छत्तीसगढ़

hindi news portal lucknow

छत्तीसगढ़ में बघेल मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, 9 मंत्रियों ने ली शपथ

25 Dec 2018 [ स.ऊ.संवाददाता ]

रायपुर। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आज नौ विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई। राजधानी रायपुर के पुलिस परेड मैदान में आज विधायक रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर, कवासी लखमा, जय सिंह अग्रवाल, शिव डहरिया, महिला विधायक अनिला भेड़िया, रुद्र गुरु, प्रेमसाय सिंह टेकाम और उमेश पटेल ने मंत्री पद की शपथ ली। सभी ने हिंदी में पद और गोपनीयता की शपथ ली। राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में जीत के बाद भूपेश बघेल ने इस महीने की 17 तारीख को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली थी।सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नए मंत्रियों को लेकर कयास लगाए जा रहे थे। हालांकि बघेल ने साफ किया था कि उनके मंत्रिमंडल में वरिष्ठ और अनुभवी विधायकों को जगह दी जाएगी। यही कारण है कि पहली बार चुने गए विधायकों को इसमें जगह नहीं दी गई है। छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 90 में से 68 सीटों पर, भारतीय जनता पार्टी ने 15 सीटों पर तथा पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन ने सात सीटों पर जीत हासिल की है। मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, उनके मंत्रिमंडल के सदस्य टीएस सिंहदेव, ताम्रध्वज साहू, कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे।



hindi news portal lucknow

छत्‍तीसगढ़ बोर्ड: धावेंद्र ने 12वीं में किया टॉप

27 Apr 2017 [ स.ऊ.संवाददाता ]

छत्तीसगढ़ बोर्ड CGBSE 12वीं का रिजल्ट आज घोषित हो गए हैं। राज्य में धावेंद्र कुमार ने टॉप किया है। धावेंद्र ने 98.60 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। वहीं इस परीक्षा में 76.36 प्रतिशत छात्र-छात्रएं पास हुए हैं।

इस बार भी छत्तीसगढ़ बोर्ड में छात्राओं ने बाजी मारी है। 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में 79 प्रतिशत लड़कियां उत्तीर्ण हुई हैं। वहीं 73.7 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। इस साल फर्स्ट डिविजन से 58533 छात्र-छात्राएं पास हुए हैं। वहीं सेकेंड डिविजन से 104154 और थर्ड डिविजन से 43576 छात्र-छात्राएं पास हुए हैं।

इन छात्रों ने छत्तीसगढ़ की 12वीं परीक्षा में किया टॉप

1. धावेंद्र कुमार बालोद

2. अल्तमस साबरी

2. हरीश कुमार बालोद

2. दीक्षा धुरंधर

3. गोपाल प्रसाद

4. रोशन कुमार

4. दीपका साहू

5. मुस्कान अग्रवाल

5. शुभम पटेल

6. लोकेश पटेल

7. लक्ष्मी यादव

7. जीत कुमार प्रजापति

7. रचना साहू

7. मुस्कान जैन्र

7. अजय कुमार

8. हेमंत साहू

8. विनोद बेहरा

9. हिमांशु कुमार साहू

10. क्षितिज अग्रवाल

10. राम नारायण

10. विष्णु कुमार

10. भारत

10. हेमलता पटेल

छात्रों को अपना रिजल्ट चेक करने के जरूरी है कि वह अपने साथ 12वीं का एडमिट कार्ड रखें। कभी कभी ज्यादा लोगों के एक साथ वेबसाइट पर रिजल्ट चेक करने पर सर्वर डाउन होने की दिक्कते देखने को मिलती हैं। इसके लिए आप रिजल्ट की वेबसाइट को नियमित रूप से चेक करते रहें।

अपना रिजल्ट देखने के लिए आप बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट साइट भी चेक कर सकते हैं। छात्रों को अपना नाम व रोल नंबर फिल करना होगा इसके बाद सब्मिट बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद कैंडीडेट के सामने उसकी मार्कशीट सामने आ जाएगी।

छात्रों को यह भी ध्यान रखना होगा कि वेबसाइट पर दिखे दिख रहे रिजल्ट को अंतिम रिजल्ट नहीं माना जाएगा। कॉलेज या स्कूल से मिलने वाला रिजल्ट ही अंतिम रिजल्‍ट माना जाएगा।



hindi news portal lucknow

अजीत जोगी ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ, नई पार्टी बनाएंगे

03 Jun 2016 [ स.ऊ.संवाददाता ]

चार विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार और संगठन में बदलाव की चर्चाओं के बीच छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कांग्रेस का 'हाथ' छोड़ दिया। उन्होंने अपनी नई पार्टी का बनाने का ऐलान किया है। कांग्रेस नेताओं का मानना है कि जोगी के जाने से पार्टी को फायदा होगा। पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह के मुताबिक, जोगी ने छत्तसीसगढ़ में कांग्रेस को बेच दिया था।

