेगा तब तक लता दीदी की आवाज़ भी सुनी जाती रहेगी। देश की लगभग हर भाषा में गीत गाकर उन्होंने अपनी आवाज़ के माध्यम से देश को एकता के सूत्र में बांधने का काम किया। मेरी परमपिता परमात्मा से प्रार्थना है कि उनकी आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके परिजनों को ये असीम दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

-बृहन्मुंबई नगर निगम आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम लगभग 5:45-6:00 बजे अंतिम संस्कार के मैदान में पहुंचेंगे, जिसके बाद लता मंगेशकर का अंतिम संस्कार शाम लगभग 6:15- 6:30 बजे किया जाएगा।

-लता मंगेशकर को आखिरी अलविदा कहने के लिए सदी के महानायक अमिताभ बच्चन उनके घर प्रभुकुंज पहुंच गए हैं। अमिताभ बच्चन के साथ उनके बेटी श्वेता बच्चन भी प्रभुकुंज पहुंची हैं।

-लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर ब्रीच कैंडी अस्पताल से उनके घर प्रभुकुंज पहुंचने के बाद उनके घर लोगों का तांता लग गया। लता मंगेशकर के अंतिम दर्शन के लिए लगातार लोग उनके घर पहुंच रहे हैं।

- लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर ब्रीच कैंडी अस्‍पताल से घर ले जाया जा रहा है । उनके अंतिम दर्शन के लिए सचिन तेंदुलकर, महाराष्‍ट्र के सीएम समेत अन्‍य नेता भी अस्‍पताल पहुंचे हैं। अस्‍पताल से उनका घर दस मिनट की दूरी पर है।

- ब्रीच कैंडी से लेकर उनके घर और फिर शिवाजी पार्क तक एक ग्रीन कारिडोर बनाया गया है, जिससे उनकी अंतिम यात्रा में कोई परेशानी न आए। इस दौरान कोरोना प्रोटोकाल का भी पालन किया जाएगा।

- उनकी अंतिम यात्रा की तैयारियां जोर-शोर से की जा रही हैं। शिवाजी पार्क में भी तैयारी जोरों पर हैं। लोगों की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा व्‍यवस्‍था पुख्‍ता की गई है।

गौरतलब है कि भारत सरकार ने 1987 में लता मंगेशकर को दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्‍मानित किया गया था। वर्ष 2001 में उन्‍हें राष्ट्र के लिए उनके योगदान के लिए भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया। वो इस सम्मान को पाने वाली एमएस सुब्बुलक्ष्मी के दूसरी महिला गानयिका हैं। इसके अलावा फ्रांस ने भी उन्हें वर्ष 2007 में अपने सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार आफ द लीजन आफ आनर से सम्मानित किया था।

बता दें कि लता मंगेशकर को 8 जनवरी को कोरोना पाजीटिव पाए जाने के बाद मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। उनके इलाज के दौरान कई बार हालात सामान्‍य हुए तो कई बार गंभीर भी हुए। बीच में हालत में सुधार होने के बाद उन्‍हें वेंटिलेटर से हटा दिया गया था। उनका इलाज कर रहे डाक्‍टरों के मुताबिक, लता मंगेशकर का निधन रविवार सुबह 8:12 मिनट पर मल्‍टी आर्गन फेल्‍योर की वजह से हो गया।

उनका अंतिम संस्‍कार शाम 6:30 बजे किया जाएगा। इससे पहले दोपहर 12-3 बजे के बीच आम जन उनके आखिरी दर्शन कर सकेंगे। उनके निधन पर केंद्र सरकार ने दो दिन के राष्‍ट्रीय शोक की घोषणा की है।

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि लता दीदी के गानों ने कई तरह के इमोशन्स को उभारा। उन्होंने दशकों तक भारतीय फिल्म जगत के बदलावों को करीब से देखा। फिल्मों से परे, वह हमेशा भारत के विकास के बारे में भावुक थीं। वह हमेशा एक मजबूत और विकसित भारत देखना चाहती थी। मैं इसे अपना सम्मान मानता हूं कि मुझे हमेशा लता दीदी से अपार स्नेह मिला है। उनके साथ मेरी बातचीत अविस्मरणीय रहेगी। लता दीदी के निधन पर मुझे अपने साथी भारतीयों के साथ शोक है। उनके परिवार से बात की और संवेदना व्यक्त की। शांति।

