राष्ट्रीय

hindi news portal lucknow

लोकसभा चुनाव: 9 राज्यों की 71 सीटों के लिए वोटिंग संपन्न, 6 बजे तक 59.14% मतदान

29 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 9 राज्य के 943 उम्मीदवार 71 निर्वाचन क्षेत्र में आजमा रहे हैं अपनी किस्मत। जिनमें आपराधिक रिकॉर्ड वाले 210 उम्मीदवार शामिल हैं।संसदीय चुनाव के चौथे चरण में 9 राज्यों की 71 लोकसभा सीटों पर शाम 6 बजे तक 59.14 प्नतिशत मतदान हुआ। शाम 4 बजे तक 49.54 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। दोपहर के 2 बजे तक मतदान का प्रतिशत 38.63 रहा। दोपहर 12 बजे तक 23.48% लोगों ने अपने मतों का प्रयोग किया। वहीं सुबह दस बजे तक 10.36 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। चौथे चरण में आज यूपी की 13, बिहार की 5, पश्चिम बंगाल की 8, झारखंड की 3, मध्य प्रदेश की 6, महाराष्ट्र की 17, ओडिशा की 6, राजस्थान की 13 और जम्मू-कश्मीर की 1 सीट पर मतदान हो रहा है।

भाजपा को जिताए

चौथे चरण में दोपहर 6 बजे तक मतदान

बिहार- 53.67 फीसदी

जम्मू-कश्मीर- 9.79 फीसदी

मध्य प्रदेश- 65.86 फीसदी

महाराष्ट्र- 51.02 फीसदी

ओडिशा- 64.05 फीसदी

राजस्थान- 62.86 फीसदी

उत्तर प्रदेश- 53.12 फीसदी

पश्चिम बंगाल- 76.47 फीसदी

झारखंड- 63.42 फीसदी

चौथे चरण में दोपहर 4 बजे तक मतदान

बिहार- 44.23 फीसदी

जम्मू-कश्मीर- 8.42 फीसदी

मध्य प्रदेश- 55.30 फीसदी

महाराष्ट्र- 41.16 फीसदी

ओडिशा- 51.54 फीसदी

राजस्थान- 54.19 फीसदी

उत्तर प्रदेश- 44.16 फीसदी

पश्चिम बंगाल- 52.37 फीसदी

झारखंड- 44.90 फीसदी

चौथे चरण में दोपहर 2 बजे तक मतदान

बिहार- 37.71 फीसदी



hindi news portal lucknow

नरेंद्र मोदी ने बनारस में कार्यकर्ताओं को किया संबोधित कहा, देश में पहली बार सत्ता समर्थक लहर

26 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को यहां अपना नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि देश में पहली बार सत्ता समर्थक लहर देखी जा रही है। मोदी ने कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक आनंद का माहौल है। पार्टी कार्यकर्ता असली उम्मीदवार हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने सुशासन के लिए ईमानदारी से काम किया और लोगों ने अपना मन बना लिया है कि वे फिर से मोदी सरकार चाहते हैं। उन्होंने भीड़ से ‘‘मोदी मोदी’’ के नारों के बीच कहा, ‘‘यहां कल रोडशो के दौरान मुझे पार्टी कैडर की कड़ी मेहनत का आभास हो गया।’’प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा मुझे हर पोलिंग बूथ जीतना है। जैसे श्रीकृष्ण ने जैसे गोवर्धन उठाया था, आपके प्रयत्न से हमें 21वीं सदी में भारत माँ को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। हमें तय करना चाहिए कि अगर हमारे पोलिंग बूथ में 100 वोट पड़ते हैं तो 105 माताओं-बहनों के पड़ें। दूसरा जो इस बार पहली बार वोट दे रहा है, उनकी लिस्ट बनाइए, उन सबको बुलाइए। मोदी ने कहा कि मेरी एक इच्छा है जो मैं गुजरात में भी पूरा नहीं कर पाया। क्या बनारस वाले मेरी वो इच्छा पूरी कर सकते हैं क्या? मैं चाहता हूं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मतदान 5% ज्यादा होना चाहिए।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशम मीडिया पर विरोध करने वालो को लेकर कहा कि कल सोशल मीडिया पर लोगों ने मुझे बहुत डांटा कि रोड शो बंद कर दीजिए, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखिए। लेकिन मोदी का कोई ध्यान रखता है तो इस देश की करोड़ों माताएं। वे शक्ति बनकर मेरी सुरक्षाकवच बनती हैं। इस चुनाव में हमें कुछ रिकॉर्ड भी तोड़ने हैं। मैं चाहता हूं कि लोकतंत्र जीतना चाहिए। रिकॉर्ड ये तोड़ना है कि अब तक बनारस में, उत्तर प्रदेश में जितना पोलिंग हुआ है, उससे कहीं ज्यादा वोटिंग हो। दुनिया को दिखा देना है कि मतदान के सारे रिकॉर्ड हम तोड़ देंगे। पीएम ने कहा कि एक-एक वोट बहुत महत्वपूर्ण होता है बीजेपी के कार्यकर्ता के नाते बनारस वालों की कठिनाई बहुत है। क्योंकि और जगह तो सबका उम्मीदवार साथ चलकर प्रचार करता है लेकिन आप इतने काम नसीब हैं कि आपका उम्मीदवार तो पर्चा भरकर ही यहां से चला जायेगा। मेरा कहना है कि मोदी जीते न जीते, लोकतंत्र जीतना चाहिए।