नारजगी की वजह

जोगी छत्तीसगढ़ से राज्यसभा उम्मीदवार बनना चाहते थे, पर पार्टी ने उनकी जगह छाया वर्मा को उम्मीदवार बनाया। इससे वह काफी नाराज थे। इसके अलावा एक सीडी मामले में भी अनुशासन समिति ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इस मामले में उनके बेटे अमित जोगी को कांग्रेस से निकाल दिया गया था।

कांग्रेस की दलील

पार्टी के ज्यादातर नेताओं का कहना है कि जोगी के जाने से पार्टी पर खास फर्क नही पड़ेगा। वर्ष 2013 और 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच वोट प्रतिशत में एक फीसदी से भी कम का फर्क है। पार्टी के एक नेता ने कहा कि पिछले चुनाव में जोगी ने कांग्रेस उम्मीदवारों को हराने की कोशिश की थी, ताकि रमन सिंह को फायदा मिले। एक उम्मीदवार के नाम वापस लेने की बातचीत की कथित सीडी भी आई थी।

भाजपा को फायदा

कई नेता जोगी के अलग पार्टी बनाने के ऐलान को कांग्रेस के लिए झटका मान रहे हैं। उनकी दलील है कि अजीत जोगी के अलग पार्टी बनाने से विपक्ष के वोट में बंटवारा होगा। इसका सीधा फायदा भाजपा को मिलेगा। असम विधानसभा चुनाव में पार्टी को हेमंत विश्वसर्मा के पार्टी छोड़ने का नुकसान हुआ है। ऐसे में पार्टी को इस तरह के जोखिम से बचना चाहिए, क्योंकि कांग्रेस के लिए अगले विधानसभा चुनाव काफी अहम हैं।

अजीत जोगी को कोई शिकायत थी तो वह पार्टी आलाकमान से बात कर सकते थे। उन्होंने ऐसा नहीं किया।

- बीके हरिप्रसाद, कांग्रेस महासचिव

मुझ पर अपने शुभचिंतकों एवं दोस्तों का काफी दबाव है कि छत्तीसगढ़ को रमन सिंह से छुटकारा दिलाना है तो मुझे यह बड़ा कदम उठाना होगा। कांग्रेस से कोई उम्मीद नहीं है जो कि रमन सिंह की बी टीम के रूप में काम कर रही है।

- अजीत जोगी, छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री



hindi news portal lucknow

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा में बारूदी सुरंग में विस्फोट, CRPF के 7 जवान शहीद

31 Mar 2016 [ स.ऊ.संवाददाता ]

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के वाहन को बारूदी सुरंग विस्फोट में उड़ा दिया है। इस घटना में सात जवान शहीद हो गए हैं।

राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के कुआकोंडा थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने सीआरपीएफ के वाहन को बारूदी सुरंग विस्फोट में उड़ा दिया है। इस घटना में सात जवान शहीद हो गये हैं।

अधिकारियों ने बताया कि सीआरपीएफ के 230 वीं बटालियन के जवान आज दंतेवाड़ा से सुकमा मार्ग में स्थित अपने कंपनी की शिविर में जा रहे थे। जवान वाहन में सवार थे। जब वाहन मेलावाड़ा गांव के करीब पहुंचा तब नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर दिया। इससे वाहन क्षतिग्रस्त हो गये और इसमें बैठे सात जवान शहीद हो गए।

उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद अतिरिक्त पुलिस दल को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है। हमले में घायल और शहीद जवानों को बाहर निकाला जा रहा है।

राज्य के गृह मंत्री अजय चंद्राकर ने आज यहां विधानसभा में बताया कि दंतेवाड़ा जिले में सात जवानों के शहीद होने की जानकारी है तथा जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।



hindi news portal lucknow

अमित जोगी 6 साल के लिए कांग्रेस से निष्कासित

06 Jan 2016 [ स.ऊ.संवाददाता ]

छत्तीसगढ़ के अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर जारी टेप मामले में कार्रवाई करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी के पुत्र तथा मरवाही विधायक अमित जोगी को छह वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है वहीं अजित जोगी को निष्कासित करने के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी को अनुशंसा की गई है।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने बताया कि अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव के टेप के सामने के बाद आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक में अमित जोगी को निष्कासित करने का फैसला किया गया। कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य अजित जोगी को निष्कासित करने की अनुशंसा का प्रस्ताव पारित किया गया।

बघेल ने बताया कि अजित जोगी कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य हैं। उन्हें छह वर्ष के लिए निष्कासित करने की अनुशंसा अखिल भारतीय कांग्रेस समिति से की गई है।

बघेल ने कहा कि आज प्रदेश कांग्रेस समिति की बैठक में अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव टेप मामले को लेकर निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। इस दौरान सदस्यों ने एक मत से अमित जोगी को निष्कासित करने तथा अजित जोगी के निष्कासन के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी से अनुशंसा करने की राय जाहिर की।

