दिल्ली

hindi news portal lucknow

सचिन पायलट ने CM गहलोत को लिखा पत्र, याद दिलाया घोषणा पत्र का वादा

12 Sep 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

जयपुर। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य की सरकारी नौकरियों में अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) को पांच प्रतिशत आरक्षण देने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि चुनावी घोषणा के बावजूद यह आरक्षण अभी तक लागू नहीं किया गया है। पायलट ने अपने पत्र में लिखा है, ‘‘मेरे संज्ञान में लाया गया है कि राज्य सरकार द्वारा निकाली गई भर्तियों में एमबीसी समाज को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया जा रहा है।’’ पूर्व उपमुख्यमंत्री का यह पत्र शनिवार को मीडिया में जारी हुआ। उन्होंने लिखा है कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 और रीट भर्ती 2018 में भी पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया गया। पायलट ने कहा है कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आए प्रतिनिधिमंडलों ने उनसे मिलकर और प्रतिवेदनों के जरिए इस मुद्दे को उठाया है। इसके अलावा पायलट ने देवनारायण बोर्ड व देवनारायण योजना के तहत आने वाले विकास कार्यों के ठप होने का भी जिक्र किया है। उनके अनुसार लोग इन दोनों योजनाओं को उचित बजट आवंटन के साथ कार्यान्वित करने की मांग कर रहे हैं।



hindi news portal lucknow

सचिन पायलट ने CM गहलोत को लिखा पत्र, याद दिलाया घोषणा पत्र का वादा

12 Sep 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

जयपुर। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य की सरकारी नौकरियों में अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) को पांच प्रतिशत आरक्षण देने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि चुनावी घोषणा के बावजूद यह आरक्षण अभी तक लागू नहीं किया गया है। पायलट ने अपने पत्र में लिखा है, ‘‘मेरे संज्ञान में लाया गया है कि राज्य सरकार द्वारा निकाली गई भर्तियों में एमबीसी समाज को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया जा रहा है।’’ पूर्व उपमुख्यमंत्री का यह पत्र शनिवार को मीडिया में जारी हुआ। उन्होंने लिखा है कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 और रीट भर्ती 2018 में भी पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया गया। पायलट ने कहा है कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आए प्रतिनिधिमंडलों ने उनसे मिलकर और प्रतिवेदनों के जरिए इस मुद्दे को उठाया है। इसके अलावा पायलट ने देवनारायण बोर्ड व देवनारायण योजना के तहत आने वाले विकास कार्यों के ठप होने का भी जिक्र किया है। उनके अनुसार लोग इन दोनों योजनाओं को उचित बजट आवंटन के साथ कार्यान्वित करने की मांग कर रहे हैं।



hindi news portal lucknow

सचिन पायलट ने CM गहलोत को लिखा पत्र, याद दिलाया घोषणा पत्र का वादा

12 Sep 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

जयपुर। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य की सरकारी नौकरियों में अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) को पांच प्रतिशत आरक्षण देने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि चुनावी घोषणा के बावजूद यह आरक्षण अभी तक लागू नहीं किया गया है। पायलट ने अपने पत्र में लिखा है, ‘‘मेरे संज्ञान में लाया गया है कि राज्य सरकार द्वारा निकाली गई भर्तियों में एमबीसी समाज को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया जा रहा है।’’ पूर्व उपमुख्यमंत्री का यह पत्र शनिवार को मीडिया में जारी हुआ। उन्होंने लिखा है कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 और रीट भर्ती 2018 में भी पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया गया। पायलट ने कहा है कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आए प्रतिनिधिमंडलों ने उनसे मिलकर और प्रतिवेदनों के जरिए इस मुद्दे को उठाया है। इसके अलावा पायलट ने देवनारायण बोर्ड व देवनारायण योजना के तहत आने वाले विकास कार्यों के ठप होने का भी जिक्र किया है। उनके अनुसार लोग इन दोनों योजनाओं को उचित बजट आवंटन के साथ कार्यान्वित करने की मांग कर रहे हैं।