hindi news portal lucknow

वोट डालने के बाद बोले पीएम मोदी- वोटर आईडी में आतंकवाद के IED से ज्यादा ताकत

23 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में अहमदाबाद में अपना वोट डालने के बाद कहा कि वोटर ‘‘आईडी’’ आतंकवादियों के ‘‘आईईडी’’ से अधिक शक्तिशाली है। मोदी ने लोगों से बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील भी की। मोदी ने गुजरात के अहमदाबाद शहर के रानिप इलाके में स्थित निशान हाई स्कूल में बने मतदान केन्द्र पर वोट डाला जो गांधीनगर संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है। मोदी वोट डालने के लिए एक खुली जीप में पहुंचे। गांधीनगर संसदीय सीट से चुनाव लड़ रहे अमित शाह ने स्कूल के बाहर उनका स्वागत किया और उन्हें मतदान केन्द्र तक ले गए। मोदी के मतदान केन्द्र पहुंचने के दौरान सड़क के दोनों ओर हजारों लोगों का जमावड़ा था। वोट डालने के बाद मोदी ने मतदान केन्द्र से कुछ दूर मीडिया से भी बातचीत की।मोदी ने कहा, ‘‘भारतीय लोकतंत्र ने दुनिया के सामने एक उदाहरण पेश किया है। जहां एक ओर आईईडी आतंकवादियों का हथियार है वहीं दूसरी ओर वोटर आईडी लोकतंत्र का हथियार एवं ताकत है।’’उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि मतदाता पहचान पत्र (आईडी) की शक्ति आतंकवादियों के आईईडी से कहीं अधिक है। हमें मतदाता पहचान पत्र की ताकत को समझना चाहिए और बड़ी संख्या में मतदान करना चाहिए।’’मोदी ने कहा कि वह लोकतंत्र के इस सबसे बड़े त्योहार में हिस्सा ले कर खुद को सौभाग्यशाली मानते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आज देश में तीसरे चरण का मतदान हो रहा है। मैं सौभाग्यशाली हूं कि मुझे अपने गृह राज्य गुजरात में वोट डाल कर अपने कर्तव्य को पूरा करने और लोकतंत्र के इस महापर्व में हिस्सा लेने का मौका मिला।’’ उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘ वोट डाल कर, मुझे उतना पवित्र महसूस हो रहा है, जितना किसी को कुम्भ मेले में स्नान करने के बाद होता होगा।’’ मोदी ने लोगों से पूरे उत्साह के साथ वोट डालने की अपील करते हुए कहा कि किस को वोट करना है या किसको नहीं, इस पर भारतीय मतदाताओं की बुद्धिमता देखने वाली बात होगी। उन्होंने 21वीं सदी में जन्मे लोगों में से, पहली बार वोट डालने वाले युवा मतदाताओं का भी स्वागत करने की अपील करते हुए उन्हें शुभकमानाएं दी।प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘यह पूरी सदी उन लोगों के नाम है जो पहली बार वोट कर रहे हैं। उन्हें इस सदी के बेहतर भविष्य के लिए वोट करना होगा। इसलिए मैं नए मतदाताओं ने विशेषतौर पर शत प्रतिशत मतदान करने की अपील करता हूं।’’ मोदी ने कहा, ‘‘मैं उन सभी लोकतंत्र प्रेमियों को आभारी हूं जिन्होंने लोकसभा चुनाव के पहले और दूसरे चरण में बड़ी संख्या में मतदान किया।’’वोट देने से पहले मोदी अपनी मां हीरा बा मोदी का आशिर्वाद लेने के लिए उनके घर पहुंचे थे। हीरा बा अपने छोटे बेटे पंकज मोदी के साथ गांधीनगर के पास रायसेन गांव में रहती हैं।