उन्होंने कहा कि अजित जोगी और अमित जोगी के कत्य से पार्टी को भारी क्षति पहुंची है और इससे लोकतंत्र को भी नुकसान हुआ है।

बघेल ने कहा कि अंतागढ़ उपचुनाव को लेकर आडियो टेप के सामने आने के बाद प्रथम दृष्टि में यह जानकारी मिली है कि इसमें मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता, अजित जोगी और अमित जोगी की आवाज है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि टेप मामले में कांग्रेस ने कार्रवाई कर कर दी है और अब भाजपा को कार्रवाई करना है। अब इस बात का इंतजार है कि इस मामले में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मुख्यमंत्री रमन सिंह पर क्या कार्रवाई करते हैं।

बघेल ने बताया कि इस मामले को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने जो फैसले किए हैं। इसकी जानकारी जल्द ही आलाकमान को दी जाएगी। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने यह कार्रवाई पार्टी के संविधान के तहत ही की है।

एक सवाल के जवाब में बघेल ने कहा कि किसी भी नेता के आने या जाने से पार्टी को कभी कोई नुकसान नहीं हुआ है। पार्टी नेता से उपर है। इस फैसले से पार्टी की छवि निखरेगी तथा पार्टी मजबूत होकर उभरेगी।

इधर अमित जोगी ने इस फैसले को लेकर कहा कि वह इस फैसले से आहत हैं। और यह नैसर्गिक न्याय के खिलाफ है। इस फैसले से प्राकतिक न्याय का उलंघन हुआ है। तथा यह फैसला पक्षपात पूर्ण है।

जोगी ने कहा कि पार्टी के संविधान में उन्हें इस संबंध में अपील करने का अधिकार है और वह इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे। उन्होंने कहा कि जिस अखबार में यह मामला सामने आया था वह भी इसकी पुष्टि नहीं करता है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी की बपौती नहीं है। उन्हें पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर पूरा भरोसा है कि उन्हें न्याय मिलेगा।

छत्तीसगढ़ में वर्ष 2014 में हुए अंतागढ़ उपचुनाव को लेकर एक अंग्रेजी अखबार ने एक आडियो टेप जारी किया था। जिसमें कथित तौर पर अजित जोगी, उनके पुत्र अमित जोगी, मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनित गुप्ता, जोगी के पूर्व सहयोगी फिरोज सिद्दीकी और एक अन्य सहयोगी अमीन मेमन और कांग्रेस उम्मीदवार जिसने बाद में नाम वापस ले लिया था मंतूराम पवार की आवाज है।

राज्य के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के अंतागढ़ उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने मंतूराम पवार को अपना उम्मीदवार बनाया था। लेकिन पवार ने बाद में नाम वापस ले लिया था। इससे इस सीट पर कांग्रेस का कोई उम्मीदवार चुनाव नहीं लड़ सका था। अखबार द्वारा जारी टेप में अंतागढ़ उपचुनाव के दौरान कथित तौर पर सौदेबाजी का जिक्र है।



hindi news portal lucknow

BJP की जीत की कांग्रेस ने की थी डील! अमित जोगी को नोटिस

30 Dec 2015 [ स.ऊ.संवाददाता ]

छत्तीसगढ़ में पिछले वर्ष हुए उपचुनाव के दौरान कांग्रेस के एक उम्मीदवार को चुनाव लड़ने से हटने के बदले धन की पेशकश करने वाला टेप सामने आने के बाद कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह को बर्खास्त करने और उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से घटना की जांच कराने की मांग की है।

उस वक्त के मुख्य नेताओं के बीच वार्तालाप टेप पर रिकॉर्ड हो गया जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी और उनके बेटे अमित जोगी की भूमिका के भी संकेत सामने आए हैं।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने अमित को कारण बताओ नोटिस जारी किया और अजित जोगी के खिलाफ कार्रवाई के लिए राज्य इकाई की रिपोर्ट का पार्टी इंतजार कर रही है क्योंकि वह कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य हैं।

कांग्रेस महासचिव बीके हरिप्रसाद ने कहा कि कांग्रेस उम्मीदवार के पिछले वर्ष सितम्बर में अंटागढ़ उपचुनाव से हटने का कारण कथित तौर पर धन का लालच था और इस सिलसिले में चुनाव आयोग से शिकायत की गई थी। उन्होंने कहा कि टेप से स्पष्ट पता चलता है कि पार्टी के आरोप सही थे।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि तब कांग्रेस ने आरोप लगाए थे कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कांग्रेस उम्मीदवार को नामांकन वापस लेने के लिए धन की पेशकश की थी।