hindi news portal lucknow

दिल्ली में कोरोना के सर्वाधिक 4,321 नए मामले, 28 और लोगों की मौत

12 Sep 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। दिल्ली में शनिवार को एक दिन में सर्वाधिक 4,321 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया और 28 संक्रमितों की मौत हुई। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में कुल मामले 2.14 लाख पहुंच गए हैं जबकि मृतक संख्या 4,715 हो गई है।राष्ट्रीय राजधानी में लगातार चार दिनों से 4,000 से अधिक नए मरीज सामने आ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 60,000 से अधिक नमूनों की जांच की गई है। दिल्ली में फिलहाल 28,509 मरीजों का इलाज चल रहा है।



hindi news portal lucknow

जल्द शुरू होगा संसद का मानसून सत्र, दोनों सदनों में कोरोना वायरस के कारण होंगे ये बदलाव

16 Aug 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। कोविड-19 के मद्देनजर पहली बार कई तरह की कवायदों के साथ संसद के मानसून सत्र के लिए तैयारियां की जा रही हैं। संक्रमण से बचाव के लिए लोकसभा और राज्यसभा में बैठने की व्यवस्था में भी बदलाव किया जा रहा है। उचित दूरी का पालन करते हुए सदस्यों के बैठने के लिए दोनों चैंबरों और दीर्घाओं का इस्तेमाल होगा। अधिकारियों ने इस बारे में बताया। अगस्त के अंतिम सप्ताह या सितंबर के आरंभ में मानसून सत्र की शुरूआत होने की संभावना है। राज्यसभा सचिवालय के मुताबिक सत्र के दौरान ऊपरी सदन के सदस्यों को दोनों चैंबर और दीर्घाओं में बैठाया जाएगा। भारतीय संसद के इतिहास में पहली बार इस तरह की व्यवस्था होगी जहां 60 सदस्य चैंबर में बैठेंगे और 51 सदस्य राज्यसभा की दीर्घाओं में बैठेंगे। इसके अलावा बाकी 132 सदस्य लोकसभा के चैंबर में बैठेंगे।लोकसभा सचिवालय भी सदस्यों के बैठने के लिए इसी तरह की व्यवस्था कर रहा है। दीर्घाओं से भागीदारी के लिए पहली बार बड़े डिस्प्ले वाली स्क्रीन और कंसोल लगाए जाएंगे। दोनों सदनों के बीच विशेष तार बिछाए जाएंगे और कुर्सियों के बीच पॉलीकार्बोनेट शीट की व्यवस्था होगी। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू और लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला ने 17 जुलाई को बैठक कर सत्र चलाने के लिए विभिन्न विकल्पों पर विचार-विमर्श करने के बाद दोनों सदनों के चैंबरों और दीर्घाओं का इस्तेमाल करने का फैसला किया। नायडू ने अधिकारियों को अगस्त के तीसरे सप्ताह तक सत्र के लिए तैयारियां पूरी कर लेने का निर्देश दिया था, ताकि इस व्यवस्था का मुआयना हो जाए और इसे अंतिम रूप दिया जा सके। राज्यसभा सचिवालय भी इस काम के लिए पिछले दो सप्ताह से लगातार काम कर रहा है।सूत्रों ने बताया कि आम तौर पर दोनों सदनों में एक साथ बैठकें होती हैं लेकिन इस बार असाधारण परिस्थिति के कारण एक सदन सुबह के समय बैठेगा और दूसरे की कार्यवाही शाम में होगी। कोरोना वायरस महामारी के कारण संसद के बजट सत्र की अवधि में कटौती कर दी गयी थी और 23 मार्च को दोनों सदनों को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया था। परिपाटी के तहत अंतिम सत्र से छह महीने के अंत के पहले संसद का सत्र आहूत होता है। अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए सामाजिक दूरी के नियमों के पालन के साथ पहली बार सदन में बैठने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि विभिन्न दलों को संख्या के आधार पर राज्यसभा के चैंबर और दीर्घाओं में सीट आवंटित किए जाएंगे और बाकी सदस्यों को सत्तारूढ़ दलों और अन्य के लिए दो खंड में लोकसभा के चैंबर में बैठाया जाएगा। राज्यसभा चैंबर के भीतर प्रधानमंत्री, सदन के नेता, विपक्ष के नेता और अन्य दलों के नेताओं के लिए सीटें चिन्हित की जाएंगी। पूर्व प्रधानमंत्री-मनमोहन सिंह और एच डी देवेगौड़ा के साथ ही केंद्रीय मंत्रियों और राज्यसभा सदस्य- रामविलास पासवान और रामदास आठवले के लिए भी सदन के चैंबर में चिन्हित सीटें होंगी। अन्य मंत्रियों को सत्तारूढ़ सदस्यों के लिए तय सीटों पर बैठाया जाएगा।



hindi news portal lucknow

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान का 73 साल की उम्र में निधन, कोरोना का चल रहा था इलाज