hindi news portal lucknow

हवा का रुख देख शरद पवार ने मैदान छोड़ दिया: नरेंद्र मोदी

17 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

मोदी ने कहा कि इतना बड़ा देश चलाना है तो मजबूत नेता होना जरूरी है। आपने 2014 में मुझे जो पूर्ण बहुमत दिया, उसने मुझे ऐसी ताकत दी जिससे में बड़े से बड़े फैसला ले पाया, और गरीबों के कल्याण के लिए भी में कई फैसले ले पाया।महाराष्ट्र के मढ़ा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी सभा को संबोधित किया। संबोधन की शुरूआत करते हुए PM ने NCP अध्यक्ष शरद पवार पर हमला करते हुए कहा कि जो लोग दिल्ली में एयर कंडीशन कमरों में बैठकर कयास लगाते हैं उन लोगों को धरती की सच्चाई पता ही नहीं है। अब समझ आया कि शरद पवार ने मैदान क्यों छोड़ दिया। शरद पवार भी खिलाड़ी हैं, वो हवा का रुख जान लेते हैं। वो अपना नुकसान कभी नहीं होने देते। उन्होंने कहा कि एक मजबूत और संवेदनशील सरकार का मतलब क्या होता है? छत्रपति शिवाजी महाराज की ये धरती बहुत अच्छी तरह जानती है। भारत को 21वीं सदी में नई ऊंचाई पर पहुंचाने में केंद्र में ऐसी ही मजबूत सरकार चाहिए।

मोदी ने कहा कि इतना बड़ा देश चलाना है तो मजबूत नेता होना जरूरी है। आपने 2014 में मुझे जो पूर्ण बहुमत दिया, उसने मुझे ऐसी ताकत दी जिससे में बड़े से बड़े फैसला ले पाया, और गरीबों के कल्याण के लिए भी में कई फैसले ले पाया। आज दुनिया के शक्तिशाली राष्ट्र भी भारत के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर चलने में गर्व अनुभव करते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि अरसे बाद मैं ऐसा चुनाव देख रहा हूं जिसमें देश की जनता सरकार को फिर से वापस लाने के लिए खुद प्रचार कर रही है, अपने खर्च से कर रही है और लोग घर-घर जाकर मोदी को वोट देने की अपील कर रहे हैं। कांग्रेस और उसके साथी कहते हैं कि समाज में जो भी मोदी हैं वो सब चोर हैं। पिछड़ा होने की वजह से कांग्रेस और उसके साथियों ने मेरी जातियां बताने वाली गालियां देने में कोई कमी नहीं रखी। इस बार तो उन्होंने हद पार करते हुए पूरे पिछड़े समाज को ही गाली दी है।



hindi news portal lucknow

चुनाव आयोग ने योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे और मायावती पर 48 घंटे का प्रतिबंध लगाया, नहीं कर पाएंगे प्रचार