अंटागढ़ विधानसभा उपचुनाव से उम्मीदवारी वापस लेने के तुरंत बाद कांग्रेस ने पवार को पार्टी से बाहर निकाल दिया था। उन्होंने कहा कि टेप प्रथमदृष्टया आरोपों को साबित करते हैं। भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करने के अपने लंबे चौड़े वादों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को तुरंत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को बर्खास्त करना चाहिए या इस्तीफा देने के लिए बाध्य करना चाहिए। मामले की जांच उच्चतम न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश से कराई जानी चाहिए।

सुरजेवाला ने कहा कि चूंकि कांग्रेस नेताओं के नाम भी टेप में सामने आए हैं इसलिए उनके व्यवहार की भी जांच होनी चाहिए। सुरजेवाला ने कहा कि अजित जोगी या अन्य कांग्रेसी नेताओं के व्यवहार सहित सभी की भूमिका की जांच की जाए। चूंकि मुख्यमंत्री राज्य में सर्वोच्च संवैधानिक पद पर काबिज होता है इसलिए उनसे भी कहा जाना चाहिए कि निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस यह भी आश्वस्त करती है कि जांच के बाद वह अपने नेताओं के खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई करेगी। कांग्रेस की समिति जांच के निष्कर्ष के आधार पर कार्रवाई करेगी। हरिप्रसाद ने कहा कि पीसीसी ने अमित जोगी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है और उनसे कहा है कि सात दिनों के अंदर जवाब दें।

उन्होंने कहा कि जहां तक अजित जोगी की बात है तो वह कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य हैं और केवल कांग्रेस अध्यक्ष ही उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि मामले में राज्य इकाई की रिपोर्ट देखने के बाद एके एंटनी की अध्यक्षता वाली कांग्रेस अनुशासन समिति अजित जोगी के खिलाफ कार्रवाई पर निर्णय करेगी।

यह पूछने पर कि मुख्यमंत्री का इस्तीफा मांगने से पहले पार्टी जोगी और उनके बेटे का इस्तीफा क्यों नहीं मांग रही है तो कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने कहा कि रमन सिंह मुख्यमंत्री के तौर पर राज्य में शासन कर रहे हैं।

टेप में फोन पर कई वार्तालाप उजागर हुए हैं जो कथित तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी, उनके बेटे अमित जोगी और मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता, कांग्रेस उम्मीदवार मंटूराम पवार (नामांकन वापस लेने वाले) और कुछ अन्य के बीच है। पवार ने नामांकन वापस लेकर भाजपा को विधानसभा उपचुनावों में खुली छूट दे दी।

कांग्रेस ने पवार पर पार्टी से धोखा करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि उनकी सहमति मिलने के बाद ही सीट के लिए उन्हें उम्मीदवार बनाया गया।

उत्तर बस्तर संभाग के कांकेर जिले में अंटागढ़ विधानसभा सीट राज्य के पूर्व मंत्री विक्रम उसेन्दी के इस्तीफा देने से खाली हुई थी। भाजपा विधायक उसेन्दी ने कांकेर संसदीय सीट से लोकसभा में जीत दर्ज करने के बाद यहां से इस्तीफा दिया जिसके बाद यह सीट दोनों दलों के लिए प्रतिष्ठा का विषय बन गयी थी। पवार अब भाजपा में हैं। टेप में उनके और जोगी के कुछ विश्वस्त लोगों के बीच बातचीत भी है।

यह पूछने पर कि टेप में पार्टी के कुछ नेताओं का नाम भी है तो क्या पार्टी की छवि को नुकसान हो रहा है तो हरिप्रसाद ने कहा कि हां, यह स्तब्धकारी है। मुख्यमंत्री को तुरंत बर्खास्त करने की पार्टी की वकालत को उचित ठहराते हुए सुरजेवाला ने कहा कि मुख्य आरोप भाजपा के मुख्यमंत्री के खिलाफ कांग्रेस उम्मीदवार को किसी के सहयोग से खरीदने का है। यह भी आरोप है कि इसमें कांग्रेस के कुछ नेता भी संलिप्त हैं।

उन्होंने कहा कि निष्पक्ष जांच के लिए पहले मुख्यमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। जांच में जोगी या अन्य कांग्रेसी नेताओं के व्यवहार की भी जांच होनी चाहिए। जांच के बाद जिन नेताओं का नाम आएगा कांग्रेस उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी।



hindi news portal lucknow

रायपुर के मिशनरी अस्पताल में नन के साथ गैंगरेप

21 Jun 2015 [ स.ऊ.संवाददाता ]

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पंडरी इलाके में स्थित एक मिशनरी अस्पताल की 45 वर्षीय नन के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। घटना शुक्रवार देर रात की है। इस घटनाक्रम को छुपाने की कोशिश भी पुलिस करती रही।