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने ट्वीट में लिखा एक कलाकार का जन्म लेकिन सदियों में एक बार, लता-दीदी एक असाधारण इंसान थीं, जो गर्मजोशी से भरी हुई थीं, जैसा कि मैं उनसे जब भी मिलती थी। दिव्य आवाज हमेशा के लिए शांत हो गई है लेकिन उसकी धुन अमर रहेगी, अनंत काल तक गूंजती रहेगी। उनके परिवार और हर जगह प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। लता जी का निधन मेरे लिए हृदयविदारक है, जैसा कि दुनिया भर के लाखों लोगों के लिए है। उनके गीतों की विशाल श्रृंखला में, भारत के सार और सुंदरता को प्रस्तुत करते हुए, पीढ़ियों ने अपनी आंतरिक भावनाओं की अभिव्यक्ति पाई। भारत रत्न, लता जी की उपलब्धियां अतुलनीय रहेंगी।

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन पर दुख व्यक्त किया, उनका कहना है कि इस खबर से उनका दिल टूट गया। मुख्यमंत्री कार्यालय का कहना है कि लता मंगेशकर का राजकीय अंतिम संस्कार किया जाएगा।

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा कि लता मंगेशकर जी के निधन का दुखद समाचार प्राप्त किया। वह कई दशकों तक भारत की सबसे प्रिय आवाज बनी रहीं। उनकी सुनहरी आवाज अमर है और उनके प्रशंसकों के दिलों में गूंजती रहेगी। उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं।

नितिन गडकरी ने अपने ट्वीट में लिखा कि मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल पहुंच कर स्वर कोकिल भारत रत्न लता मंगेशकर जी के अंतिम दर्शन किए। उनके परिवार को सांत्वना दी। लता दीदी हमेशा हम सभी के लिए प्रेरणा बनी रहेंगी। ईश्वर पुण्यात्मा को शांति प्रदान करे। ॐ शांति।

गडकरी ने लता के निधन पर सिलसिलेवार कई ट्वीट किए हैं जिनमें उन्‍होंने कहा है सब देशवासियों की तरह मेरे लिए भी उनका संगीत बहुत ही प्रिय रहा है, मुझे जब भी समय मिलता है मैं उनके द्वारा गाए गए नगमें जरूर सुनता हूं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को संबल दे। ॐ शांति।

30 हजार से अधिक गाने गाकर उनकी आवाज ने संगीत की दुनिया को सुरों से नवाजा है। लता दीदी बेहद ही शांत स्वभाव और प्रतिभा की धनी थी। देश की शान और संगीत जगत की शिरमोर स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशकर जी का निधन बहुत ही दुखद है। पुण्यात्मा को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। उनका जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है। वे सभी संगीत साधकों के लिए सदैव प्रेरणा थी।

अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा कि भारत की स्वर कोकिला महान लता मंगेशकर जी का निधन भारत में संगीत के एक युग की समाप्ति है। उनकी सुरीली आवाज़ हम सबके बीच और पूरी दुनिया में सदा अमर रहेगी।प्रभु से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें। ओम शांति .



hindi news portal lucknow

सीएम योगी बोले, सपा को बुलडोजर से है परेशानी, राजा महेंद्र प्रताप व एएमयू का भी किया जिक्र