15 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नई दिल्‍ली। Lok Sabha Election-2019 में आदर्श आचार संहिता का उल्‍लंघन करने वाली बायानबाजियों के खिलाफ चुनाव आयोग ने कड़ा रुख अपनाया है। चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे और बसपा सुप्रीमो मायावती पर 48 घंटे के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। इस तरह से यह दोनों बड़े नेता अपने दल के लिए प्रतिबंध के दौरान चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे।दूसरी ओर, इन्‍हीं बयानबाजियों को लेकर दाखिल एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई की। सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि आदर्श आचार संहिता का उल्‍लंघन करने वाले इन बयानों के मद्देनजर उसने अब तक क्‍या कार्रवाई की है। चुनाव आयोग के इस जवाब पर कि आचार संहिता के उल्‍लंघन को लेकर नेताओं और दलों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर उसकी शक्तियां सीमित सीमित हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह कार्रवाई करने की बाबत आयोग के अधिकारों का परीक्षण करेगा।दरअसल, पिछले दिनों देवबंद में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन की एक रैली में मायावती ने कहा था कि मुस्लिम मतदाताओं को भावनाओं में बहकर अपने मतों को बंटने नहीं देना है। वहीं उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री ने 'बजरंग बली और अली' का जिक्र कर मायावती पर निशाना साधा था। इन्‍हीं बयानबाजियों को आदर्श आचार संहिता का उल्‍लंघन बताते हुए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है।सर्वोच्‍च अदालत याचिका पर सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग से पूछा कि मायावती के धार्मिक आधार पर वोट मांगने वाले बयान पर आपकी ओर से क्‍या कार्रवाई की गई। चुनाव आयोग के वकील ने अदालत को बताया कि इस मामले में पहले ही बसपा सुप्रीमो से जवाब मांगा गया है। मायावती को 12 अप्रैल तक जवाब देना था लेकिन चुनाव आयोग को अभी उनका जवाब नहीं मिला है।मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई की अध्‍यक्षता वाली पीठ ने चुनाव आयोग से पूछा कि बताइये अब आप क्‍या करने वाले हैं। निर्वाचन आयोग की ओर से पेश हुए वकील ने कहा कि सांविधानिक निकाय ऐसे मामलों में नोटिस और उसके बाद एडवाइजरी जारी कर सकता है। इसके बाद भी यदि कोई नेता ऐसी बायानबाजी जारी रखता है तो उसके खिलाफ कानून के उल्‍लंघन को लेकर शिकायत दर्ज करा सकता है। उसके पास किसी नेता को अयोग्‍य ठहराने की शक्ति नहीं है।सुनवाई के दौरान चुनाव आयोग की ओर से पेश हुए वकील ने शीर्ष अदालत से कहा कि वह हेट स्‍पीच और सांप्रदायिक बयानबाजियों के खिलाफ कार्रवाई करने के मामले में 'शक्तिहीन' और 'दंतहीन' है। इसके बाद सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने कहा कि वह निर्वाचन आयोग की शक्तियों का परीक्षण करेगा क्‍योंकि चुनाव आयोग भी एक सांविधानिक निकाय है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वह मंगलवार को अदालत में मौजूद रहें। अब इस मामले मंगलवार को साढ़े 10 बजे सुनवाई होगी।



hindi news portal lucknow

कठुआ में बोले नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के मुकाबले भाजपा को तीन गुना ज्यादा सीटें मिलेंगी

14 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के कठुआ में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को नमन किया और कहा कि आज देश के संविधान निर्माता डॉक्टर अंबेडकर की जन्म जयंती है। इस अवसर में मैं बाबा साहब को कोटि-कोटि नमन करता हूं और उन्हें अपनी श्रद्धांजलि देता हूं। इसी के साथ मोदी ने सभी को बैसाखी की भी बधाइयाँ दी। रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने शहीदों को याद किया और कहा कि जम्मू कश्मीर में शहीद हुए हर भाजपा कार्यकर्ता, हर देशभक्त नागरिक और उनके परिवारों को मैं नमन करता हूं।मोदी ने आगे कहा कि राजनीति अपनी जगह होती है, चुनाव अपनी जगह हैं, नेता भी आते जाते रहते हैं, लेकिन हमारा ये देश हमेशा रहेगा। ये देश है तभी राष्ट्र रक्षा का भाव है, राष्ट्रवाद है। लेकिन देश में कुछ लोग मोदी के विरोध में इतने डूब गए हैं कि उनको राष्ट्रवाद गाली नज़र आने लगा है। महामिलावटी और उनके रागदरबारी आए दिन सवाल पूछते हैं कि मोदी राष्ट्र रक्षा की बात क्यों करता है। उन्होंने कहा कि जम्मू और बारामुला में भारी मतदान कर आपने आतंकियों के आकाओं, पाक परस्तों और निराशा में डूबे महामिलावटियों को कड़ा जवाब दिया है। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने सेना के पराक्रम को हमेशा कमतर करके आँका। मलाई खाने के इलावा कांग्रेस के लिए सेना का कोई महत्व नहीं। जलियांवाला बाग घटनाक्रम का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि कल उपराष्ट्रपति महोदय सरकार के अधिकृत कार्यक्रम में जलियांवाला बाग शहीदों को श्रद्धांजलि देने वहां गए थे। लेकिन उनके इस कार्यक्रम में कांग्रेस के मुख्यमंत्री गायब थे। उन्होंने इस कार्यक्रम का बहिष्कार इसीलिए किया क्योंकि वो कांग्रेस परिवार की भक्ति में जुटे हुए थे।