अफसरों का कहना था कि गैंगरेप की घटना नहीं हुई है, केवल चोरी करने अस्पताल में घुसे दो अज्ञात लोगों ने एक कमरे में सो रही नन के जाग जाने पर उसके हाथ-पैर बांध दिए और भाग गए। जबकि पीड़िता ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि चोरी की नीयत से अस्पताल में घुसे दो नकाबपोश लोगों ने उसके हाथ-पैर बांधकर दुष्कर्म किया, जिससे वह बेहोश हो गई। जिला अस्पताल में भर्ती पीडि़त नन ने होश आने पर पुलिस अफसरों को आपबीती की जानकारी दी।

एडिशनल एसपी सिटी नीरज चंद्राकर ने बताया कि मूलत: केरल की रहने वाली नन के साथ घटना हुई है। शनिवार सुबह सूचना मिलने पर जब पुलिस अस्पताल में पहुंची तो नन के हाथ-पैर बंधे और कपड़े फटे हुए थे। उसे बेहोशी की हालत में अंबेडकर अस्पताल ले जाया गया।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने घटना पर चिंता जाहिर की है। साथ ही पुलिस को मामले की तेजी से जांच कर दोषियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है। पुलिस ने संदेह के आधार पर दो लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।



hindi news portal lucknow

'जमीन आपकी, पैसा उद्योगपतियों को जाता है ये कैसा विकास'

16 Jun 2015 [ स.ऊ.संवाददाता ]

चम्पा (छत्तीसगढ़) : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने छत्तीसगढ़ दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। जांजगीर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस सरकार में गरीबों के बुरे दिन आ गए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि ये सरकार गरीब किसानों की जमीन हथिया रही हैं।

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि विकास के नाम आदिवासियों के जमीन छीनो, इनका विकास है। राहुल ने कहा कि हकीकत जानने के लिए मैंने सीधे गरीबों और आदिवासियों से मिला और उनसे पूछा कि उनके अच्छे दिन आए या बुरे दिन। उन्होंने कहा कि दिल्ली में मोदी जी कहते हैं कि अच्छे दिन आएंगे, वहीं बात रमन सिंह यहां दोहराते हैं। अपने भाषण में उन्होंने कहा कि मैं गरीब आदिवासियों से मिला और उनसे बात की कि आपकी जमीन, जंगल लिए गए हैं। क्या उन्हें किसी तरह का विकास दिखा ? राहुल ने कहा कि ऐसा विकास हमे नहीं चाहिए, ऐसा विकास हम नहीं होने देंगे।

इस दौरान उन्होंने सरकार की नीयति पर सवाल उठाते हुए कहा कि जमीन आपकी है, पैसा किसको जाता है उद्योगपतियों को। यह कैसा विकास है। हम नहीं होने देंगे ऐसा विकास।

सूट पर ली चुटकी

पीएम मोदी के सूट पर कटाक्ष करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी अपना 15 लाख का सूट उतारकर यहां आए तो उन्हें पता चलेगा कि मनरेगा से कितना फायदा हुआ। उन्होंने कहा कि मोदी जी अमेरिका, आस्ट्रेलिया जाते हैं लेकिन यहां नहीं आते। चुनाव खत्म हो गया वादे जो करने थे कर दिए, अब वो यहां नहीं दिखेंगे, पांच साल बाद आएंगे।

छत्तीसगढ़ दौरे के आखिरी दिन उन्होंने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि आपको रोजगार नहीं मिलता जबकि आपकी जमीन,जंगल और पानी ले लिया जाता है। उन्होंने कहा कि ये जंगल, जमीन आपका घर है किसी उद्योगपति का नहीं, इसका फायदा आपको मिलना चाहिए।

बुलेट ट्रेन पर निशाना

राहुल गांधी ने मोदी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन की योजना पर चुटकी लेते हुए कहा कि बुलेट ट्रेन सूट बूट वालों के लिए है।



hindi news portal lucknow

गर्भवती प्रेमिका को छोड़ दूसरी युवती से शादी, दूल्हे को घर से उठाया

15 Jun 2015 [ स.ऊ.संवाददाता ]

रायगढ़। लव अफेयर में गर्भवती हुई नाबालिग प्रेमिका को दूसरी युवती से शादी करना महंगा पड़ गया है। युवती की शिकायत पर शादी की रस्म अदायगी के बीच पहुंची पुलिस हल्दी लगे दूल्हे को उठाकर एसपी कार्यालय ले गई, जहां पीड़ित युवती और युवक से पूछताछ की गई। युवक के खिलाफ एसटीएससी एक्ट के तहत अजाक थाने में एफआईआर करने का आदेश दिया गया है।

चक्रधरनगर थाना क्षेत्र की 16 वर्षीय आदिवासी लड़की व जूट मिल चौकी क्षेत्र के हीरानगर मिट्टूमुड़ा निवासी 20 वर्षीय शिब्बू खान पिता जफヒद्दीन के बीच तीन साल से लव अफेयर था। इस दौरान युवक ने उसके साथ कई बार शारीरिक संबंध बनाया। इस बीच युवक की दूसरी जगह विवाह तय हो गई।