06 Feb 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

अलीगढ़। UP VIdhan Sabha Chunav पिछले विधानसभा की सभी सीट जीत चुकी भाजपा के लिए इस बार का चुनाव प्रतिष्‍ठा का सवाल बना हुआ है। मतदाताओं को लुभाने के लिए गृहमंत्री अमित शाह, सीएम योगी आदित्‍यनाथ, डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा समेत अलीगढ़ आ चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्‍वयं वर्चुअल रैली संबोधित कर चुके हैं। कई बार अलीगढ़ आ चुके सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को अकराबाद के नानऊ पैंठ मैदान में जनसभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा को बुलडोजर से ज्यादा परेशानी हो गई है। समाजवादी नेता बताएं कि हमारे काम दिखाई दे रहे हैं। लेकिन आपने कोई विकास कराया, बोले, हमने कब्रिस्तान की बाउंड्रीबाल बनाई है। भाजपा की सरकार में सात सौ धाम, मंदिरों पर काम हुए हैं। अयोध्या विकसित हो रही है। काशी को अत्याधुनिक बनाया जा रहा है। मथुरा कैसे बच जाएगा। येे काम होने चाहिए न? बुलडोजर चलना चाहिए न ?राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर हमारी सरकार ने विश्वविद्यालय का निर्माण शुरू कराया। अलीगढ़ व उसके आसपास से आने वाले छात्रों को जब डिग्री मिलेगी तो उस डिग्री पर नाम होगा राजा महेंद्र प्रताप सिंह। तब उनके नाम के बारे में जानने को इच्छुक होंगे तब पता लगेगा कि महेंद्र प्रताप ने 1915 में भारत की अंतरिम सरकार का गठन अफगानिस्तान में रहकर कर दिया था। क्या राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर विवि की स्थापना पहले क्यों नहीं हो पाई। जिस अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए उन्होंने अपनी भूमि दान दी थी, उस यूनिवर्सिटी के अंदर राजा महेंद्र प्रताप के नाम से कोई शिलापट क्यों नहीं लग पाया था। कारण साफ है, देश के महापुरुषों के प्रति सम्मान का भाव नहीं था। कभी राजा महेंद्र प्रताप सिंह भुला तो कभी लोह पुरुष सरदार बल्लभवाई पटेल को भुला दिए जाते हैं।सीएम योगी ने कहा हमारी सरकार ने राजा महेंद्र प्रताप के नाम को आगे बढ़ाया। यही नहीं हमारी सरकार ने कल्याण सिंह के नाम पर लखनऊ में एक हजार करोड़ के कैंसर रिसर्च सेंटर का नाम कल्याण सिंह के नाम पर रखा है। भाजपा की डबल इंजन की सरकार में दंगे नहीं होते। अराजकता नहीं होती। गुंडागिर्दी नहीं हो सकती। बहन बेटियों की सुरक्षा के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सकता। क्योंकि सबको मालूम है कि अगर दंगा करेंगे, बेटियों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करेंगे तो दुर्योधन और दुशासन जैसे कांड हो जाएंगे। दंगा, फसाद सपा की सरकार से विरासत में मिला था। बरेली, कोसी कभी आगरा अलीगढ़ के दंगा। प्रदेश में सुरक्षा का वातावरण का कार्य हो।दंगा, फसाद सपा की सरकार से विरासत में मिला था। बरेली, कोसी कभी आगरा अलीगढ़ के दंगा। प्रदेश में सुरक्षा का वातावरण का कार्य हो। विकास के काम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं। ये काम पहले भी हो सकते थे। सपा की सरकार की समय उनकी संवेदना गरीब, किसान, बेटियों की सुरक्षा के लिए नहीं थीं। उनकी संवेदना दंगाइयों के लिए थी। पेशेवर माफिया के प्रति थी। ये लोग माफिया को संरक्षण देकर किस तरह की अराजकता पैदा करते थे ये किसी से छिपा हुआ नहीं है। शाम में कार से आगरा रोड स्थित कैलाश फार्म हाउस में जनसभा को संबोधित किया।आदित्यनाथ ने कहा कि पहले यूपी से पलायन होता था अब प्रगति हो रही है क्योंकि दंगाइयों को पता है कि अगर वह धंधा करेंगे तो उनके गले में तख्ती टांग दी जाएगी। सीएम ने कहा की डिफेंस कारिडोर में जो तोप तैयार होगी उसपर बैठकर अलीगढ़ का युवा सीमा पर जाएगा और दुश्मन के छक्के छुड़ाने का काम करेगा। उन्‍होंने कहा विकास कार्य में लूट कैसे मचती थी, इसके उदाहण आपके सामने हैं। विकास का पैसा विवि. एयरपोर्ट, सड़क पर खर्च नहीं होता था। ये पैसा खानदान पर खर्च होता था या फिर इत्र वाले मित्र को विकास करने पर खर्च होता था। इत्र वाले मित्र के यहां बुलडोजल चलता है तो नोट के पहाड़ निकल पड़ते हैं। इससे यह साबित करता है कि सपा की सरकार में विकास के कार्य में डकैती डाली जाती थी। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में फ्री में उपचार, वैक्सीन, अन्न मिला। वैक्सीन सुरक्षा कवच है। पहली डोज सौ फीसदी ने ले ली है। दूसरी डोज सत्तर फीसदी ने ली है। चुनाव आते आते यह नव्वे फीसद हो जाएगी। डबल डोज वाले लोग वैक्सीन का विरोध करने वालों को जवाब देंगे। डबल इंजन की सरकार में अनाज का भी डबल डोज मिला है। पहले सब इनके इत्र वाले मित्र के यहां चला जाता था। बहन जी की सरकार होती तो हाथी का पेट तो कभी भरता ही नहीं है। समाजवादी नेता मिले, बोले आपके यहां विकास तो दिखाई देता है ये बुलडोजर का मतलब क्या है। मैंने कहा समझ जाओगे। भगवान कृष्ण ने क्या कहा था। एक में सस्त्र और दूसरा में शास्त्र। शास्त्र लोक कल्याण का मार्ग प्रशस्त करने के लिए, विकास का लिए और और ससत्र दुस्टों को उनके अंजाम तक पहुंचाने के लिए। विकास होगा कल्याण के लिए और बुलडोजर होगा माफिया की छाती पर चढ़ाने के लिए। उनकी अवैध कबाई ढहाने के लिए। सपा परेशान है। सपा को बुलडोजर से ज्यादा परेशानी हो गई है। समाजवादी नेता बताएं कि हमारे काम दिखाई दे रहे हैं। लेकिन आपने कोई विकास कराया, बोले, हमने कब्रिस्तान की बाउंड्रीबाल बनाई है। भाजपा की सरकार में सात सौ धाम, मंदिरों पर काम हुए हैं। अयोध्या को अत्याधुनिक नगरी के रूप में विकसित हो रही है। काशी को अत्याधुनिक बनाया जा रहा है। वृन्दावन, मथुरा, बरसाना, नंदगांव, गोर्वधन कैसे बच जाना है। येे विकास का काम चलना चाहिए न, बुलडोजर चलना चाहिए न ?