विपक्षियों को निशाने में लेते हुए मोदी ने कहा कि बीते कुछ दिनों में आपने भी देखा कि किस तरह कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी की महामिलावट पूरी तरह से एक्सपोज़ हो गई है। बरसों से जो इनके मन में था, जो वो चाहते थे, चोरी छिपे जिसके लिए काम कर रहे थे, वो अब खुलेआम सामने आ गया है। हालांकि इस रैली में प्रधानमंत्री ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी का भी जिक्र किया और कहा कि यही वो धरती है, यही वो जगह है जहां पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने तिरंगा फहराया था। देश विरोधी हर ताकत को उन्होंने ललकारा था कि एक देश में दो विधान, दो प्रधान, औऱ दो निशान नहीं चलेंगे। उन्होंने आगे कहा कि श्यामा प्रसाद जी का वो उद्घोष, भारतीय जनता पार्टी के लिए वचनपत्र है, पत्थर की वो लकीर है जिसे कोई मिटा नहीं सकता। ये भाजपा का हमेशा से कमिटमेंट रहा है और देश का ये चौकीदार भी इसी भावना पर अटल है और अटल रहेगा।

मैंने इस बार भाजपा के पक्ष में मजबूत लहर देखी है।

बारामूला और जम्मू में बड़ी संख्या में मतदान कर आप लोगों ने आतंकवाद के सरगनाओं, अवसरवादियों को मुंह तोड़ जवाब दिया है।

हम विस्थापित कश्मीरी पंडितों को कश्मीर में उनके पैतृक स्थानों पर बसाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इस दिशा में काम शुरू हो गया है।

दो परिवारों ने जम्मू-कश्मीर की तीन पीढ़ियों को बर्बाद कर दिया है और राज्य के बेहतर भविष्य के लिए उन्हें सत्ता से बाहर किए जाने की जरूरत है।

घाटी से कश्मीरी पंडितों के विस्थापन के पीछे कांग्रेस की नीतियां थीं।

कांग्रेस ने जलियांवाला बाग के 100 वर्ष पूरे होने के कार्यक्रम का राजनीतिकरण किया। कार्यक्रम के लिए उपराष्ट्रपति जलियांवाला बाग में मौजूद थे लेकिन कांग्रेस के मुख्यमंत्री वहां नहीं थे।

मोदी ने बालाकोट में आईएएफ के हवाई हमलों पर विपक्ष के सवाल खड़े करने पर कहा, कांग्रेस ने भारतीय बलों की वीरता पर कभी भरोसा नहीं किया।