तभी लड़की को गर्भवती होने की जानकारी हुई और उसने प्रेमी युवक को इसकी जानकारी दी। इधर लड़की के गर्भवती होने की जानकारी उसके परिजन को हुई। जब लड़की ने युवक से शादी की बात की तो उसने इनकार कर दिया। प्रेमी द्वारा ठुकराए जाने के बाद व दूसरी युवती से शादी करने से क्षुब्ध लड़की ने मामले की शिकायत पुलिस से की।

जब पुलिस टीम युवक के घर पहुंची तो देखा कि शादी की रस्म अदा की जा रही है। परिवार में खुशी के माहौल के बीच दूल्हा बने युवक को हल्दी लगाई जा रही थी। पुलिस युवक को पकड़कर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में ले गई, जहां परिजन की उपस्थिति में दोनों से पूछताछ की गई। इस दौरान लड़की ने शारीरिक संबंध बनाने की बात कही। वहीं युवक ने भी तीन साल से प्रेम संबंध होने व शारीरिक संबंध की बात स्वीकारी।

दोनों पक्षों की बातचीत में कई और बातें सामने आई हैं। फिलहाल पुलिस ने युवक के खिलाफ अजाक थाने में अपराध दर्ज करने को कहा गया है। दो बार कराया गर्भपात मामले में शिकायतकर्ता लड़की ने पूछताछ में बताया कि उसका दो बार गर्भपात कराया गया। इसकी जानकारी प्रेमी युवक को भी है। पुलिस ने युवक से पूछताछ कर जो खुलासा किया वो चौंकाने वाला था।

युवक का आरोप है कि लड़की के पिता ने गर्भपात कराने व मामले को रफा-दफा करने युवक से 30 हजार में सौदा किया। युवक ने इस पर हामी भरते हुए 30 मई को 10 हजार रूपए दिए। वहीं लड़की का कहना है कि उसे पैसे के लेनदेन की कोई जानकारी नहीं है। पीड़िता ने पूछताछ में बताया कि युवक ने प्रेम के साथ उससे शारीरिक संबंध बनाए और जब शादी की बात आई तो पीछे हट गया, जिसके कारण वह युवक के खिलाफ कार्रवाई चाहती है।

इनका कहना है

लड़की की शिकायत के आधार पर युवक को लाया गया। अजाक थाने में उसके खिलाफ एसटीएससी एक्ट के तहत मामला दर्ज करने का आदेश दिया गया है। वहीं लड़की का मेडिकल कराया जाएगा। उसके बाद और धाराएं जोड़ी जाएंगी।

-मोनिका ठाकुर, डीएसपी, अजाक व क्राइम ब्रांच



hindi news portal lucknow

रमन राज में भूख से तड़प-तड़प कर 5 साल के बच्चे की मौत

24 May 2015 [ स.ऊ.संवाददाता ]

अंबिकापुर। सरगुजा जिले के मैनपाट विकासखंड मुख्यालय नर्मदापुर निवासी पांच वर्षीय बच्चे की भूख से हुई मौत ने सभी को दहला दिया है। मामले की जांच के लिए कांग्रेस ने जहां समिति बनाई है वहीं प्रशासन भी हरकत में आया है। शनिवार को लापता मृत बच्चे के बड़े भाई को सीतापुर से बरामद कर लिया गया।

कलेक्टर के निर्देश पर अधिकारियों ने मृत बच्चे के घर पहुंच बयान दर्ज किया। माझी जनजाति के इस अत्यंत गरीब परिवार का राशन कार्ड सत्यापन के दौरान 10 माह पूर्व प्रशासन ने निरस्त कर उन्हें दाने-दाने को मोहताज कर दिया। मामले में जिम्मेदारी लेने न तो जिले के अधिकारी तैयार हैं न क्षेत्र के जनप्रतिनिधि।

दाने-दाने को मोहताज परिवार का मुखिया अपने तीन मासूम बच्चों के साथ काम की तलाश में पैदल ही सीतापुर क्षेत्र में पहुंच गया था और वहां भी उम्मीद नहीं दिखने पर वे वापस लौट रहे थे। मृत बच्चे का सबसे बड़ा 9 वर्षीय भाई को शनिवार को सीतापुर पुलिस ने परिचित के घर से बरामद कर लिया है।

जानकारी के अनुसार विकासखंड मैनपाट के नर्मदापुर खालपारा निवासी संगतराम मांझी अपने तीनों पुत्र राजाराम 9 वर्ष, सरवन 6 वर्ष एवं शिवकुमार 5 वर्ष के साथ रोजी-रोटी की तलाश में मंगलवार को पैदल ही सीतापुर आया था। संगतराम के पत्नी की करीब तीन वर्ष पूर्व मौत हो चुकी है एवं बच्चों का पालन पोषण संगतराम माझी ही करता था। संगत राम माझी मजदूरी कर परिवार का पालन पोषण कर रहा था। उसके परिवार की मुसीबत राशन कार्ड सत्यापन के दौरान बढ़ गई जब उसके राशन कार्ड को निरस्त कर दिया गया। राशन कार्ड में तो राशन कार्ड सत्यापन के लिए पहुंचे करारोपण अधिकारी केके देवांगन के दल ने सत्यापन कर दिया,लेकिन खाद्य विभाग के नेट की सूची में राशन कार्ड को निरस्त बता काट दिया गया। इससे पूरा परिवार दाने-दाने को मोहताज हो गया। मजदूरी की खोज में संगतराम अपने तीन बच्चों के साथ पैदल ही सीतापुर अपने परिचित धनसू माझी के घर पहुंचा।