16 Aug 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान का कोविड-19 संबंधित दिक्कतों के चलते रविवार को निधन हो गया। उनके भाई पुष्पेंद्र चौहान ने यह जानकारी दी। चौहान को करीब 36 घंटे से जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा हुआ था, वह 73 वर्ष के थे। भारत के लिये 40 टेस्ट खेलने वाले चौहान के परिवार में पत्नी और बेटा विनायक है। विनायक मेलबर्न से शाम तक यहां पहुंचेगा। पुष्पेंद्र ने पीटीआई से कहा, ‘‘मेरे बड़े भाई चेतन चौहान बीमारी से लड़ते हुए आज हमें छोड़कर चले गये। मैं उन सभी का शुक्रिया करना चाहूंगा जिन्होंने उनके ठीक होने के लिये प्रार्थना की। उनका बेटा विनायक किसी भी समय पहुंच जायेगा और फिर हम उनका अंतिम संस्कार करेंगे। ’चौहान को कोविड-19 पॉजिटिव पाये जाने के बाद 12 जुलाई को लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई में भर्ती कराया गया था। किडनी संबंधित बीमारियों के कारण उनका स्वास्थ्य बिगड़ गया जिससे उन्हें गुरूग्राम के मेंदाता अस्पताल में शिफ्ट किया गया। शुक्रवार रात को उनके कई महत्वपूर्ण अंगों ने काम करना बंद कर दिया और उन्हें वेंटीलेटर सपोर्ट पर रखा गया।



hindi news portal lucknow

देश में कोरोना संक्रमितों की तादाद 25 लाख के पार, अब तक 49,036 मरीजों ने तोड़ा दम

15 Aug 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। कोरोना वायरस संक्रमण के शनिवार को 65,002 नए मामले सामने आने के बाद देश में इस वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 25 लाख के पार हो गई। इसके अलावा पिछले 24 घंटे में 996 और लोगों की मौत हो जाने के कारण संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 49,036 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, अब तक सामने आए संक्रमण के मामलों में से करीब 18 लाख लोग स्वस्थ हो चुके है और लोगों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 71.61 प्रतिशत हो गई है। भारत में सात अगस्त से रोजाना 60,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। केवल 11 अगस्त को संक्रमण के 53,601 मामले सामने आए थे।

शनिवार सुबह आठ बजे जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की संख्या बढ़कर 25,26,192 हो गई है। इसके अलावा पिछले 24 घंटे में 996 और लोगों की मौत हो जाने के कारण मृतक संख्या बढ़कर 49,036 हो गई है। देश में संक्रमण से मृत्युदर गिरकर 1.94 प्रतिशत रह गई है। देश में इस समय 6,68,220 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है। यह संख्या कुल मामलों का 26.45 प्रतिशत है। इसके अलावा, 18,08,936 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या सात अगस्त को 20 लाख के पार हो गई थी। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के अनुसार 14 अगस्त तक कुल 2,85,63,095 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से शुक्रवार को एक दिन में सर्वाधिक 8,68,679 नमूनों की जांच की गई।



hindi news portal lucknow

एके एंटनी ने वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में कांग्रेस मुख्यालय में फहराया तिरंगा, सोनिया गांधी नहीं थीं उपस्थित