hindi news portal lucknow

मिशन साउथ पर PM, कहा- सभी भ्रष्टाचारी मोदी को हटाने के लिए हुए एक

13 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

तमिलनाडू। लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण की समाप्ती के बाद तमाम राजनीतिक दल दूसरे चरण की 97 सीटों के प्रचार में लग गई है। इसी क्रम में भारतीय जनता पार्टी की ओर से पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाला हुआ है। पीएम नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के थेनी में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 साल पूरे होने के अवसर पर, आज का सबसे महत्वपूर्ण अवसर मानते हैं। पीएम ने घटना के शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि भी अर्पित की। चुनावी सभा में मोदी ने कहा कि 1984 सिख दंगों,भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों के साथ न्याय करेगा?मोदी ने कहा कि सभी भ्रष्ट मोदी को हटाने के लिए साथ आ गए हैं। कुछ दिनों पहले डीएमके सुप्रीमो ने ‘नामदार’ को पीएम उम्मीदवार के रूप में पेश किया था, जब कोई भी इसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं था, यहां तक ​​कि उनके ‘महामिलावटी’ दोस्त भी नहीं थे, क्यों? क्योंकि वे सभी पीएम बनने और पद का सपना देखने की कतार में हैं। स्टालिन के ‘प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल’ संबंधी प्रस्ताव का विपक्ष से किसी ने भी अनुमोदन नहीं किया क्योंकि सभी इस पद पर आसीन होने का सपना देख रहे।प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि महान एमजीआर जी की सरकारों को न्याय कौन देगा, जिन्हें कांग्रेस ने सिर्फ इसलिए बर्खास्त कर दिया क्योंकि एक परिवार उन नेताओं को पसंद नहीं करता था? भारत में सबसे खराब पर्यावरणीय आपदाओं में भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों के लिए न्याय कौन करेगा। वह भी कांग्रेस के अधीन हुआ। बता दें कि तमिलनाडु की सभी 39 सीटों पर 18 अप्रैल को चुनाव होगा व भाजपा यहां एआईएडीएमके के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है।



hindi news portal lucknow

अहमदनगर में PM ने भरी हुंकार, कहा- नामदार पर भारी है कामदार

12 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

अहमदनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के अहमदनगर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी को निशाने पर लिया। पीएम ने कहा कि ईमानदार चौकीदार और भ्रष्ट नामदार के बीच जनता को चयन करना है। मोदी ने संप्रग सरकार को रिमोट से चलने वाली सरकार बताते हुए कहा कि मेरी सरकार मजबूत और फैसले लेने में पूरी तरह से सक्षम है।प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दुनिया भारत को महाशक्ति मानती है, लेकिन पहले जब 10 साल तक एक सरकार थी तो देश में निराशा थी। देश को तय करना है कि अब ईमानदार चौकीदार चलेंगे या भ्रष्टाचारी नामदार, देश को हिंदुस्तान के हीरो और पाकिस्तान के पैरवीकारों में से चुनाव करना है। उन्होंने कहा कि चौकीदार ने आतंकियों में डर बैठा दिया है, क्या आप आतंकवादियों को उनके घर में घुसकर मारने की नीति से खुश है।



hindi news portal lucknow

विपक्ष डरा हुआ है, लोगों को डराने में जुटा है: नरेंद्र मोदी

11 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

भागलपुर (बिहार) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कांग्रेस-नीत विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘महामिलावटी गैंग’ को डर है कि सत्ता में मोदी की वापसी से भ्रष्टाचार और वंशवाद की ‘‘दुकानें’’ बंद हो जाएंगी। बिहार के भागलपुर जिले में आयोजित रैली में संबोधन की शुरुआत करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘आपने अपने इस प्रधानसेवक को बीते पांच साल जो सेवा का मौका दिया है, उसने नामुमकिन को भी मुमकिन बना दिया है।’’ उन्होंने गरीबों के लिए पक्का मकान, रसोई गैस कनेक्शन और स्वास्थ्य बीमा के लिए अयुष्मान योजना का भी जिक्र किया। विपक्ष की आलोचना करते हुए मोदी ने सवाल किया, ‘‘नेताओं को अपने आंगन तक चकाचक सड़के पहुंचाते आपने देखा है? बिहार के गांव-गांव तक सड़के पहुंचाने का बीड़ा आपके इस चौकीदार ने उठाया है।’’ विपक्ष पर डरे होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जब फिर आएगा तो... इनकी भ्रष्टाचार की दुकानें पूरी तरह बंद हो जाएंगी। वंशवादी राजनीति के दिन लद जाएंगे। रक्षा सौदों की इनकी दलाली बंद हो जाएगी। गरीबों के नाम पर इनकी ठगी बंद हो जाएगी। टुकड़े-टुकड़े गैंग ही टुकड़े-टुकड़े होकर बिखर जाएगा।’’