धनसू माझी सीतापुर में मजदूरी करता है। धनसू माझी ने संगतराम को बताया कि सीतापुर में फिलहाल कोई काम नहीं है तो वह अपने तीन बच्चों के साथ पीड़िया जाने के लिए निकला,लेकिन रास्ते में बच्चे भटक गए। संगतराम की मानसिक स्थिति पूरी तरह से ठीक नहीं होने के कारण वह बच्चों की निगरानी नहीं कर सका एवं बच्चे जंगल में भटक दो बच्चे सरवन एवं शिवकुमार कतकालो डूमरपारा पहुंच गए। ज्यादा रात होने की वजह से दोनों सुनसान इलाके में स्थित सेमर पेड़ के नीचे पड़े रहे। शुक्रवार की सुबह शिवकुमार की भूख से मौत हो गई वहीं उसके भाई सरवन की हालत गंभीर थी।

गांव की एक महिला ने उन्हें देखकर सूचना बहुद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता रीतेश गुप्ता को दी। ग्रामीणों ने मासूम सरवन को खाना खिलाया तथा उसकी देखभाल शुरू की। उसे बाद में अस्पताल में शिफ्ट किया गया। जीवित बचे सरवन के मुताबिक उसके छोटे भाई शिवकुमार ने उससे खाना-पानी मांगा था परंतु उसकी भी हालत खराब हो चुकी थी। इसी बीच शिवकुमार भूख से तड़पने लगा और उजाला होने से पहले उसकी सांसे थम गई।

बड़ा बेटा सीतापुर में मिला

वहीं मामले में हड़कंप मचने के बाद शनिवार को कलेक्टर के निर्देश पर मृत बच्चे के लापता बड़े भाई राजाराम 9 वर्ष की खोजबीन शुरू की गई एवं उसे सीतापुर में धनसू राम के घर से बरामद कर लिया गया। वहीं डिप्टी कलेक्टर एवं उज्जवल पोरवार सहित महिला बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी श्रीरवि, खाद्य निरीक्षक सतपाल सिंह सहित जनपद अध्यक्ष अटल यादव व अधिकारी मृत बच्चे के घर पहुंचे।

पूछताछ में पता चला कि संगतराम की पत्नी की मौत के बाद वह ही बच्चों का पालन पोषण कर रहा था। वह गांव में ही एक शिक्षक के घर मजदूरी करता था। अच्छी मजदूरी मिलने के उम्मीद में संगतराम बच्चों को लेकर मंगलवार को सीतापुर आया था एवं गुरूवार को वे वापस लौट रहे थे। रास्ते में संगतराम भी भटक गया था,जिसे उसके भाई ने खोज लिया एवं उसे लेकर घर पहुंच गया। बच्चों को वे नहीं खोज पाए।

जून 2014 के बाद नहीं मिला राशन

माझी जनजाति के संगतराम के नाम से नीला राशन कार्ड बना हुआ था,जिसमें परिवार को 9 जून 2014 को अंतिम बार राशन मिल सका था। सत्यापन के दौरान संगत राम माझी का राशन कार्ड निरस्त कर दिया गया। उसके राशन कार्ड में सत्यापित की मुहर लगाई गई,लेकिन इंटरनेट की सूची में कार्ड को निरस्त बता दिया गया। कार्ड का सत्यापन करारोपण अधिकारी केके देवांगन के दल ने किया था। नेट सूची में नाम हट जाने के कारण परिवार को राशन मिलना बंद हो गया।

संगतराम ने सरपंच व सचिव से गुहार लगाई,लेकिन राशन कार्ड में नाम नहीं जुड़ सका। मृत बच्चे के घर पहुंचने पर पता चला कि संगतराम की मानसिक स्थिति पूरी तरह से ठीक नहीं है। संगतराम व बड़ा पुत्र राजाराम मजदूरी कर रोज चावल खरीद कर लाते थे एवं खाना राजाराम बनाता था। मंगलवार को परिवार सीतापुर जाने के लिए निकला था। जनपद सीईओ उज्जवल पोरवाल को अन्य ग्रामीणों का भी राशन कार्ड निरस्त होने की सूचना मिली तो उन्होंने रविवार को गांव में कैंप लगाने के निर्देश दिए।