hindi news portal lucknow

कोविड-19 पाजिटिव हुए उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, राज्यसभा सचिवालय में 271 लोग हो चुके हैं संक्रमित

23 Jan 2022 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्‍ली। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (M Venkaiah Naidu) रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। नायडू दूसरी कोविड-19 से संक्रमित हुए हैं। उपराष्ट्रपति सचिवालय ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक संसद भवन परिसर में अब तक कुल 875 लोगों को कोविड-19 से संक्रमित पाया जा चुका है। यही नहीं राज्यसभा सचिवालय में भी अब तक 271 लोगों को कोविड-19 पाजिटिव पाया जा चुका है। उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडु आज कोविड टेस्ट रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए गए। वे आजकल हैदराबाद में हैं। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उन्होंने स्वयं को एक सप्ताह के लिए अलग आइसोलेट रखने का निर्णय किया है।

उपराष्ट्रपति सचिवालय ने ट्वीट कर कहा- उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू की कोविड जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई है। उपराष्ट्रपति आजकल हैदराबाद में हैं। कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए उन्होंने खुद को एक हफ्ते के लिए आइसोलेट रखने का फैसला किया है। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने अपील की है कि हाल के दिनों में जो लोग उनके संपर्क में आए हैं वे भी अपनी कोविड-19 जांच करा लें और खुद को अलग कर लें।कोरोना के खिलाफ दुनिया का सबसे टीकाकरण अभियान अपने अंतिम चरण में पहुंच चुका है।

इससे पहले उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने रविवार को सुभाष चंद्र बोस को उनकी 125वीं जयंती पर श्रद्धाजंलि दी। एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि नेताजी ने देश की मातृभूमि के लिए नि:स्वार्थ समर्पण का परिचय दिया। इसके साथ ही उन्‍होंने इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा स्थापित करने के केंद्र सरकार के फैसले की भी सराहना की।उपराष्ट्रपति सचिवालय ने नायडू के हवाले से ट्वीट किया- राष्ट्र स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका के लिए सुभाष चंद्र बोस का ऋणी है। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने हैदराबाद में सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि भी अर्पित की। नायडू ने कहा कि सुभाष चंद्र बोस मातृभूमि के लिए नि:स्वार्थ समर्पण का परिचय दिया। पूरा देश आज पराक्रम दिवस पर महान नेता को याद करता है और उन्हें सलामी देता है।



12345678910...