केन्द्र द्वारा विद्युतीकरण के क्षेत्र में किए गए कार्यों का जिक्र करते हुए उन्ऊोंने कहा, ‘‘70 साल तक आपने लाल बत्ती का रौब देखा, लेकिन गरीब के घर बत्ती जले इसकी चिंता पहले किसी ने नहीं की। एनडीए की सरकार ने बिहार में गरीब के घर बत्ती पहुंचाने का काम किया।’’उन्होंने कहा कि 23 मई के चुनाव नतीजे के बाद फिर एक बार मोदी सरकार बनेगी। देश के छोटे और सीमांत किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद नियमित पेंशन का हमारा संकल्प है। अब किसान को भी पेंशन मिलेगी। एक बार फिर राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए मोदी ने कहा कि सुरक्षा चाहे आपके हितों की हो, आपके सम्मान की हो या देश की सीमाओं की हो। ये सबसे जरूरी है। शांति की बात भी वही कर सकता है जिसकी भुजाओं में दम होता है।मोदी ने सवाल किया, ‘‘आपको पता है कि 2014 से पहले पाकिस्तान का रवैया क्या था? आतंकवादी भी पाकिस्तान भेजता था और फिर हमलों के बाद धमकियां भी वही देता था। कांग्रेस की अगुवाई वाली सरकार सिर्फ कागजी कार्रवाई में उलझकर रह जाती थी, क्या भारत को ऐसे ही रहना चाहिए?’’आतंकवाद और आतंकवादी गतिविधियों के वित्त पोषण के मामले में चल रही कार्रवाई का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हम जम्मू-कश्मीर में आतंक के ठिकानों का पता लगा लेंगे। पाकिस्तान से पैसा लेने वालों को जेल में डालेंगे। वहीं कांग्रेस और उसके साथी कह रहे हैं कि पाकिस्तान की भाषा बोलने वालों से आतंकवाद खत्म करने पर बात की जाएगी। दरअसल ये डरे हुए हैं और देश को डरा रहे हैं।’’



hindi news portal lucknow

लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान जारी, मतदाताओं में उत्साह

11 Apr 2019 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों और चार राज्यों की विधानसभा सीटों पर मतदान जारी है। 91 लोकसभा सीटों पर कुल 1279 उम्मीदवार मैदान में हैं। नागालैंड संसदीय क्षेत्र में सुबह 9 बजे तक 21% मतदान हुआ। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देहरादून के डिफेंस कॉलोनी में मतदान केंद्र संख्या 124 पर अपना वोट डाला। तेलंगाना राष्ट्र समिति के कविता ने निज़ामाबाद संसदीय क्षेत्र के पोथांगल में एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला। जम्मू और कश्मीर में भी पोलिंग बूथ पर मतदाताओम का उत्साह देखने को मिल रहा है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने हल्द्वानी के देवलचौर में मतदान किया। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और उनके परिवार ने अमरावती में वोट डाला।लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के तहत बिहार के चार लोकसभा क्षेत्र औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई तथा नवादा विधानसभा क्षेत्र में गुरुवार सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ। बिहार के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सुबह आठ बजे तक औरंगाबाद एवं गया लोकसभा क्षेत्र में 5.60 प्रतिशत एवं 11.00 प्रतिशत तथा नवादा एवं जमुई में तीन-तीन प्रतिशत मतदान हुआ है। बिहार में इन पांच सीटों पर शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान संपन्न कराने के लिए नक्सल प्रभावित सभी मतदान केंद्रों पर अर्द्ध सैनिक बल की तैनाती सुनिश्चत की गयी है। उल्लेखनीय है कि 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिए मंगलवार शाम चुनाव प्रचार थम गया था। पहले चरण में मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ। कुछ सीटों पर शाम चार बजे तक, कुछ पर पांच बजे तक और कुछ जगह शाम छह बजे तक मतदान होगा। निर्वाचन नियमों के अनुसार मतदान खत्म होने के समय से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार थम जाता है। ज्ञात हो कि 17वीं लोकसभा के गठन के लिये 543 सीटों के लिये सात चरण में 11 अप्रैल से 19 मई तक मतदान होना है। पहले चरण में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, उत्तराखंड, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम और तेलंगाना की सभी लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहा है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश की आठ लोकसभा सीटों (सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर,मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और नोएडा) और बिहार की चार सीटों (औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई), असम की पांच, महाराष्ट्र की सात, ओडिशा की चार और पश्चिम बंगाल की दो सीटों के लिए मतदान हो रहा है।



12345678910...