कोरवाओं के सहयोग से सीतापुर पहुुंचा राजाराम

सीतापुर से बरामद हुए राजाराम ने बताया कि उसके पिता संगतराम आगे निकल गए थे एवं वे गर्मी में कुछ अजीब हरकतें कर रहे थे। वह भी पिता से बिछुड़कर भटककर पीडिया के कोरवा बस्ती पहुंच गया था,जहां कोरवा परिवारों की मदद से वह वापस सीतापुर परिचित धन्सू राम के घर पहुंचा। वह भटके अपने दो भाईयों को नहीं खोज पाया। राजाराम ने बताया कि राशन मिलना बंद होने के बाद परिवार का मुश्किल से गुजारा होता था।

बुधवार की रात उन्होंने धन्सू के घर खाना खाया था एवं गुरूवार सुबह वे पीड़िया के लिए निकल गए थे। उसके दोनों भाईयों ने कुछ भी नहीं खाया था एवं भटकने के बाद राजाराम भी बेहाल था। कोरवा बस्ती पहुंच जाने पर उसे खाना व सहायता मिल गई।

कांग्रेस ने बनाई जांच समिति

बच्चे की भूख से मौत मामले में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने जांच समिति बनाई है। जांच समिति में विधायक अमरजीत भगत, पूर्व मंत्री डा.प्रेमसाय सिंह, कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजय अग्रवाल, प्रदेश सचिव शफी अहमद,प्रदेश उपाध्यक्ष बालकृष्ण पाठक शामिल हैं। वे एक-दो दिनों में मैनपाट पहुंच मामले की जांच करेंगे एवं रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को देंगे।

पांच बच्चे भेजे जाएंगे सन्मार्ग-कलेक्टर सरगुजा के निर्देश पर संगतराम के परिवार की स्थिति एवं उसकी मानसिक हालत को देखते हुए उसके बचे दोनों बच्चों एवं पड़ोस में एक परिवार के तीन बच्चों को सन्मार्ग भेजा जाएगा। पड़ोस के तीन बच्चों की मां की हत्या पिता ने कर दी थी एवं पिता जेल में है। उनके तीनों बच्चे भी सन्मार्ग भेजे जाएंगे।

सत्यापन समिति के रिपोर्ट के आधार पर राशन कार्ड निरस्त हुए हैं। राशन कार्ड निरस्त करने के बाद आ रही दावा आपत्ति का निराकरण अब तक किया जा रहा है। इस मामले में शायद दावा आपत्ति नहीं आई होगी। दावा आपत्ति आने पर राशन कार्ड फिर से इंटरनेट सूची में आ सकता है। सत्यापन समिति की रिपोर्ट पर ही नाम कटा है। जीएस राठौर, जिला खाद्य अधिकारी,सरगुजा

संपूर्ण जवाबदेही जिला प्रशासन की है,यदि किसी विभाग की गड़बड़ी से कोई परिवार राशन से वंचित होता है। कांग्रेस ने बच्चे की मौत की जांच के लिए समिति बनाई है। सोमवार को मामले की जांच कर तस्दीक की जाएगी कि बच्चे की मौत किन परिस्थितियों में हुई। पूर्व में भी गलत तरीके से राशन कार्ड निरस्त होने और लोगों को राशन नहीं मिल पाने की शिकायत आने पर अधिकारियों से चर्चा कर व्यवस्था सुधारने कहा गया,लेकिन इसमें गड़बड़ी दूर नहीं हो पाई। मैं भी अभी क्षेत्र में नहीं हूं। जांच के बाद ही बता पाएंगे कि इस मामले में हुआ क्या है?

अमरजीत भगत, विधायक सीतापुर

बच्चे की मौत परिस्थितिजन्य कारणों से हुई है। वे पिता से अलग होकर भटक गए थे एवं किसी मानव बस्ती तक नहीं पहुंच सके,इसके कारण उन्हें सहायता नहीं मिल पाई। गर्मी में बच्चों के साथ ऐसी स्थिति होने के कारण बच्चे की दुखद मौत हुई। प्रशासनिक अधिकारियों को मृत बच्चे के घर भेजा गया था,उनकी मां नहीं है,जिसके कारण बच्चों का लालन पालन सही तरीके से नहीं हो पा रहा है। उसके पिता की भी मानसिक स्थिति को देखते हुए उनके दो अन्य बच्चों को एवं गांव के ही तीन बच्चों को जिनकी मां नहीं है उनके बेहतर परवरिश की व्यवस्था प्रशासन करा रहा है। पहले प्रशासन के पास कोई जानकारी आती तो निश्चित उनकी व्यवस्था की जाती। राशन कार्ड निरस्तीकरण को लेकर अधिकारियों को सख्त निर्देश है कि तेजी से निरस्त राशन कार्डों में पात्रों की तस्दीक कराएं एवं पात्रों का राशन कार्ड तत्काल जोड़ा जाए।

श्रीमती ऋतु सैन, कलेक्टर,सरगुजा



123456