15 Aug 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में कांग्रेस मुख्यालय में शनिवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर तिरंगा फहराया गया। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की अनुपस्थिति में वरिष्ठ नेता एके एंटनी ने झंडा फहराया। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि हाल ही में अस्पताल से लौटीं सोनिया गांधी चिकित्सकों के परामर्श के अनुसार इस मौके पर उपस्थित नहीं हो सकीं। ध्वजारोहण करने के बाद पार्टी नेताओं ने राष्ट्रीय गीत, राष्ट्रगान और ‘विजयी विश्व तिरंगा प्यारा...’ का गान किया। इस अवसर पर राहुल गांधी और एंटनी के अलावा वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल, अधीर रंजन चौधरी, राजीव शुक्ला, आरपीएन सिंह तथा कई अन्य नेता मौजूद थे। ध्वजारोहण के बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से लाल किले की प्राचीर से ‘आत्मनिर्भर भारत’ पर जोर दिए जाने को लेकर सरकार पर तंज किया। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सबसे पहले देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की कोटि-कोटि बधाई। हर भारतवासी को सोचना है कि आज आजादी के मायने क्या हैं? क्या हमारी सरकार प्रजातंत्र में विश्वास रखती है, जनमत और बहुमत में विश्वास रखती है? इस देश में बोलने, सोचने, कपड़ा पहनने और आजीविका कमाने की आजादी है या कहीं न कहीं इन पर अंकुश लग गया है?’’ सुरजेवाला ने कहा, ‘‘आत्मनिर्भर भारत की बुनियाद पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल और दूसरे स्वतंत्रता सेनानियों ने रखी थी।



hindi news portal lucknow

लाल किले की प्राचीर से बोले PM मोदी, 130 करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति से कोरोना वायरस से जंग जीतेगा भारत

15 Aug 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विश्वास व्यक्त किया कि 130 करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति से भारत कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग जीतेगा। 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि देश एक विशिष्ट परिस्थिति से गुजर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना वायरस के इस असाधारण समय में, सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी और अनेक लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं।’’

ऐसे कोरोना योद्धाओं को नमन करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि 130 करोड़ देशवासियों की इच्छा शक्ति व संकल्प शक्ति हमें इसमें भी विजय दिलाएगी और हम विजयी होकर रहेंगे। मुझे विश्वास है।’’ प्रधानमंत्री ने कोरोना कालखंड के दौरान जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की। इस अवसर पर उन्होंने स्वतंत्रता के आंदोलन में कुर्बानी देने वाले सभी सेनानियों को भी याद किया और उन्हें नमन किया। इससे पहले लाल किले पहुंचने पर प्रधानमंत्री ने तिरंगा झंडा फहराया और देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी।



hindi news portal lucknow

PM मोदी ने लाल किले पर फहराया झंडा, वीर सपूतों के बलिदानों को किया याद

15 Aug 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया। तिरंगा फहराने के बाद प्रधानमंत्री ने राष्ट्र ध्वज को सलामी दी। बता दें कि मेजर श्वेता पांडे राष्ट्रीय ध्वज फहराने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सहायता की। लाल किले पर प्रधानमंत्री को गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

झंडा फहराने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन की शुरूआत की और स्वतंत्रता सेनानियों और सुरक्षा बलों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि आज जो हम स्वतंत्र भारत में सांस ले रहे हैं, उसके पीछे मां भारती के लाखों बेटे-बेटियों का त्याग, बलिदान और मां भारती को आजाद कराने के लिए समर्पण है। आज ऐसे सभी स्वतंत्रता सेनानियों को, वीर शहीदों को नमन करने का ये पर्व है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के समय में, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेकों लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं। ऐसे सभी कोरोना वॉरियर्स को भी मैं आज नमन करता हूं। प्रधानमंत्री को सलामी देने वाले गॉर्ड ऑफ ऑनर दस्ते में थल सेना, नौसेना, वायुसेना और दिल्ली पुलिस से एक-एक अधिकारी और 24 जवान शामिल रहे। लाल किले में झंडा फहराने से पहले प्रधानमंत्री राजघाट पहुंचे। वहां पर उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। लाल किले पर इस वर्ष 74वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है और कार्यक्रम में सामाजिक दूरी के नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिए सभी उपाय किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि सुरक्षा के लिए 300 से अधिक कैमरे लगाए गए हैं और उनकी फुटेज पर नजर रखी जा रही है। लालकिले में लगभग 4,000 सुरक्षाकर्मी तैनात हैं और वे सामाजिक दूरी के नियमों का पालन कर रहे हैं। रेलवे स्टेशनों और उनके आसपास की सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है।



12345678910...